फोटो गैलरी

Hindi News Entertainment Film-reviewUuchai Review Amitabh Bachchan Anupam Kher Boman Irani film showing true friendship and emotions

Uuchai Review: सच्ची दोस्ती और इमोशंस को पर्दे पर दिखाती ‘ऊंचाई’, फुल फैमिली एंटरटेनिंग फिल्म

अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, बोमन ईरानी स्टारर फिल्म ऊंचाईं 11 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई। फिल्म का निर्माण राजश्री प्रोडक्शंस ने किया है और इसके निर्देशक सूरज बड़जात्या हैं।

Uuchai Review: सच्ची दोस्ती और इमोशंस को पर्दे पर दिखाती ‘ऊंचाई’, फुल फैमिली एंटरटेनिंग फिल्म
Shrilataलाइव हिंदुस्तान,मुंबईFri, 11 Nov 2022 06:51 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

फिल्म: ऊंचाईं
स्टार कास्ट: अमिताभ बच्चन, बोमन ईरानी, अनुपम खेर, नीना गुप्ता, सारिका, परिणीति चोपड़ा और डैनी डेन्जोंगपा
निर्देशक: सूरज बड़जात्या
फिल्म 'ऊंचाई'  के जरिए सूरज बड़जात्या 7 सालों के बाद निर्देशन में लौटे हैं। राजश्री प्रोडक्शन की इस फिल्म में प्यार, दोस्ती, सपने और इमोशंस दिखते हैं। जब आप थियेटर से फिल्म देखकर बाहर आते हैं तो आपका दिल भावनाओं से भरा होता है। फिल्म के कलाकार अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर, बोमन ईरानी, नीना गुप्ता और सारिका सहित अन्य हैं। राजश्री प्रोडक्शन की फिल्मों में फैमिली वेडिंग और लव स्टोरी देखते आए हैं लेकिन यह फिल्म उन सबसे अलग है।

क्या है कहानी

फिल्म की कहानी तीन दोस्तों अमित (अमिताभ बच्चन), ओम (अनुपम खेर) और जावेद (बोमन ईरानी) के साथ माला (सारिका) के इस ग्रुप से शुरू होती है। जो ट्रैक पर होते हैं और एवरेस्ट बेस कैंप तक पहुंचना चाहते हैं। इसमें उनकी टूर गाइड श्रद्धा गुप्ता (परिणीति चोपड़ा) है। कहानी में दो महीने का फ्लैशबैक आता है और दिखाया जाता है कि वो यहां तक कैसे पहुंचे और उसके बाद क्या हुआ। कहानी फिर से दिल्ली वापस लौटती है और बताया जाता है कि तीन दोस्तों ने अपने करीबी दोस्त भूपेन (डैनी डेन्जोंगपा) का जन्मदिन मनाया और अगली सुबह उसके निधन से सभी सदमे में चले जाते हैं। अपने दोस्तों के साथ ट्रैक करने की उसकी अंतिम इच्छा को पूरा करने केलिए तीनों दोस्त कठिनाइयों से भरी यात्रा पर जाने का फैसला करते हैं। क्या वो ट्रैक पूरा कर पाएंगे? क्या वो अपने दोस्त की इच्छा पूरी कर पाते हैं? सफर की मुश्किलों से क्या टूट जाते हैं? ऊंचाई इन सभी चीजों को बहुत खूबसूरती से दिखाती है। 

कलाकारों का काम

अमिताभ बच्चन, अनुपम खेर और बोमन ईरानी को देखते हुए आपको फिल्म 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' की याद आने लगती है। वो पर्दे पर जिस कुशलता से आते है वह बेजोड़ है। अमिताभ बच्चन कहानी को लीड करते हुए दिखते हैं। फिल्म में नीना गुप्ता और बोमन ईरानी की एक प्यारी सी केमेस्ट्री दिखती है। नीना के एक्सप्रेशंस, डायलॉग डिलीवरी और पर्दे पर उनकी उपस्थिति मूड को हल्का कर देते हैं। डैनी लंबे समय बाद पर्दे पर दिखे हैं और उन्हें देखना अच्छा लगता है। 

परिवार के साथ देखने वाली फिल्म

सुनील गांधी ने फिल्म की कहानी को खूबसूरती के साथ लिखा है और सारे इमोशंस जगा देते हैं। अभिषेक दीक्षित के डायलॉग कहानी को उतने ही बेहतरीन तरीके से प्रस्तुत करते हैं। श्वेता वेंकट मैथ्यू की एडिटिंग थोड़ी और क्रिस्पी हो सकती थी। फिल्म को कम से कम 20 मिनट और छोटा किया जा सकता था। संगीत अमित त्रिवेदी का है जो कि सुनने में सुकून देता है। 'ऊंचाई' एक परफेक्ट फैमिली एंटरटेनर फिल्म है। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें