Hindi Newsमनोरंजन न्यूज़फिल्म रिव्यूOTT Platform Netflix Crime Thriller Film Bhakshak Review Bhumi Pednekar Sanjay Mishra

Bhakshak Review: भूमि पेडनेकर ने क्राइम थ्रिलर फिल्म ‘भक्षक’ में दिया अपने करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस, पढ़ें रिव्यू

Bhakshak Review: भूमि पेडनेकर क्राइम थ्रिलर फिल्म ‘भक्षक’ रिलीज हो गई है। आप इस फिल्म को ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं।

Vartika Tolani लाइव हिन्दुस्तानFri, 9 Feb 2024 12:38 PM
हमें फॉलो करें

फिल्म: भक्षक

कलाकार: भूमि पेडनेकर, आदित्य श्रीवास्तव, साई ताम्हणकर, संजय मिश्रा

निर्देशक: पुलकित

लेखक: पुलकित और ज्योत्सना नाथ

निर्माता: गौरी खान और गौरव वर्मा

ओटीटी: नेटफ्लिक्स

'क्या अब भी आप अपनी गिनती इंसानों में करते हैं? या अपने आपको भक्षक मान चुके हैं?'...आपसे कुछ ऐसे ही तीखे सवाल करने के लिए नेटफ्लिक्स की क्राइम ड्रामा फिल्म 'भक्षक' आ गई है। इस फिल्म में पत्रकार वैशाली सिंह का किरदार निभाने वालीं भूमि पेडनेकर ने समाज को आईना दिखाने का काम किया है। इंसानियत भूल चुके कुछ इंसानों को सही रास्ते पर लाने की कोशिश की है। लेकिन, सवाल यह उठता है कि क्या वह इन सब में कामयाब हो पाईं? पढ़िए हमारा रिव्यू।

कुछ ऐसी है फिल्म की कहानी

पत्रकार वैशाली सिंह (भूमि पेडनेकर) अपना छोटा-मोटा न्यूज चैनल चलाती हैं। एक दिन उन्हें उनके सूत्र से खबर मिलती है कि मुनव्वरपुर के बालिका गृह में बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार, बलात्कार और अत्याचार हो रहा है। वह अपने न्यूज चैनल पर खबर तो चला देती हैं, लेकिन उनके हाथ में कोई ठोस सबूत नहीं होता है। जब वह सबूत ढूंढने की कोशिश करती हैं तब बालिका गृह चलाने वाला बंसी साहू (आदित्य श्रीवास्तव), उन्हें धमकी देता है। वहीं उनका पति उनका साथ देने से इनकार कर देता है। अब वैशाली क्या करेगी? वह 'भक्षक' का पर्दाफाश कैसे करेगी? बच्चियों को न्याय कैसे दिलवाएगी? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

भूमि की एक्टिंग

भूमि पेडनेकर ने भक्षक में अपने करियर का सबसे बेहतरीन काम किया है। उन्होंने पूरी फिल्म के दौरान लोकल एक्सेंट पकड़कर रखा। कहीं भी पत्रकार के किरदार को छूटने नहीं दिया और छोटी-सी-छोटी बात का ख्याल रखा। संजय मिश्रा ने इस गंभीर विषय पर बनी फिल्म में कॉमेडी का तड़का लगाने का काम किया। वहीं सीआईडी में सीनियर इंस्पेक्टर अभिजीत से अपनी पहचान बनाने वाले आदित्य श्रीवास्तव ने विलेन की भूमिका बखूबी निभाई है।

इन खूबियों ने जीता दिल

‘भक्षक’ की कहानी को बहुत ही अच्छी तरह से लिखा गया है। कहीं भी ऐसा नहीं लगा कि लेखक भटक गए हैं। उन्होंने सीधी और सिम्पल लेकिन दमदार कहानी लिखी है। कहानी के साथ-साथ फिल्म का गाना भी काफी असरदार है। आज कल ऐसे बहुत कम गाने सुनने को मिलते हैं जिनके बोल असरदार हों और उनका फिल्म की कहानी से पूरा-पूरा संबंध हो।

यहां रह गई कमी

‘भक्षक’ देखने के बाद यह साफ पता चल रहा है कि यह फिल्म मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड से प्रेरित है। साल 2015 में हुए इस कांड बहुत सारी चीजें सामने आई थीं। इस पूरे मामले में सुप्रीम कोर्ट और सीबीआई ने अहम भूमिका निभाई थी। यदि इसका थोड़ा-सा अंश इस फिल्म में डाल दिया जाता तो यह फिल्म और दिलचस्प बन जाती।

देखें या नहीं देखें?

भूमि पेडनेकर की यह फिल्म 'मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड' से प्रेरित है। पूरी तरह उस कांड पर आधारित नहीं है इसलिए अगर आपको असल घटना पर बनी सच्ची फिल्म देखना पसंद है तो ये आपके लिए नहीं है। हालांकि, भूमि पेडनेकर की जबदस्त एक्टिंग देखनी है तो आप ये फिल्म देख सकते हैं।

ऐप पर पढ़ें