फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजन‘तो समाज को ठीक करने की जरूरत’, रक्षा बंधन को पिछड़ी सोच वाली फिल्म बताने पर बोले आनंद एल राय

‘तो समाज को ठीक करने की जरूरत’, रक्षा बंधन को पिछड़ी सोच वाली फिल्म बताने पर बोले आनंद एल राय

'रक्षा बंधन‘ का निर्देशन आनंद एल राय ने किया है। फिल्म की आलोचना हो रही है कि इसमें महिलाओं को ऐसे दिखाया गया कि उनकी जिंदगी के लिए शादी ही सबकुछ है। अब इस पर निर्देशक ने रिएक्ट किया है।

‘तो समाज को ठीक करने की जरूरत’, रक्षा बंधन को पिछड़ी सोच वाली फिल्म बताने पर बोले आनंद एल राय
Shrilataलाइव हिंदुस्तान,मुंबईSat, 13 Aug 2022 07:37 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

‘रक्षा बंधन’ 11 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हुई। फिल्म में अक्षय कुमार लीड रोल कर रहे हैं। बॉक्स ऑफिस पर ‘रक्षा बंधन‘ की धीमी शुरुआत हुई। फिल्म की कहानी भाई-बहन के रिश्ते पर आधारित है। अक्षय कुमार चार बहनों के भाई बने हैं। फिल्म में वह कहते हैं कि खुद शादी करने से पहले वह अपनी बहनों की शादी करेंगे। ‘रक्षा बंधन‘ का निर्देशन आनंद एल राय ने किया है। उनकी फिल्में अलग विषयों के लिए जानी जाती हैं। हालांकि ‘रक्षा बंधन‘ को लेकर आलोचना भी हो रही है कि इसमें महिलाओं को ऐसे दिखाया गया कि उनकी जिंदगी के लिए शादी ही सबकुछ है।

‘फिल्में ही खुद को व्यक्त करने का जरिया‘


‘रक्षा बंध‘न भारत में दहेज प्रथा की भयावहता को दिखाती है। अब आनंद एल राय ने अपनी फिल्म का बचाव किया है। न्यूज 18 के साथ इंटरव्यू  में वह कहते हैं, ‘आप इसे अनदेखा नहीं कर सकते। मुझे पता है, हमें बहुत प्रगतिशील होना चाहिए, हम कई मायनों में हैं। इसके  बावजूद कई चीजें हैं जिनका ध्यान रखने की जरूरत है। आप अपनी आंखें बंद नहीं कर सकते। इसके बारे में बात न करने से आपको कोई समाधान नहीं मिलेगा। एक फिल्ममेकर के रूप में मैं आर्टिकल्स नहीं लिख सकता, मैं डॉक्यूमेंट्रीज नहीं बना सकता। खुद को व्यक्त करने के लिए मेरा एकमात्र तरीका फिल्में हैं। अगर आपको ऐसा  महसूस हो रहा है कि इसमें पिछड़ी सोच दिखती है तो इसका मतलब है कि समाज को ठीक करने का समय आ गया है।‘ 

‘समस्या से डील करिए‘


आनंद एल राय ने आगे कहा, ‘मैं कह सकता हूं कि हम दुनिया में सर्वश्रेष्ठ हैं लेकिन क्या हम हैं? हम पूरी कोशिश कर रहे हैं। हम रक्षा बंधन जैसी कहानी बता रहे हैं जहां आपको लगता है कि यह पिछड़ी सोच वाला है इसका मतलब है कि हमारा इरादा वहीं ध्यान दिलाना था। इससे डील करिए। तो अगली बार जब मैं कोई फिल्म बनाऊंगा तो आपको उस तरह की पिछड़ी सोच नहीं मिलेगी।‘ 

कितना रहा कलेक्शन


बता दें कि फिल्म ने गुरुवार को ओपनिंग डे पर 8.2 करोड़ का कलेक्शन किया। दूसरे दिन फिल्म का कलेक्शन 6 करोड़ा रहा। 
 

लेटेस्ट Entertainment News के साथ-साथ TV News, Web Series और Movie Review पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।
epaper