फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजनमुझे माफी मांगनी चाहिए : आमिर खान 

मुझे माफी मांगनी चाहिए : आमिर खान 

अभिनेता आमिर खान में बड़े स्टार होने का अहंकार  नजर नहीं आता। वह अपने करियर की सफलताओं और असफलताओं, दोनों को बेहद विनम्रता के साथ स्वीकार करते हैं। पिछले साल उनकी फिल्म ‘ठग्स ऑफ...

मुझे माफी मांगनी चाहिए : आमिर खान 
Amitमोनिका रावल कुकरेजा,नई दिल्लीSat, 23 Nov 2019 11:57 AM

अभिनेता आमिर खान में बड़े स्टार होने का अहंकार  नजर नहीं आता। वह अपने करियर की सफलताओं और असफलताओं, दोनों को बेहद विनम्रता के साथ स्वीकार करते हैं। पिछले साल उनकी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई थी। वह दर्शकों से उनकी उम्मीदों पर खरा न उतर पाने के लिए माफी मांगना चाहते हैं। एक रोचक बातचीत में आमिर ने अपनी फिल्मों, सफलता और साल में एक से ज्यादा फिल्मों में काम न करने जैसे मुद्दों पर बात की। वह कहते हैं, ‘मेरी काम करने की गति काफी कम हो चुकी है। अब मैं औसतन दो साल में एक फिल्म कर रहा हूं। ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ पिछले साल दिवाली पर रिलीज हुई थी। ‘लाल सिंह चड्ढा’ अगले साल क्रिसमस पर रिलीज होगी। यानी दो साल से कुछ समय ज्यादा।’

जब आप दूसरे अभिनेताओं को साल में कई सारी फिल्मों में काम करते देखते हैं तो क्या आपके मन में कोई असुरक्षा की भावना आती है?  
कभी नहीं। जब मैं अपने सह-कलाकारों को शानदार फिल्मों में काम करते देखता हूं तो मुझे बहुत खुशी होती है। आयुष्मान खुराना इतना शानदार काम कर रहा है कि मैं बतौर दर्शक उसकी फिल्में देखना चाहता हूं। फिल्म इंडस्ट्री के सभी कलाकारों की अपनी-अपनी खासियत है। कोई भी किसी दूसरे की वजह से असुरक्षित महसूस नहीं करता।

जब फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ नहीं चली तो आपने बड़ा दिल दिखाते हुए उसकी असफलता की जिम्मेदारी ले ली।  एक दशक पहले आपके स्तर के किसी कलाकार से ऐसी उम्मीद सपने में भी नहीं की जा सकती थी। इस पर आप क्या कहेंगे?
दरअसल, यह बड़ा दिल रखने की बात नहीं है। मैं हमेशा से ही अपने काम को लेकर जिम्मेदार महसूस करता रहा हूं। पिछले तकरीबन 18-19 साल से मेरी ऐसी कोई भी फिल्म नहीं रही, जिसने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन न किया हो। शायद यही वजह है कि जब फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ नहीं चली, तो लोगों को बड़ा झटका लगा। लोगों को इससे बड़ी उम्मीदें थीं। इसकी असफलता पर मैं बहुत दुखी हुआ और यह समझने की कोशिश करता रहा कि आखिर चूक कहां हो गई। मुझे लगा कि मुझे दर्शकों से इस फिल्म के लिए माफी मांगनी चाहिए।
असफलता से आपने क्या सीखा?
सबसे ज्यादा असफल फिल्मों से ही सीखने को मिलता है। मैंने भी इससे बहुत सारे सबक सीखे हैं। हालांकि मैं अभी इस बात को लेकर पूरी तरह निश्चित नहीं हूं कि मुझे इनके बारे में सार्वजनिक रूप से बात करनी चाहिए या नहीं। मेरा ख्याल है कि इसके बारे में मुझे अपनी टीम के साथ चर्चा करनी चाहिए। 

epaper