फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजननीतू कपूर ने बताया क्यों नहीं रहतीं बेटे रणबीर के साथ, बोलीं- रिद्धिमा साथ रही तो उलझन होती थी

नीतू कपूर ने बताया क्यों नहीं रहतीं बेटे रणबीर के साथ, बोलीं- रिद्धिमा साथ रही तो उलझन होती थी

नीतू कपूर अपने जीवनसाथी ऋषि कपूर को बीते साल खो चुकी हैं। उनके दो बच्चे हैं लेकिन वह अकेली रहती हैं। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कई सारे मुद्दों पर बात की और बताया कि वह अपने बच्चों से अलग क्यों...

नीतू कपूर ने बताया क्यों नहीं रहतीं बेटे रणबीर के साथ, बोलीं- रिद्धिमा साथ रही तो उलझन होती थी
Kajal Sharmaटीम लाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 May 2021 02:44 PM
ऐप पर पढ़ें

नीतू कपूर अपने जीवनसाथी ऋषि कपूर को बीते साल खो चुकी हैं। उनके दो बच्चे हैं लेकिन वह अकेली रहती हैं। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कई सारे मुद्दों पर बात की और बताया कि वह अपने बच्चों से अलग क्यों रहती हैं। उन्होंने बताया कि वह चाहती हैं कि उनके बच्चे अपनी जिंदगी में सेटल रहें। 

 

दिल में रहो, सिर पर मत चढ़ो

नीतू कपूर ने Filmfare को दिए गए एक इंटरव्यू के दौरान बताया, मैं चाहती हूं कि वे अपनी जिंदगी में व्यस्त रहें। मैं कहती हूं कि मेरे दिल में रहो, मेरे सिर पर मत चढ़ो। जब रिद्धिमा मेरे साथ पेंडेमिक के दौरान थी तो मैं बहुत परेशान थी क्योंकि 1 साल तक वह वापस नहीं जा पाई। मुझे उलझन होने लगती थी। मैं रिद्धिमा से कहती थी कि वापस जाओ, भरत अकेला है। मैं उसे दूर करती रहती थी। मुझे अपनी निजता पसंद है। मैं अपनी इसी जिंदगी की आदी हूं।

 

ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी में पहुंची थीं छोटी सी रवीना टंडन, फोटो शेयर कर लिखा- चिंटू अंकल ने मांगी थी


रिद्धिमा लंदन गईं तो रोती थीं नीतू

नीतू ने बताया कि जब रिद्धिमा पढ़ाई के लिए लंदन गई थीं तो वह रोया करती थीं। उन्होंने बताया, मुझे याद है जब रिद्धिमा पढ़ाई के लिए लंदन जा रही थी तो मैं रोया करती थी। अगर कोई उससे मिलकर गुडबाय भी कहने आता था तो मैं रोने लगती थी।  लेकिन कई साल बाद जब रणबीर गया तो मैं नहीं रोई। रणबीर ने मुझसे कहा भी कि मां,  आप मुझे प्यार नहीं करतीं। ऐसी बात नहीं है। बस मुझे बच्चों से दूर रहने की आदत हो गई थी। इसलिए जब रणबीर गया तो मुझे आदत पड़ गई थी। मुझे लगता है कि जब ये लोग विदेश गए तो मैं स्ट्रॉन्ग हो गई और मुझे लगने लगा कि मैं अकेले ही ठीक हूं।


रोज मत मिलो पर टच में रहो


नीतू बताती हैं, उनकी अपनी जिंदगी है। मुझे अच्छा लगता है जब वे आते हैं लेकिन मैं ये चाहती हूं कि वे अपने घर वापस चले जाएं। मैं उनसे कहती हूं कि मुझसे रोज मत मिलो लेकिन टच में रहो। मैं नहीं चाहती कि वे हर समय मेरे इर्द-गिर्द रहें। मैं बहुत इंडिपेंडेंट हूं। मुझे ऐसी ही जिंदगी पसंद है।

लेटेस्ट Entertainment News के साथ-साथ TV News, Web Series और Movie Review पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।
epaper