फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजनफ्लैशबैक: एक्टर्स को 'कंजर दा पुत्तर' कहते थे दिलीप कुमार के पिता, जानें- बेटे के सिनेमा में आने पर क्या बोले

फ्लैशबैक: एक्टर्स को 'कंजर दा पुत्तर' कहते थे दिलीप कुमार के पिता, जानें- बेटे के सिनेमा में आने पर क्या बोले

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार ने पिछले दिनों राजकपूर और दिलीप कुमार के पैतृक आवासों को संग्रहालय में तब्दील करने का फैसला लिया है। दोनों ही सितारों का खैबर पख्तूनख्वा के बड़े शहर...

फ्लैशबैक: एक्टर्स को 'कंजर दा पुत्तर' कहते थे दिलीप कुमार के पिता, जानें- बेटे के सिनेमा में आने पर क्या बोले
Surya Prakashहिन्दुस्तान ,नई दिल्लीWed, 23 Dec 2020 05:56 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार ने पिछले दिनों राजकपूर और दिलीप कुमार के पैतृक आवासों को संग्रहालय में तब्दील करने का फैसला लिया है। दोनों ही सितारों का खैबर पख्तूनख्वा के बड़े शहर पेशावर से कनेक्शन रहा है। हालांकि यह बात बहुत कम लोग ही जानते हैं कि दिलीप कुमार और राजकपूर के परिवार का पाकिस्तान से ही करीबी नाता रहा है। मधु जैन की पुस्तक 'कपूर्स: द फर्स्ट फैमिली ऑफ इंडियन सिनेमा' के मुताबिक दिलीप कुमार के पिता सरवर खान राजकपूर के पिता पृथ्वीराज कपूर और दादा बशेसरनाथ के अच्छे मित्र थे। हालांकि दोनों के शौक में खासा अंतर था। एक तरफ पृथ्वीराज कपूर की सिनेमा में रुचि थी तो सरवर खान इसे गलत मानते थे। यहां तक कि एक्टिंग करने के चलते वह पृथ्वीराज का मजाक बनाते हुए उन्हें 'कंजर का पुत्तर' कहते थे। 

हालांकि दिलचस्प वाकया तब हुआ, जब दिलीप कुमार की मूवी 'ज्वार भाटा' रिलीज हुई। इस फिल्म में आने से पहले ही दिलीप कुमार ने अपने असली नाम युसूफ खान को छिपाते हुए यह नया नाम रखा था। इसकी तमाम वजहों में से एक यह भी थी कि पिता को उनके फिल्मों में काम करने के बारे में न पता चल जाए। दिलीप कुमार ने खुद ही एक बार बताया था कि उनके पिता एक्टिंग को मरने से भी बुरा मानते थे। लेकिन जब दिलीप कुमार की फिल्म ज्वार भाटा के एक पोस्टर को उन्होंने देखा तो वह बोले कि इसमें एक अभिनेता उनके बेटे जैसा लग रहा है। 

इस पर राजकपूर के दादा बशेसरनाथ ने उनसे कहा, 'यह युसूफ जैसा नहीं, युसूफ ही है। अब तू भी कंजर दा पुत्तर हो गया है।' इस बात को लेकर सरवर खान दिलीप कुमार पर काफी नाराज हुए थे, लेकिन अंत में उन्हें भी अपने बेटे की जिद के आगे झुकना पड़ा था। बता दें कि वह अकसर राजकपूर के दादा बशेसरनाथ से कहा करते थे कि तुम मूंछें नीची करो, तुम्हारे बच्चे फिल्मों में काम करते हैं और तुम मूंछें ऊपर करके चलने लायक नहीं रह गए हो। दिलचस्प बात यह है कि राजकपूर के पिता पृथ्वीराज कपूर ही नहीं बल्कि उनके दादा ने भी फिल्मों में एक्टिंग की थी। राजकपूर की मूवी 'आवारा' में उनके दादा बसेशरनाथ नजर आए थे।

98 साल के हुए दिलीप कुमार: दिलीप कुमार ने हाल ही में अपना 98वां जन्मदिन मनाया है। हालांकि इस बार उनके बर्थडे पर कोई बड़ा आयोजन नहीं हो सका। दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो ने सेलिब्रेशन न होने की जानकारी देते हुए कहा था कि यह साल हमारे लिए दुख भरा रहा है। दिलीप कुमार साहब के भाई का कोरोना के चलते निधन हो गया था। इसके अलावा अब भी देश में कोरोना का संकट टला नहीं है। इसलिए हमने इस बार उनका जन्मदिन सिर्फ कुछ पारिवारिक मित्रों के साथ ही मनाने का फैसला लिया है।

epaper