DA Image
हिंदी न्यूज़ › मनोरंजन › आर्यन खान की जमानत पर अब 14 अक्टूबर को होगी सुनवाई, जानें- आज कोर्ट में क्या-क्या हुआ
मनोरंजन

आर्यन खान की जमानत पर अब 14 अक्टूबर को होगी सुनवाई, जानें- आज कोर्ट में क्या-क्या हुआ

टीम, लाइव हिंदुस्तान,मुंबईPublished By: Kajal Sharma
Wed, 13 Oct 2021 03:12 PM
आर्यन खान की जमानत पर अब 14 अक्टूबर को होगी सुनवाई, जानें- आज कोर्ट में क्या-क्या हुआ

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत की अर्जी पर आगे की सुनवाई 14 अक्टूबर तक टाल दी गई है। उनको आज रात भी जेल में रहेंगे। आर्यन खान की बेल के अप्लिकेशन के विरोध में एनसीबी ने जवाब दिए थे। जिस पर आर्यन खान उनके वकील अमित देसाई ने अपनी दलीलें रखीं। वहीं एनसीबी की तरफ से एएसजी अनिल सिंह ने आर्यन के वकील का काउंटर किया। उन्होंने बताया कि आर्यन को बेल मिलने से जांच कैसे प्रभावित हो सकती है और जांच एजेंसी को आर्यन पर क्यों शक है।  इस दौरान शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी और बॉडीगार्ड रवि कोर्ट में मौजूद रहे। बता दें कि आर्यन खान को कॉर्डेलिया क्रूज पार्टी में रेड के दौरान 2 अक्टूबर को हिरासत में लिया गया था। एनसीबी ने आर्यन की और कस्टडी मांगी है वहीं आर्यन खान के वकील अमित देसाई ने कोर्ट में कहा कि उनके क्लाइंट के पास न कैश मिला, न ड्रग्स एनसीबी ने उन पर डरावने आरोप थोप दिए।


विदेशी नागरिक का लगा रहे पता

ASG अनिल सिंह ने एनसीबी की तरफ से कहा, यह एक जिम्मेदार एजेंसी है। पूरा देश ड्रग्स के यूज और इसके अडिक्शन को लेकर चिंतित है। युवा, कॉलेज स्टूडेंट्स ले रहे हैं। हमें पता लगाना होगा कि इसमें कौन लोग शामिल हैं। हमें बताया गया कि आर्यन खान को क्रूज पर बुलाया गया था लेकिन इन्विटेशन कहां है? आज तक 20 लोग अरेस्ट हो चुके हैं इनमें पेडलर्स हैं साथ ही मर्चेंट और खान की ड्रग पेडलर्स से बातचीत होती थी। मैंने वॉट्सऐप चैट दिखाए हैं जिसमें बल्क क्वॉन्टिटी का जिक्र है। जाहिर सी बात है कि कोई अपने लिए तो बल्क में नहीं मंगवाएगा। एनसीबी ने कोर्ट को बताया कि वॉट्सऐप चैट के जरिये आरोपी के संपर्क में रहने वाले एक विदेशी नागरिक का पता लगाने के लिए एक्सटर्नल अफेयर्स मिनिस्ट्री से संपर्क किया गया है। 

 

बच्चे हैं ड्रग पेडलर्स नहीं

सीनियर ऐडवोकेट अमित देसाई ने आर्यन की तरफ से कहा था, आर्यन के वकील अमित देसाई ने कहा, ये जवान बच्चे हैं। कई देशों में ये सब्सटेंस लीगल हैं। उनके लिए ये सिचुएशन और खराब नहीं बनानी चाहिए। उन लोगों ने काफी झेल लिया है, उनको सबक मिल गया। वे पेडलर्स, रैकेट चलाने वाले या ट्रैफिकर्स नहीं हैं।

 

'एनसीबी ने थोपे आरोप'

उन्होंने दलील में कहा, आर्यन का बयान सिर्फ एक बार लिया गया है और जिसका नाम उन्होंने लिया उसकी भी गिरफ्तारी हो चुकी है। मजिस्ट्रेट ने बेल सिर्फ इसलिए रिजेक्ट की थी क्योंकि उनके पास उस अर्जी की सुनवाई और फैसला देने का अधिकार नहीं था। क्योंकि उसमें एक सह-आरोपी पर ऐसे अपराध लगे थे जिनमें 3 साल से ज्यादा की सजा हो सकती है। एनसीबी के केस का मुख्य बिंदु ये हैं कि सभी आरोपी एक-दूसरे से इस साजिश से जुड़े हैं, आर्यन अरबाज से चरस खरीदते थे। एनसीबी ने इंटरनेशनल ड्रग चेन का आरोप भी लगाया है। एनसीबी के जवाब में साफ लिखा है, दूसरे आरोपियों से कनेक्शन। एनसीबी ने बहुत डरावना टर्म यूज किया है- 'अवैध खरीद-फरोख्त' और इसे आर्यन खान पर थोप दिया।

 

आर्यन का नहीं था पहले से प्लान

आर्यन के वकील अमित देसाई ने कहा, आर्यन के पास से कोई ड्रग्स नहीं मिलीं, न ही उनके पास कैश था। उनका ड्रग्स बेचने और कनज्यूम करने का भी कोई प्लान नहीं था। रविवार को उनको अरेस्ट किया गया, सिर्फ यही लोग अरेस्ट किए गए जबकि पंचनामा  में और लोग भी हैं। इन लोगों को ड्रग्स लेने, खरीदने और बेचने में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। वॉट्सऐप चैट्स और तस्वीरें मिलीं। इनका कहना था और लोगों की गिरफ्तारी करनी है। आर्यन को सोमवार तक रिमांड पर रखा गया। अगले दिन 5 और लोग अरेस्ट हो गए। अब इंटरनेशनल लिंक की वजह से इन्हें कस्टडी चाहिए थी। 7  अक्टूबर तक रिमांड दी गई। इसके बाद सिर्फ आचित की गिरफ्तारी हुई। लेकिन गिरफ्तारियां अब क्रूज से आगे चली गई हैं। 

 

आर्यन ने कुबूली ड्रग्स लेने की बात

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो सभी की जमानत का विरोध कर रहा है। एनसीबी ने आर्यन खान और बाकी लोगों की बेल एप्लिकेशन के जवाब संबंधित वकीलों को सौंप दिए हैं। एनसीबी का कहना है, कुछ आरोपियों के पास से काफी कम प्रतिबंधित दवाएं मिली हैं या कुछ के पास से कोई रिकवरी नहीं हुई है लेकिन इन लोगों की इस साजिश में क्या मिलीभगत है ये जांच का आधार है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक NCB ने कोर्ट में दावा किया है कि आर्यन खान ने पूछताछ के दौरान चरस लेने की बात कबूल की है। बताया जा रहा है कि ये चरस अरबाज मर्चेंट लेकर आए थे, 6 ग्राम चरस क्रूज शिप पर दोनों के लेने के लिए लाई गई थी। 
क्या है कनेक्शन

 

इंटरनेशन ड्रग रैकेट से कनेक्शन

ईटाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अब तक रिकॉर्ड में ऐसी सामग्री है, जिससे पता चलता है कि आर्यन खान विदेशों में कुछ ऐसे लोगों के संपर्क में थे, जो ड्रग्स की अवैध खरीद के लिए एक इंटरनेशनल ड्रग नेटवर्क का हिस्सा मालूम होते हैं। इस मामले में अभी जांच चल रही है। अभी तक की जांच में सामने आया है कि आरोपी नंबर-1 को ड्रग्स सप्लाई करने वाले आरोपी नंबर-17 को 2.6 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा आरोपी नंबर-2 को ड्रग्स सप्लाई करने वाले आरोपी नंबर-19 (शिवराज हरिजन) को 62 ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार किया गया है।


आर्यन खरीदते थे अरबाज से ड्रग्स

NCB का कहना है कि जांच के दौरान मिली सामग्री से खुलासा हुआ है कि ड्रग्स की खरीद और वितरण में आरोपी 1- आर्यन खान का रोल है। इसके अलावा प्रारंभिक जानकारी में ये पता चला है कि आरोपी नंबर-1, आरोपी नंबर-2 (अरबाज खान से) से कॉन्ट्राबैंड खरीदता था। आरोपी नंबर 1 और 2 एक-दूसरे के साथ जुड़े रहे हैं।

 

 

 

आर्थर जेल में हैं आर्यन


शुक्रवार को एनसीबी की कस्टडी खत्म होने के बाद मुंबई कोर्ट ने आर्यन की जमानत याचिका खारिज कर दी गई थी। इसके बाद उन्हें आर्थर रोड जेल भेज दिया गया था। आर्यन के वकील ने 11 अक्टूबर को सेशन कोर्ट में बेल की अर्जी दी थी लेकिन सुनवाई 13 अक्टूबर तक टाल दी गई। 

 

संबंधित खबरें