DA Image
31 जुलाई, 2020|6:48|IST

अगली स्टोरी

अध्ययन सुमन ने कहा- बॉलीवुड में गुटबंदी के कारण मुझे 14 फिल्मों से किया गया बाहर

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद नेपोटिज्म पर जमकर बहस हो रही है। लेकिन अध्ययन सुमन का मानना है कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्म नहीं बल्कि गुटबंदी बड़ी समस्या है। उन्होंने दावा किया कि उनसे लगभग 14 फिल्में छीन ली गईं। इसके साथ ही अध्ययन सुमन ने कहा कि यह चीजें शुरू से चली आ रही हैं लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

बॉलीवुड बबल के साथ इंटरव्यू में अध्ययन सुमन ने कहा, ''इंडस्ट्री में सालों से पावर डायनैमिक्स और गुटबंदी है। यह मेरे साथ भी हुआ है। मुझे 14 फिल्मों से निकाला गया। मेरी फिल्मों के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन को गलत तरीके से पेश किया गया। लोगों ने इस पर पहले ध्यान नहीं दिया। यह दुर्भाग्य की बात है कि इन सब चीजों के बारे में लोगों को अहसास कराने के लिए सुशांत सिंह राजपूत को सुसाइड जैसा कदम उठाना पड़ा।''

इरफान खान को याद कर इमोशनल हुईं सुतापा सिकदर, कहा- उनके बिना अधूरी रह गई मेरी यह ख्वाहिश

अध्ययन ने कहा कि बॉलीवुड में कैंप्स टैलेंटेड एक्टर्स को आगे बढ़ने नहीं देते हैं। उन्होंने कहा, ''लोग आंख बंद कर नेपोटिज्म के खिलाफ लड़ रहे हैं और बात कर रहे हैं। मैं कहना चाहूंगा कि नेपोटिज्म पर लड़ाई मत करिए बल्कि इंडस्ट्री में मौजूद गुटबंदी, कैम्स और उन प्रोडक्शन हाउस के खिलाफ लड़िए, जो प्रतिभासाली स्टार्स को अपनी जगह नहीं बनाने देते हैं।''

क्या फिल्म में गैंगस्टर विकास दुबे का रोल करेंगे मनोज बाजपेयी? एक्टर ने दिया यह जवाब

इससे पहले एक इंटरव्यू के दौरान अध्ययन सुमन ने कहा था कि स्टार किड होते हुए काम न मिलना काफी डिप्रेसिंग होता है। कहीं न कहीं केवल एक स्टार या एक्टर को ही ब्लेम नहीं करना चाहिए। ऑडियंस भी इसमें शामिल होती है। सच यह है कि ऑडियंस भी नेपोटिज्म फैलाने वाले लोगों का सपोर्ट करती है। तभी तो ये लोग बड़े बनते हैं और माफिया गैंग चलाने लगते हैं। 

अध्ययन ने कहा था, मैं खुद इस गैंग का कहीं न कहीं हिस्सा रहा हूं। हालांकि, मैं उस व्यक्ति का नाम नहीं लेना चाहता। हां, यह जरूर बताना चाहता हूं कि वह मेरे से मिला, अपना पर्सनल नंबर भी दिया। लेकिन मेरे फोन का उसने आज तक जवाब नहीं दिया। तो समझिए कि ऐसा नहीं होता कि आप आउटसाइडर हैं, इसलिए आपका फोन नहीं उठाया जाता। मेरे पास नौ साल तक काम नहीं था और इन सालों में किसी ने मेरा फोन नहीं उठाया। 2011 से 2015 तक मैं डिप्रेशन से जूझ रहा था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Adhyayan Suman says 14 films of his were shelved due to groupism in Bollywood box office figures projected wrongly