फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजनफाल्गुनी पाठक ने बताया, नेहा कक्कड़ ने कहां की गलती, बोलीं- मुझे बस उल्टी आनी बाकी थी

फाल्गुनी पाठक ने बताया, नेहा कक्कड़ ने कहां की गलती, बोलीं- मुझे बस उल्टी आनी बाकी थी

Falguni Pathak Reaction On O Sajna Song: फाल्गुनी पाठक और नेहा कक्कड़ के बीच इनडायरेक्ट तू-तू-मैं-मैं सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रही है। अब फाल्गुनी ने बताया है कि नेहा का गाना क्यों पसंद नहीं

फाल्गुनी पाठक ने बताया, नेहा कक्कड़ ने कहां की गलती, बोलीं- मुझे बस उल्टी आनी बाकी थी
Kajal Sharmaलाइव हिंदुस्तान,मुंबईMon, 26 Sep 2022 10:18 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

नेहा कक्कड़ के हाल ही में रिलीज हुए गाने, ओ सजना पर दर्शकों के साथ फाल्गुनी पाठक का रिऐक्शन चर्चा में है। 90 के दशक में आए फाल्गुनी पाठक के गाने मैंने पायल है छनकाई को तनिष्क बाग्ची ने दोबारा कंपोज किया है और नेहा कक्कड़ ने गाया है। वीडियो पर लोगों ने नेगेटिव रिऐक्शंस दिए जिसे फाल्गुनी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर किया था। फाल्गुनी को पछतावा है कि उस वक्त उन्होंने गाने के राइट्स नहीं लिए वर्ना लीगल ऐक्शन लेतीं। फाल्गुनी ने यह भी बताया कि नेहा ने गाने में क्या गलती की।

बोलीं- मैं और क्या कर सकती थी

फाल्गुनी पाठक नेहा कक्कड़ से नाराज हैं। वजह है फाल्गुनी के पुराने गाने का रीमेक। फाल्गुनी ने अपने सोशल मीडिया पर लोगों के नेगेटिव कमेंट्स शेयर किए थे। हमारे सहयोगी हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में नेहा ने इस पर कहा, मैं और क्या कर सकती थी? लीगल ऐक्शन तो ले नहीं सकती थी। कई लोग इस मुद्दे पर सोशल मीडिया पर लिख रहे थे क्योंकि उनको मेरा म्यूजिक पसंद है और उन्हें यह (नेहा कक्कड़ का) वर्जन पसंद नहीं आया। 

जब खुद पे गुजरती है तो पता चलता है

फाल्गुनी पाठक ने बताया कि अगर वह लीगल ऐक्शन ले सकतीं तो जरूर लेतीं। बोलीं, मुझे तब म्यूजिक के राइट्स लेने की अहमियत नहीं पता थी। जब खुद पे गुजरती है तो पता चलता है। मुझे उस वक्त इस बारे में पता नहीं था। वर्ना मैं इस बारे में जरूर कुछ करती। 

फाल्गुनी को खटकी ये बात

फाल्गुनी ने कहा कि वह रीक्रिएशन के खिलाफ नहीं हैं लेकिन उन्हें लगता है कि जो भी ऐसा कर रहा है उसे म्यूजिक के लिए पैशनेट होना चाहिए और गाना पूरे दिल से करना चाहिए, न कि सिर्फ इसकी सक्सेस के बारे में सोचना चाहिए। 

मासूमियत का सत्यानाश

दिल्ली टाइम्स से बातचीत में नेहा कक्कड़ ने कहा, गाने के रीमिक्स वर्जन के बारे में मुझे तीन-चार दिन पहले पता चला। पहला रिऐक्शन अच्छा नहीं था। मुझे बस उल्टी आनी बाकी थी, ऐसा हो गया था। फाल्गुनी बोलीं, वीडियो और पिक्चराइजेशन में जो मासूमियत थी उसका पूरा सत्यानाश कर दिया है इस गाने में। ये भी पढ़ें: साथ में डांस करती दिखीं नेहा कक्कड़ और फाल्गुनी पाठक, यूजर्स हैरान, बोले- ‘क्या दिखावा है यार’

बोलीं- कैसे चुप बैठूं

फाल्गुनी ने कहा, अगर आप यंग जनरेशन तक पहुंचना चाहते हैं तो गाने का रिदम बदल दीजिए लेकिन चीप मत बनाइए। गाने की ओरिजिनैलिटी मत बदलिए। मेरे फैन्स जब गाने के खिलाफ ऐक्शन ले रहे हैं तो मैं कैसे चुप बैठूं। मैं बस स्टोरीज शेयर कर रही हूं।

लेटेस्ट Entertainment News के साथ-साथ TV News, Web Series और Movie Review पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।
epaper