DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   मनोरंजन  ›  सान्या मल्होत्रा की 'पगलैट' देखकर सीमा पाहवा बोलीं-'मेरे साथ धोखा हुआ है', जानें पूरा मामला

मनोरंजनसान्या मल्होत्रा की 'पगलैट' देखकर सीमा पाहवा बोलीं-'मेरे साथ धोखा हुआ है', जानें पूरा मामला

हिन्दुस्तान,मुंबईPublished By: Avinash Singh
Sat, 03 Apr 2021 06:42 AM
सान्या मल्होत्रा की 'पगलैट' देखकर सीमा पाहवा बोलीं-'मेरे साथ धोखा हुआ है', जानें पूरा मामला

बॉलीवुड अभिनेत्री सान्या मल्होत्रा (Sanya Malhotra) इन दिनों अपनी फिल्म 'पगलैट' (Pagglait) को लेकर खूब चर्चा में बनी हुई हैं। पगलैट हाल ही में ओटीटीट पर रिलीज हुई है, जिसे दर्शकों से अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। हालांकि अभिनेत्री व निर्देशक सीमा पाहवा (Seema Pahwa) इस फिल्म को देखकर नाराज हैं और ठगा हुआ महसूस कर रही हैं।

क्या है पूरा मामला
दरअसल सीमा पाहवा का कहना है कि उनके निर्देशन में बनी फिल्‍म 'राम प्रसाद की तेरहवी' (Ramprasad Ki Tehrvi) और सान्या मल्होत्रा स्टारर फिल्म पगलैट की स्टोरी एक जैसी ही है। यहां तक की लोकेशन्स  भी नहीं बदली गई हैं। सीमा का कहना है कि वो ठगा हुआ महसूस कर रही हैं। सीमा का कहना है कि 'राम प्रसाद की तेरहवी' को अक्‍टूबर 2019 में मियामी फिल्‍म फेस्‍ट‍िवल में दिखाया था। जबकि इसके ठीक बाद नवंबर 2019 में 'पगलैट' की शूटिंग शुरू हुई। बता दें कि 'राम प्रसाद की तेरहवी'  1 जनवरी 2021 को थ‍िएटर्स में रिलीज हुई थी।

 

पगलैट देखकर दुखी हूं
द क्विंट से बात करते हुए सीमा पाहवा ने कहा, 'हां, मैंने सान्या की पगलैट देखी है। ईमानदारी से कहती हूं, मैं फिल्‍म देखकर बहुत दुखी हो गई। इसके बाद मैंने लॉजिक के साथ सोचना शुरू किया कि हो सकता है कि दो लोग एक ही समय पर एक जैसी चीज सोच रहे हों, यह बिल्कुल हो सकता है लेकिन मुझे बुरा लगा। खासकर इस वजह से भी कि इस फिल्‍म की शूटिंग तब शुरू हुई जब लोग पहले ही 'राम प्रसाद की तेरहवी' देख चुके थे। उन्‍हें यह स्टोरी पहले से पता थी। इसलिए मुझे बुरा लगा कि शायद उन लोगों को अपनी स्‍क्र‍िप्‍ट में बदलाव कर लेना चाहिए था। लेकिन उन्‍होंने इस बात को अनदेखा किया। मुझे नहीं पता कि इसके पीछे क्‍या कारण रहे होंगे।'

लोकेशन में भी नहीं किया गया बदलाव
सीमा ने आगे बात करते हुए कहा, ''हो सकता है कि उन लोगों को लगा हो कि फिल्‍म में कोई समानता नहीं है। लेकिन जब आप एक ही लोकेशन पर शूट करते हैं तो समानताएं और ज्‍यादा दिखने लगती हैं। उन लोगों ने उसी घर में फिल्‍म शूट की, जिसमें 'राम प्रसाद की तेरहवी' शूट हुई थी। यही नहीं, ऐसे कई संयोग हैं, जो दोनों फिल्‍मों में एक जैसे हैं।'

 

धोखा हुआ है मेरे साथ
सीमा ने आखिर में कहा, 'यह सच है कि जब ऐसा होता है तो आप ठगा हुआ महसूस करते हैं। ऐसा लगता है कि जैसे किसी ने आपको धोखा दिया है। मैं बस इतना जानती हूं कि मैंने एक फिल्‍म बनाई, वो भी पूरी ईमानदारी के साथ। दर्शकों और समीक्षकों ने फिल्‍म की प्रशंसा की। मेरी फिल्‍म 60 दिनों तक थ‍िएटर्स में चली और यही मेरा पुरस्‍कार है।'

संबंधित खबरें