DA Image
हिंदी न्यूज़ › मनोरंजन › कंगना रनौत के निशाने पर आईं आलिया भट्ट, कहा- राम राज्य की पुनर्स्थापना का समय आ गया है
मनोरंजन

कंगना रनौत के निशाने पर आईं आलिया भट्ट, कहा- राम राज्य की पुनर्स्थापना का समय आ गया है

हिन्दुस्तान,मुंबईPublished By: Avinash Singh
Thu, 23 Sep 2021 06:00 PM
कंगना रनौत के निशाने पर आईं आलिया भट्ट, कहा- राम राज्य की पुनर्स्थापना का समय आ गया है

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का नाम उन सितारों में शुमार है, जो अपनी बात एक दम बेबाकी से रखती हैं। कंगना रनौत अक्सर बॉलीवुड के अलावा भी अन्य मुद्दों पर अपनी राय रख चुकी हैं, इस बीच एक बार फिर उन्होंने कुछ सोशल मीडिया पोस्ट किए जो वायरल हो रहे हैं। इन पोस्ट्स में कंगना ने आलिया भट्ट (Alia Bhatt) का बिना नाम लिए पर तंज कसा है, हालांकि उन्हें टैग जरूर किया है।

कंगना का इंस्टा पोस्ट...
दरअसल हाल ही में मोहे का एक विज्ञापन सामने आया था, जिस में आलिया भट्ट दुल्हन के अवतार में नजर आ रही थीं और कन्यादान की परंपरा पर अपनी बात रख रही थीं। ऐसे में उनकी यही बात कंगना को खटकी और उन्होंने सोशल मीडिया पर दो लंबे चौड़े पोस्ट किए। 

राम राज्य की पुनर्स्थापना का समय आ गया है...
कंगना ने अपने पोस्ट में लिखा, "हम टीवी पर अक्सर देखते हैं कि जब सीमा पर कोई शहीद हो जाता है तो उसके पिता गरजते हुए कहते हैं कि कोई बात नहीं, मेरा एक बेटा और है। मैं धरती मां के लिए उसे भी दान करूंगा। कन्यादान हो या पुत्रदान, समाज त्याग की प्रवृत्ति की इस संकल्पना को जिस तरह देखता है, उससे उसके केंद्र में मान्यताओं का पता चलता है। जब वो दान के विचार को निम्नस्तरीय सोच रखना शुरू कर दें तो समझ जाइए कि राम राज्य की पुनर्स्थापना का समय आ गया है। एक राजा, जो सब कुछ त्यागकर तपस्वी का जीवन जीने लगा था। हिंदू और उनके रीति-रिवाज़ों का मज़ाक उड़ाना बंद कीजिए। धरती और महिला, दोनों को शास्त्रों में मां कहा गया है। उन्हें उपजाऊ मानकर उनकी पूजा की जाती है। उन्हें बेशकीमती और अस्तित्व का केंद्र मानने में कोई बुराई नहीं है। (शक्ति)'

विज्ञापनों से भ्रमित मत कीजिए
अपने नोट के साथ कंगना ने कैप्शन में लिखा, 'सभी ब्रैंड्स से विनम्र प्रार्थना है, मजहब, अल्पसंख्यक, बहुसंख्यक राजनीति का इस्तेमाल चीज़ें बेचने के लिए मत कीजिए। भोले-भाले ग्राहकों को इन बांटने वाले विचारों और विज्ञापनों से भ्रमित मत कीजिए।' वहीं कंगना ने अपनी पोस्ट में आलिया भट्ट और मोहे ब्रैंड को भी टैग किया है।
 
दान करना बुरी बात नहीं....
इसके अलावा कंगना ने एक दूसरे इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, 'जब जींस और विरासत की बात आती है तो हिंदूइज़्म बहुत संवेदनशील और वैज्ञानिक है। शादी के बाद औरत अपना गोत्र और वंश छोड़ देती है और एक नए वंश और जींस पूल में दाखिल होती है। इसके लिए उसे अपने पिता और पूर्वजों से अनुमति लेनी होती है, जिनका रक्त उसकी शिराओं में बहता है। पिता इसके बाद उसे सबकी ओर से गोत्र के बंधन से मुक्त कर देता है, लेकिन जागे हुए मंदबुद्धि इस जटिल विज्ञान को नहीं समझेंगे। बेहतर है, ऐसे विज्ञापनों पर बैन लगा दिया जाए और उनका मुंह बंद करवा दिया जाए। दान करना बुरी बात नहीं है। आपके जेहन में गंदगी है। धन की बात कई संदर्भों में की जाती है। मसलन, मैंने राम रतन धन पायो या पुत्रधन या सौंदर्य और रूप का धनी होना। कन्याधन या पराया धन का मतलब यह नहीं होता कि आप अपनी बेटी बेच रहे हो.... इस हिंदू विरोधी एजेंडा को बंद करो।'

क्या था आलिया का ऐड
मोहे' के विज्ञापन में आलिया भट्ट दुल्हन के अवतार में दिख रही हैं। वीडियो में आलिया कहती हैं, 'दादी बचपन से कहती है, जब तू अपने घर चली जाएगी तो तुझे बहुत याद करूंगी.. ये घर मेरा नहीं है। पापा की बिगड़ैल हूं, मुंह से बात निकली ही नहीं कि डन। सब कहते थे पराया धन है, इतना मत बिगाड़ो। लेकिन उन्होंने सुना नहीं लेकिन कभी ये भी नहीं कहा कि न मैं पराई हूं और न ही धन। मां चिड़िया बुलाती हैं मुझे, कहती हैं- तेरा दाना पानी कहीं और है, पर चिड़िया का तो पूरा आसमान होता है न। अलग हो जाना, पराया हो जाना, किसी और के हाथों सौंपा जाना, मैं कोई दान करने की चीज हूं, क्यों सिर्फ कन्यादान। नया आइडिया, कन्या मान।'

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Mohey (@moheyfashion)

संबंधित खबरें