Jayalalithaa: nephew unhappy with Queen Web Series: says if Amma: Personal Life: is been shared in web series then I will put case against the makers in the court - जयललिता के भतीजे वेब सीरीज 'क्वीन' को लेकर हैं नाखुश, कहा- अम्मा के निजी जीवन से जुड़ी किसी भी बात को उजागर किया तो मानहानी का केस करूंगा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयललिता के भतीजे वेब सीरीज 'क्वीन' को लेकर हैं नाखुश, कहा- अम्मा के निजी जीवन से जुड़ी किसी भी बात को उजागर किया तो मानहानी का केस करूंगा

निर्देशक गौतम मेनन तमिलनाडु की दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता पर एक वेब सीरीज लाने जा रहे हैं। लेकिन, जयललिता के भतीजे दीपक जयकुमार इस बात से खुश नहीं है। 

'क्वीन' नाम की इस वेब सीरीज पर दीपक जयकुमार को आपत्ति है। इस बाबत उन्होंने बयान जारी कर अपनी आपत्ति दर्ज कराई और दावा किया कि जयललिता पर वेब सीरीज बनाने से पहले गौतम ने परिजनों से अनुमति नहीं ली।

जयकुमार ने यह भी कहा कि जयललिता पर बनने वाली फिल्म 'थलाइवी' के निर्देशक ए.एल. विजय ने उनसे नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लिया है और वह फिल्म को आधिकारिक तौर पर जयललिता की बायोपिक मानते हैं। 

डेक्कन क्रॉनिकल को दिए एक साक्षात्कार में जयकुमार ने यह भी कहा, अम्मा (जयललिता) एक राजनीतिक व्यक्तित्व हैं और उनके सार्वजनिक जीवन की जानकारी सभी को है। मुझे कोई आपत्ति नहीं होती यदि उन्होंने (मेनन) उनके राजनीतिक जीवन को दिखाया होता। लेकिन, किसी को भी यह अधिकार नहीं है कि मेरे और मेरी बहन दीपा की सहमति लिए बिना वह उनके निजी जीवन को दिखाए।

बेटी न्यासा को किया अजय देवगन और काजोल ने डॉटर्स डे विश, लिखी इमोशनल पोस्ट

बोनी कपूर के टच करने पर 5 महीने बाद सामने आया उर्वशी रौतेला का बयान

उन्होंने कहा, यदि उन्होंने (मेनन ने) अम्मा के निजी जीवन से जुड़ी किसी भी बात को उजागर किया, तो मैं इसकी इजाजत नहीं दूंगा और 'क्वीन' हमारी सहमति के बिना जारी रही तो मैं उनपर मानहानी का केस करूंगा। मेरी अभी तक गौतम मेनन से बात नहीं हो पाई है पर मुझे उम्मीद है कि जल्द वह मुझसे बात करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jayalalithaa: nephew unhappy with Queen Web Series: says if Amma: Personal Life: is been shared in web series then I will put case against the makers in the court