DA Image
23 फरवरी, 2020|7:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिल्मी पारी शुरू करने जा रहे वर्द्धन पुरी को अमरीश पुरी ने दी थी ये सीख, ट्रेलर लॉन्च पर किया खुलासा

बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता अमरीश पुरी के पोते वर्द्धन पुरी का कहना है कि सिनेमा के बारे में वह सब कुछ जानते हैं और अभिनय उन्हें उनके दादा से विरासत में मिला है। अभिनय के बारे में अपने दादा की सलाह को अपने लिए पत्थर की लकीर मानने वाले वर्द्धन कहते हैं कि अमरीश पुरी के साथ वह जो भी बातें करते थे, वह सब उन्हें हमेशा याद रहेंगी।

रोमांटिक थ्रिलर ‘यह साली आशिकी’ से अपनी फिल्मी पारी शुरू करने जा रहे वर्द्धन ने बताया, मेरे दादा हमेशा मुझे समझाते थे, अभिनय के बारे में बताते थे। वह रंगमंच से फिल्मों में आए थे और कहते थे कि अक्सर रंगमंच से फिल्मों में आने वाले कलाकार बाद में थिएटर को भूल जाते हैं। उनका व्यवहार भी बदल जाता है। लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए।

उन्होंने कहा, दादा कहते थे कि पेशेवर होना अलग बात है लेकिन स्टारडम को खुद पर हावी नहीं होने देना चाहिए। अपने अंदर रंगमंच के कलाकार को बचाए रखना चाहिए। अपनी जड़ों से जुड़े रहने पर असफलता के आसार कम ही रहते हैं। दादा ने जो कुछ भी मुझे बताया, सिखाया, वह सब मेरे लिए पत्थर की लकीर है।

स्टार बनते ही रानू मंडल के बदले तेवर, फैन के साथ की बदतमीजी तो ट्विटर पर हुईं ट्रोल

‘उतरन’ एक्ट्रेस टीना दत्ता को प्रोड्यूसर ने दिया धोखा, लगाया 30 लाख का चूना

वर्द्धन ने कहा, उनकी सभी फिल्में मैंने देखी हैं, जो मेरे अभिनेता बनने के लिए सबसे बड़ा प्रशिक्षण है। उन्होंने मुझे बताया कि तैयारी सबसे अहम होती है और इस पर मैं पूरा ध्यान दे रहा हूं। उन्होंने कहा, मेरा पूरा परिवार रंगमंच से जुड़ा है। हम सभी रंगमंच के कलाकार हैं। यही देखते हुए मैं बड़ा हुआ हूं। रंगमंच एक बेहद ईमानदार माध्यम है।

वर्द्धन के अनुसार, उन्हें दबाव महसूस नहीं हो रहा है लेकिन वह मानते हैं कि अपने परिवार की विरासत को सही तरीके से आगे ले जाना उनकी जिम्मेदारी है। उनकी फिल्म ‘यह साली आशिकी’, 22 नवंबर को रिलीज होगी। चिराग रूपारेल के निर्देशन में इस फिल्म का निर्माण जयंतीलाल गड़ा ने किया है। फिल्म से शिवालिका ओबेरॉय भी अपने अभिनय करियर की शुरुआत कर रही हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Filmy paari shuru karne ja rahe Amrish Puri: ke pote Vardhan Puri: ne kaha Dada ki salah mere liye patthar ki lakeer hai