Naseeruddin Shah Openly disturbing feelings of hatred in society - समाज में खुलेआम नफरत की भावना परेशान करने वाली - नसीरूद्दीन शाह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समाज में खुलेआम नफरत की भावना परेशान करने वाली - नसीरूद्दीन शाह

naseeruddin shah

अभिनेता नसीरूद्दीन शाह ने शनिवार को कहा कि वह भीड़ हिंसा की घटनाओं को लेकर अपने बयान पर कायम हैं लेकिन वह समाज में ''खुलेआम हिंसा से बहुत व्यथित हैं। पिछले साल 69 वर्षीय अभिनेता ने भीड़ के हाथों हिंसा की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा था कि कई जगहों पर किसी पुलिसकर्मी की मौत के बजाय गाय की मौत को अधिक अहमियत दी जा रही है।

'इंडिया फिल्म प्रोजेक्ट में शाह के साथ बातचीत में अभिनेता आनंद तिवारी ने उनसे पूछा था कि क्या राजनीतिक एवं सामाजिक मुद्दों पर उनके विचारों का फिल्म बिरादरी में उनके संबंधों पर असर पड़ता है।

इस पर उन्होंने कहा, ''फिल्म उद्योग या फिल्म से जुड़े लोगों से किसी मामले में कभी भी उनके करीबी रिश्ते नहीं रहे हैं। मैं नहीं जानता कि इससे मेरे रुख पर कोई प्रभाव पड़ता है या नहीं, क्योंकि अब मुझे काम बहुत कम मिलता है। मैं बस यही महसूस करता हूं कि मैं अपने विचारों पर कायम रहता हूं।  

यह भी पढ़ें : आलोचना होने पर कोई भी सत्ता प्रतिष्ठान खुश नहीं होता : जावेद अख्तर

अभिनेता ने कहा, ''मैंने लोगों की बहुत गालियां सुनी हैं, जिनके पास कुछ बेहतर करने के लिये नहीं है। लेकिन यह मुझे बिल्कुल प्रभावित नहीं करती हैं। परेशान करने वाली जो बात है वह है समाज में खुलेआम नफरत की भावना।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुला पत्र लिखने वाले 49 सेलिब्रिटी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की हाल में निंदा करने वाले सांस्कृतिक समुदाय के उन 180 से अधिक सदस्यों में शाह भी शामिल थे। इन सदस्यों में शाह के साथ सिनेमैटोग्राफर आनंद पटवर्धन, इतिहासकार रोमिला थापर और सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर भी शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Naseeruddin Shah Openly disturbing feelings of hatred in society