Hindi Newsएंटरटेनमेंट न्यूज़बॉलीवुडshahid kapoor film kabir singh actor adil hussain regret working comments animal director sandeep reddy vanga

आदिल हुसैन को कबीर सिंह में काम करने का है पछतावा, फिल्म डायरेक्टर संदीप वांगा को लेकर कही ये बात

  • संदीप रेड्डी वांगा की फिल्म कबीर सिंह को लेकर एक्टर आदिल हुसैन ने कहा कि यह फिल्म उनके करियर की एकमात्र ऐसी फिल्म है जिसमें काम करने का उनको पछतावा है. उन्होंने बताया कि वह एक थिएटर में फिल्म देखने गए थे और 20 मिनट में ही वहां से बाहर निकल आए.

Harshita Pandey लाइव हिन्दुस्तानWed, 17 April 2024 06:16 PM
हमें फॉलो करें

साल 2019 में रिलीज हुई संदीप रेड्डी वांगा की कबीर सिंह में शाहिद कपूर मुख्य भूमिका में नजर आए थे। मूवी में उन्हें जहां एक ओर दर्शकों का प्यार मिला, तो दूसरी ओर इस फिल्म की आलोचना भी खूब हुई थी। हालांकि, आलोचना के बाद भी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई थी। फिल्म के रिलीज के इतने सालों बाद भी इसको लेकर चर्चाएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब, कबीर सिंह के एक स्टार एक्टर आदिल हुसैन ने फिल्म को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने एक पॉडकास्ट में कहा कि कबीर सिंह उनके करियर की एकमात्र ऐसी फिल्म है जिसमें काम करने का उनको पछतावा है।

20 मिनट में ही थिएटर से बाहर आ गए थे आदिल

यूट्यूब चैनल एपी पॉडकास्ट में इंटरव्यू के दौरान आदिल हुसैन ने कहा कि वो बिना फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़े ही फिल्म में काम करने के लिए तैयार हो गए थे। उन्होंने पॉडकास्ट में बताया कि यह फिल्म उनके जीवन की एकमात्र ऐसी फिल्म है जिसमें उन्होंने बिना स्क्रिप्ट पढ़े या बिना उस फिल्म को देखे, जिसपर कबीर सिंह आधारित है, काम किया है। आदिल ने आगे बताया कि फिल्म रिलीज के बाद वह एक थिएटर में फिल्म देखने गए और 20 मिनट में ही वहां से बाहर निकल आए। उन्होंने पॉडकास्ट में कहा, "एकमात्र फिल्म जिसे करने का मुझे अफसोस है वह फिल्म है...कबीर सिंह।''

संदीप रेड्डी वांगा पर क्या बोले आदिल?

आदिल ने कहा कि कबीर सिंह एक 'मिसोजिनिस्ट' फिल्म है जिसने उन्हें “एक इंसान के रूप में छोटा महसूस कराया है।” वहीं, फिल्म के डायरेक्टर संदीप रेड्डी वांगा के बारे में बात करते हुए आदिल हुसैन ने कहा कि हर किसी को अपनी पसंद की फिल्म बनाने का अधिकार है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उन्हें उनसे सहमत होना होगा। उन्होंने कहा, " “मुझे लगता है कि इस तरह की फिल्म किसी ऐसी चीज़ को बढ़ावा देती है जो समाज के लिए फायदेमंद नहीं है।" उन्होंने कहा कि यह फिल्म मेल मिसोजिनी को वैध बनाती है। ये फिल्म ना केवल महिलाओं के खिलाफ हिंसा बल्कि किसी के भी खिलाफ हिंसा को वैध बनाती है। यह फिल्म ऐसी चीजों का महिमामंडन करती है और इसका महिमामंडन नहीं किया जाना चाहिए।

आदिल ने कहा कि शुरुआत में उन्होंने समय की कमी के कारण फिल्म करने से इनकार कर दिया था। बाद में जब फिल्म मेकर्स ने उन्हें उनका सीन भेजा तो उन्होंने मेकर्स से पूरी स्क्रिप्ट मांगी थी लेकिन, मेकर्स ने उन्हें तेलुगू फिल्म अर्जुन रेड्डी, जिस फिल्म पर कबीर सिंह आधारित है, की स्क्रिप्ट भेजी। आदिल हुसैन ने बताया कि उन्हें स्क्रिप्ट देखने का समय नहीं मिला, इसलिए उन्होंने अपने मैनेजर से कहा कि वह इस फिल्स के लिए मेकर्स से ज्यादा पैसे मांगें, ताकि निर्माता उन्हें कास्ट करने से इनकार कर दें, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

फिल्म देखते वक्त महसूस हुई शर्मिंदगी

उन्होंने कहा कि जब मेकर्स ने ज्यादा पैसे मांगने पर भी उन्हें इनकार नहीं किया तो उन्होंने वो सीन किया। उन्होंने बताया कि उन्हें उनका सीन अच्छा लगा था। आदिल ने कहा कि उन्होंने जो सीन किया वो अच्छा था, तो उन्होंने लगा कि फिल्म भी अच्छी ही होगी. उन्होंने बताया कि जब वो फिल्म देखने गए तो उन्होंने सोचा कि वो इस फिल्म में क्या कर रहे हैं? पॉडकास्ट में बातचीत के दौरन उन्होंने बोला कि फिल्म देखते वक्त उन्हें बहुत शर्मिंदगी महसूस हुई।

एनिमल फिल्म पर क्या बोले आदिल हुसैन?

पॉडकास्ट में आदिल ने कहा कि वो अपनी पत्नी से इस फिल्म को देखने के बारे में कह भी नहीं सकते थे। उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी अगर यह फिल्म देखतीं तो काफी गुस्सा करतीं। वहीं, संदीप वांगा की फिल्म एनिमल के बारे में बात करते हुए आदिल ने कहा कि उन्होंने यह फिल्म नहीं देखी है इसलिए वो इसपर कुछ भी कमेंट नहीं करना चाहते. बता दें, कबीर सिंह में आदिल हुसैन ने शाहिद कपूर के कॉलेज प्रोफेसर की भूमिका निभाई थी।

ऐप पर पढ़ें