DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   मनोरंजन  ›  हिन्दुस्तान शिखर समागम 2020: 'सीएए, एनआरसी, शाहीनबाग...' स्वरा, जीशान और तिग्मांशु ने क्या-क्या कहा

मनोरंजनहिन्दुस्तान शिखर समागम 2020: 'सीएए, एनआरसी, शाहीनबाग...' स्वरा, जीशान और तिग्मांशु ने क्या-क्या कहा

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Khushboo
Sat, 22 Feb 2020 04:42 PM
हिन्दुस्तान शिखर समागम 2020: 'सीएए, एनआरसी, शाहीनबाग...' स्वरा, जीशान और तिग्मांशु ने क्या-क्या कहा

हिन्दुस्तान शिखर समागम 2020 के मौके पर 'सीएए, एनआरसी, शाहीनबाग...' जैसे मुद्दों पर स्वरा, जीशान और तिग्मांशु ने आज चर्चा की। इस मंच पर अब तक केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ, राजद नेता मनोज झा, असदुद्दीन ओवैसी, सुधांशु त्रिवेदी, सपा मुखिया अखिलेश यादव, खिलाड़ी मुमताज, काजल और खुशबू ने अपनी बातें रखीं। और अब सातवें सत्र में मंच पर मौजूद हैं तिग्मांशु धूलिया, स्वरा भास्कर और जीशान अयूब। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित 'हिन्दुस्तान शिखर समागम' में आज सत्र दर सत्र विकास की बातें हो रही हैं। 

फिल्म निर्देशक तिग्मांशु धूलिया ने कहा कि पिछले ढाई सालों में मैंने सरकार के खिलाफ बोलना कम कर दिया है। ऐसा इसलिए क्योंकि मैंने सरकार के लिए कुछ बनाया था, लेकिन पैसे नहीं मिले। उन्होंने कहा कि देश में अभी विचारधारा की जरूरत नहीं है। ना तो लेफ्ट की और न ही राइट की।

एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने कहा कि राष्ट्रवादी होना कोई आरोप नहीं है, राष्ट्र के नाम पर हत्यारे को छोड़ देना आरोप है। उन्होंने कहा कि सरकार के काम, हरकतों पर भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा कि सीएए को एनपीआर और एनआरसी से अलग करके नहीं देख सकते। स्वरा ने कहा कि बिल का विरोध अब इसलिए हो रहा क्योंकि गृह मंत्री ने बार-बार समुदाय विशेष को लाने की बात की।

राइट विचाराधारा vs लेफ्ट विचारधारा क्यों? इस पर अभिनेता जीशान अय्यूब ने कहा कि विचाराधारा की बात पांच-दस साल की नहीं है। यह बहुत पहले से चला आ रहा है। हमारी सत्ताधारी सरकार राइट विंग वाली है और खुद सरकार भी मानती है कि हमारी विचारधारा यही है। उन्होंने कहा है कि सीएए दक्षिणपंथी विचारधारा से आया और उसी विचारधारा से आया है। इसके अलावा शाहीन बाग पर जीशान ने कहा कि विरोध करना सबका हक है। शाहीन बाग का रास्ता पुलिस ने बंद किया है, लोगों ने नहीं। लोग गलत के खिलाफ आवाज बलंद कर रहे हैं। शाहीन बाग के लोग खुद तय करेंगे, कब तक बैठेंगे। मैं शाहीन बाग का प्रतिनिधि नहीं हूं, आपको चेहरा क्यों चाहिए। हर कोई पार्टी से स्पॉन्सर नहीं, मैं नहीं, स्वरा नहीं। शरजील इमाम ने जो किया उसके लिए उसे गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है। 

LIVE: 'हिन्दुस्तान शिखर समागम' में बोलीं स्वरा भास्कर- हमारी जो भी विचारधारा हो, वी आल लव इंडिया

संबंधित खबरें