अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Mission Impossible Fallout Review: रोमांच और एक्शन से भरपूर है टॉम क्रूज का ये मिशन

 mission impossible fallout review

हॉलीवुड सीरीज ‘मिशन इम्पॉसिबल’ की ताजातरीन किस्त में एक्टर टॉम क्रूज दुनिया को बचाने वाले अपने मिशन में कश्मीर भी आएंगे, ये तो आपने सुना ही होगा। पर जो नहीं सुना, वो ये कि आखिर क्या है इस फिल्म का कश्मीर कनेक्शन। पूरा खुलासा तो हम नहीं करेंगे, पर इतना जरूर बता सकते हैं कि कश्मीर में फिल्माए गए इस फिल्म के आखिरी एक्शन दृश्य इस फिल्म की जान हैं। हालांकि फिल्म में कहीं भी कश्मीर का नाम नहीं लिया गया है।

 
रोमांच, एक्शन और गति के तमाम मसालों के सही अनुपात से तैयार इस फिल्म की रेसिपी में मनोरंजन का लाजवाब जायका है। टॉम क्रूज एक ऐसे योद्धा के रूप में उभर कर आते हैं, जिसके लिए ‘किसी एक इन्सान की जान बचाना भी उतना ही जरूरी है, जितना कि दुनिया को बचाना।’
 
 
क्या है कहानी...
‘इम्पॉसिबल मिशंस फोर्स’ (आईएमएफ) दल के सबसे भरोसेमंद सदस्य इथन हंट (टॉम क्रूज) एक बार फिर हाजिर हैं, एक खतरनाक मिशन के साथ। मिशन है, प्लूटोनियम धातु को खतरनाक हाथों में पड़ने से बचाना, क्योंकि वे खतरनाक लोग इस सिद्धांत में विश्वास रखते हैं- ‘जितनी बड़ी तबाही होगी, उतनी ही शांति दुनिया में स्थापित होगी।’ एक मुठभेड़ में प्लूटोनियम सिर्फ इसलिए गलत हाथों में पड़ जाता है क्योंकि उस वक्त इथन प्लूटोनियम की रक्षा करने से ज्यादा जरूरी अपने साथी विंग रेम्स (लूथर स्टिकेल) की जान बचाना समझता है। इस घटना के बाद से इथन का लक्ष्य बन जाता है प्लूटोनियम को वापस लाना। यह मौका उसे एक मीटिंग के रूप में नजर आता है। इस मीटिंग में व्हाइट विडो नामक एक संभ्रांत महिला (वैनेसा कर्बी), जॉन लार्क नामक एक रहस्यमयी आदमी से मिलने वाली है और उसके साथ प्लूटोनियम का सौदा करने वाली है। इथन की योजना है कि वह किसी तरह जॉन को बेहोश कर उसकारूप धर कर व्हाइट विडो से मिलेगा और किसी भी कीमत पर प्लूटोनियम हासिल करेगा। इसी बीच एक और मुसीबत खड़ी हो जाती है। उधर सीआईए संस्था को आईएमएफ पर भरोसा नहीं रहता जिसके चलते वह तय करती है कि जहां-जहां इथन की टीम जाएगी, वहां-वहां उनका वॉकर नाम का आदमी (हेनरी कैविल) भी जाएगा। यह मिशन कितना सफल रहता है, कितना असफल और इसके क्या परिणाम रहते हैं, यही है इस फिल्म की कहानी।
 
 
 
 

टॉम क्रूज ने जीता दिल...
पल-पल पैंतरे बदलती यह फिल्म दर्शक को सांस रोके रखने पर मजबूर करती है। टॉम अपनी ऊर्जा से चौंकाते हैं। फिल्म में वह कभी ऊंची बिल्डिंगों से छलांग लगाते नजर आते हैं, कभी हेलिकॉप्टर पर स्टंट करते, कभी चट्टान पर चढ़ते, कभी गोलियां से बचते हुए कार/बाइक दौड़ाते, कभी सुरंग में गोलीबारी से बचते तो कभी क्रैश होते हैलीकॉप्टर में जान बचाने की जुगत लगाते। एक्शन दृश्यों की कोरियोग्राफी गजब की है। विशेष रूप से कश्मीर में फिल्माए गए हैलीकॉप्टर संबंधी दृश्यों की और व्हाइट विडो से मुलाकात के ठीक पहले वाले दृश्यों की जिसमें टॉयलेट के अंदर इथन और उसके समूह की एक व्यक्ति के साथ मुठभेड़ होती है। एक्टिंग, निर्देशन, सिनेमैटोग्राफी- लगभग सभी पहलुओं से यह फिल्म चकित करती है।  

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:mission impossible fallout movie review in hindi tom cruise