DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   मनोरंजन  ›  'मौका-ए-वारदात' होस्ट करने पर बोलीं मोना सिंह- मस्तीखोर हूं, सीरियस फेस बनाना है मुश्किल
मनोरंजन

'मौका-ए-वारदात' होस्ट करने पर बोलीं मोना सिंह- मस्तीखोर हूं, सीरियस फेस बनाना है मुश्किल

टीम लाइव हिंदुस्तान,मुंबईPublished By: Kajal Sharma
Thu, 24 Jun 2021 08:23 AM
'मौका-ए-वारदात' होस्ट करने पर बोलीं मोना सिंह- मस्तीखोर हूं, सीरियस फेस बनाना है मुश्किल

जानी-मानी अभिनेत्री मोना सिंह ने पिछले कुछ सालों में टेलीविजन इंडटस्ट्री,  ओटीटी और फिल्मों में अपनी एक खास जगह बनाई है। मोना को अलग-अलग तरह के किरदार और भूमिकाओं के साथ प्रयोग करने के लिये जाना जाता है। अब वह एण्डटीवी के सीरियल 'मौका-ए-वारदात' में होस्ट के रूप में डेब्यू करने के लिये तैयार हैं। इससे पहले मोना ने कुछ टैंलेट-बेस्ड शोज और अवॉर्ड कार्यक्रम होस्ट किए हैं। 

होस्ट को रहना होता है अलर्ट

बतौर होस्ट इस शो का चुनाव करने पर मोना कहती हैं, 'मैंने हमेशा से ही चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं निभाना पसंद किया है। मैं कुछ ऐसा करना पसंद करती हूं जोकि पहले कभी ना किया हो। एक क्राइम आधारित सीरीज को होस्ट करने का यह मेरा पहला अनुभव है। क्राइम जॉनर ने हमेशा ही मुझे आकर्षित किया है और इसलिए मैंने एक में काम भी किया। किसी शो को होस्ट करना अपने आपमें एक अलग ही अनुभव होता है। एक होस्ट के तौर पर आपको अलर्ट रहने के साथ-साथ संवेदनशील होना चाहिए। 

आसान नहीं है शो होस्ट करना

एक्सप्रेशंस और बॉडी लैंग्वेज संतुलित हो। ज्यादा ड्रामैटिक ना हो या बहुत ही उदासीन ना लगे। वह सूत्रधार कहानी का आधार होता है और उसके कंधों पर दर्शकों को कथानक से बांधे रखने की जिम्मेदारी है, जोकि कहानी होती है। दर्शकों की दिलचस्पी और रोचकता को बनाए रखना, उस कहानी के शुरू से अंत तक जोड़े रखने का सबसे मुख्य पहलू है। यह आसान नहीं है और यह बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। 

गंभीर चेहरा बनाना होगा मुश्किल

मोना आगे बताती हैं, मेरी पर्सनैलिटी सीरियस नहीं है। मैं बहुत खुशमिजाज और मस्तीखोर इंसान हूं। इसलिए मेरे लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी, अपनी भावनाओं को काबू में रखना और एक गंभीर चेहरा बनाए रखना। जहां तक तैयारियां की बात है, मैं अपने प्रेजेंटेशन स्किल्स, मॉड्यूलेशन, एक्सप्रेशंस और बॉडी लैंग्वेज को बेहतर बनाने पर काम कर रही हूं। साथ ही मैं आमतौर पर इस्तेमाल होने वाले शब्दों और आईपीसी सेक्शन के बारे में भी जानने की कोशिश कर रही हूं। यह मेरे लिये नया अनुभव है। मैं नर्वस होने के साथ-साथ एक्साइटेड भी हूं।

दिखेंगी मिस्टीरियस कहानियां

एण्डटीवी का शो ‘मौका-ए-वारदात’ एक एंथोलॉजी सीरीज है, जिसमें रहस्यमयी आपराधिक मामलों को दर्शाया जा रहा है। ये मामले ऐसे हैं जो दर्शकों को झकझोर कर रख देंगे, किसी को यह सोचने पर मजबूर कर देंगे कि शब्दों के जाल में बुनी सच्चाई कल्पना से भी ज्यादा उलझी होती है। रियल लोकेशन पर बनी 'मौका-ए-वारदात' में अकल्पनीय, अविश्वसनीय अपराधों, उनके तरीकों को दर्शाया गया है। हर कहानी दमदार डेली वीकडे एपिसोड के रूप में बनी हुई है। जिसमें महिला नायिकाएं उन जघन्य अपराधों की गुत्थी सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती नजर आएंगी। 

संबंधित खबरें