DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Exclusive: आमिर खान को 'परफेक्शनिस्ट' शब्द से होता है संकोच, बताए ये कारण

आमिर खान की पहचान बॉलीवुड में एक ऐसे अभिनेता के रूप में है
आमिर खान की पहचान बॉलीवुड में एक ऐसे अभिनेता के रूप में है

आमिर खान की पहचान बॉलीवुड में एक ऐसे अभिनेता के रूप में है, जो हर काम को बहुत सोच-समझ कर अंजाम देते हैं। बीते दस सालों में आमिर की पांच फिल्मों ने अकेले भारत में 12 सौ करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है। वह ऐसे स्टार हैं, जिन्होंने नए पैमाने गढ़े हैं। फिल्मों को लेकर उन जैसा जुनून कम लोगों में ही देखने को मिलता है। पेश हैं उनसे हुई बातचीत के कुछ अंश:

अन्नाद्रमुक सरकार पर बरसे रजनीकांत, फिल्म ‘सरकार’ के दृश्य काटने की मांग पर जाहिर की नाराजगी

फिल्म करने के पीछे पैसा कमाना कभी मकसद नहीं रहा- आमिर खान
फिल्म करने के पीछे पैसा कमाना कभी मकसद नहीं रहा- आमिर खान

सवाल- ऐसा लगता है कि आपके पास कोई विचित्र-सी क्षमता है, जिससे आप जान लेते हैं कि कौन-सी फिल्म चल सकती है और कौन सी नहीं?

शायद मैं यह जान सकता कि मैं किस वजह से किसी प्रोजेक्ट की ओर आकर्षित होता हूं! मैंने ज्यादातर फिल्मों के लिए जल्दी में हां की। हां, कुछ दफा जरूर मैंने समय लिया। लेकिन मुझे एहसास है कि हर बार मैं इस सवाल से जूझता था कि क्या वाकई मैं यह फिल्म करना चाहता हूं या फिर मैं कोई गलती कर रहा हूं... किसी चीज को दिल से स्वीकारने से पहले एक तरह की यात्रा होती है। चूंकि मैं इस बात को लेकर काफी सजग रहता हूं कि अगले डेढ़-दो सालों के लिए यह (फिल्म) मेरी जिंदगी बन जाएगी, इसलिए खुद से सवाल करता हूं कि क्या यह वाकई वह चीज है, जो मैं करना चाहता हूं।

इमरान हाशमी को मिला शाहरुख खान का साथ, दोनों एक साथ करेंगे ये काम

सवाल- यानी फिल्म बनाने के पीछे आपका मकसद रुपया कमाना नहीं है?

बिल्कुल, फिल्म करने के पीछे पैसा कमाना कभी मकसद नहीं रहा। फिल्म सिर्फ इसलिए करता हूं, क्योंकि ज्यादातर लोगों को यह पसंद है। हममें से हर कोई चाहता है कि उसे प्यार किया जाए और हममें से कुछ वह करने की कोशिश करते हैं, जो अलग है। पर इससे मेरा मतलब यह नहीं है कि मैं कुछ अलग बनने की कोशिश कर रहा हूं। सिर्फ मेरी पसंद अलग है। मैं कुछ तरह की फिल्मों की ओर आकर्षित नहीं होता, पर यह बता सकता हूं कि वह फिल्म सफल रहेगी। ऐसी कई फिल्में हैं, जिन्हें करने से मैंने मना कर दिया था, जबकि मैं जानता था कि वे बेहद सफल रहेंगी। मुझे यह बात सही नहीं लगती कि मैं किसी ऐसी फिल्म में साल भर व्यस्त रहूं, जिसे करने में मुझे मजा ना आए।

मैं फिल्म इंडस्ट्री में कोई ना कोई जगह बना लूंगा- आमिर खान
मैं फिल्म इंडस्ट्री में कोई ना कोई जगह बना लूंगा- आमिर खान

सवाल - क्या आप हमेशा से फिल्मों में आना *चाहते थे?.

हां, मैं अपने पिता और अंकल को फिल्में बनाते देखते हुए बड़ा हुआ हूं। मुझे याद है कि मेरे आसपास सब कितने चकित हुए थे, जब मैंने उन्हें बताया कि मैं आगे पढ़ाई नहीं करना चाहता और फिल्मों में काम शुरू करना चाहता हूं। फिर मां ने कहा था कि अगर तुम एक अभिनेता के रूप में सफल नहीं हुए, तब तुम्हारे पास एक दूसरा विकल्प तैयार होना चाहिए। इसलिए तुम्हें कम से कम ग्रेजुएशन करने के बारे में सोचना चाहिए। तब मेरा जवाब था कि अगर मैं अभिनेता के रूप में सफल नहीं होता, तो मैं एडिटर, सिनेमैटोग्राफर, लेखक बन जाऊंगा। मैं फिल्म इंडस्ट्री में कोई ना कोई जगह बना लूंगा, जो मुझे एक ग्रेजुएट से ज्यादा सफल बनाएगी। मैं बहुत स्पष्ट था कि मैं सिर्फ फिल्म की दुनिया में ही आना चाहता हूं।


सवाल- जिस तरह आप अभिनय के अलावा अपनी फिल्मों से जुड़े कई दूसरे पहलुओं पर ध्यान देते हैं, उससे लोग आपको परफेक्शनिस्ट कहते हैं। आपको क्या लगता है?.

मुझे खुद को परफेक्शनिस्ट कहने में संकोच होता है। यह परफेक्शनिस्ट होने का दावा करना मुझे सही नहीं लगता। मैं वह हूं, जो बहुत मेहनत करता है। चूंकि मैं किसी काम को जुनून की हद तक सही करने की कोशिश करता हूं, इसलिए मुझे लगता है कि मेरे आसपास लोग सोचते हैं कि यह तो पागल हो गया है... पता नहीं क्या कर रहा है!
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Aamir khan is afraid to say himself a perfectionist