DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘कांटे’ के निर्देशक ने संजय दत्त को लेकर कही ये बात, जानकर आप भी होंगे हैरान

sanjay gupta -sanjay dut

निर्देशक संजय गुप्ता ने कहा कि उनका 25 साल का करियर उतार चढ़ाव भरा रहा है लेकिन पीछे पलटकर देखने पर वह खुशी महसूस करते हैं कि तमाम मुश्किल हालात से वह उबर पाने में कामयाब रहे।

‘कांटे’, ‘मुसाफिर’, ‘जिंदा’ और ‘शूटआउट’ सीरीज तथा ‘काबिल’ जैसी फिल्मों से मशहूर हुए गुप्ता को तब कामयाबी मिली जब वह मुश्किल भरे दिनों के कारण इंडस्ट्री को अलविदा कहने वाले थे। उन्होंने तकरीबन 25 साल पहले ‘आतिश : फील द फायर’ से निर्देशकीय पारी की शुरुआत की थी। इस फिल्म में संजय दत्त, रवीना टंडन, आदित्य पंचोली जैसे कलाकार थे। 

लखनऊ: महमूदाबाद हाउस में अमिताभ बच्चन ने शुरू की 'गुलाबो सिताबो' की शूटिंग

गुप्ता ने पीटीआई को एक साक्षात्कार में कहा कि यह आसान फिल्म थी। मैंने अधिकतर दोस्तों के साथ काम किया था। संजू (Sanju) का शुक्रगुजार हूं, क्योंकि बिना स्टार के बड़ी फिल्में नहीं बनती, और वह तो शुरूआत थी। ‘कांटे’ फिल्म के बाद संजय दत्त के साथ उनके रिश्तों में दूरी आ गयी और इसका असर उनके करियर पर भी पड़ा । निर्देशक ने कहा कि दत्त ने कभी किसी को उनके साथ काम करने से मना नहीं किया लेकिन अभिनेता के इर्द गिर्द के लोगों ने दूसरे लोगों से कहा कि गुप्ता के साथ काम नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि बहुत कठिन वक्त था। मैंने हार मान ली थी। मैं खंडाला में एक होटल पर काम कर रहा था और सप्ताह में चार दिन वहां जाने लगा। इंडस्ट्री में काम नहीं मिलने के कारण मैंने इसे ही भविष्य मान लिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:film director sanjay gupta revealed no one gave him work in the film industry after fall out with sanjay dut