DA Image
24 फरवरी, 2020|12:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CAA: एक्ट्रेस नंदिता दास बोलीं- देश में पहली बार धर्म के आधार पर लोगों को बांटा जा रहा

एक्ट्रेस नंदिता दास ने गुरुवार को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और एनआरसी का विरोध करते हुए कहा कि दोनों को जोड़ना बेहद खतरनाक है। उन्होंने कहा कि यह बिखराव वाला कानून है। देश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि लोगों को धर्म के नाम पर बांटा जा रहा है।

जयपुर साहित्य उत्सव (जेएलएफ) 2020 के पहले दिन यहां पत्रकार वार्ता में नंदिता दास ने सीएए और एनआरसी के बढ़ते विरोध को उचित ठहराते हुए कहा कि दिल्ली की तरह शाहीन बाग देश में हर जगह बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों ने इसके विरोध में आवाज उठाई है।

दास ने कहा कि यह ऐसा कानून है जिसके जरिये आपसे भारतीय होने का सबूत मांगा जा रहा है। साथ ही कहा कि यह संदेश देने का नहीं, बल्कि सोचने का वक्त है कि हम किस तरह का समाज चाहते हैं। उन्होंने इस मामले में राजनीति नहीं करने की भी बात कही।

दास ने देश की आर्थिक स्थिति को लेकर भी सवाल उठाया और कहा कि आर्थिक हालात बदतर होते जा रहे है। देश में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। गौरतलब है कि सीएए और एनआरसी को लेकर स्वरा भास्कर, अनुराग कश्यप जैसी कई बालीवुड हस्तियां विरोध कर रही हैं। स्वरा भास्कर शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के समर्थन के लिए उनके बीच भी पहुंची थी। इसी कड़ी में नया मान अब नदिता दास का जुड़ गया है। 

ये भी पढ़ें: नागरिकता कानून: जामिया प्रदर्शन-पुलिस एक्शन पर बोले कमल हासन, ' मैं भी एक छात्र हूं, मैं उनके लिए आवाज उठाता रहूंगा'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:actress Nandita Das: on caa For the first time in the country people are being divided on the basis of religion