Hindi Newsएंटरटेनमेंट न्यूज़बॉलीवुडPehchchan Kon Sanjay Mishra Debut with Shahrukh Khan worked at Dhabba Rishikesh and then Ruled the industry with acting

पहचान कौन? ढाबे पर किया काम, शाहरुख के साथ डेब्यू, फिर ऐसे बनाया सबको अपनी एक्टिंग का दीवाना

पहचान कौन में आज हम आपके लिए लेकर आए हैं एक ऐसे एक्टर की कहानी जिसकी एक्टिंग की आज दुनिया दीवानी है। इन्होंने शाहरुख की फिल्म के साथ अपना एक्टिंग डेब्यू किया। वहीं, एक वक्त था जब ये इंडस्ट्री छोड़ ढाबे पर काम करने चले गए थे।

Harshita Pandey लाइव हिन्दुस्तानSat, 18 May 2024 12:21 PM
हमें फॉलो करें

बॉलीवुड में बहुत से एक्टर्स हैं, लेकिन बहुत कम ही ऐसे एक्टर्स हैं जिन्होंने अपनी एक्टिंग के दम पर दुनिया को दीवाना बना दिया हो। फिल्म इंडस्ट्री में बहुत से शहरों से एक्टर्स आए हैं। सबकी अपनी-अपनी कहानी है। आज हम आपको एक ऐसे एक्टर के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में शाहरुख खान के साथ अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की। फिर इंडस्ट्री छोड़ ढाबे पर काम करने चलने गए, लेकिन आज की डेट में दुनियाभर के लोग इनकी एक्टिंग के फैन हैं। क्या आप पहचान पाए एक्टर का नाम? 

शाहरुख की फिल्म से किया डेब्यू

बिहार के निम्न-मध्यम वर्गीय परिवार से आनेवाले इस एक्टर ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत साल 1995 में आई शाहरुख खान की फिल्म ओह डार्लिंग ये इंडिया है में एक छोटे से रोल से की थी। क्या आप पहचान गए एक्टर का नाम? 

अगर नहीं, तो चलिए हम बताते हैं कि कौन है वो एक्टर। हम बात कर रहे हैं एक्टर संजय मिश्रा की। जी हां, बहुत कम लोगों को ये पता है कि संजय मिश्रा ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत शाहरुख खान की फिल्म से की थी। संजय मिश्रा साल 1991 में बिहार से मुंबई आ गए थे। 

शुरुआत में करनी पड़ी बहुत स्ट्रगल

हालांकि, फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाने के लिए हर किसी की तरह, संजय मिश्रा को भी बहुत मेहनत करनी पड़ी। शुरुआत में संजय मिश्रा को अच्छे रोल मिलने के लिए काफी स्ट्रगल करनी पड़ी। उन्होंने साल 1991 से 1999 तक फिल्म मेकिंग के अलग-अलग पहलुओं जैसे लाइटिंग, डायरेक्शन जैसी चीजों के बारे में जाना। 

आंखों देखी से मिली नई पहचान

संजय मिश्रा को साल 2014 में आई फिल्म 'आंखों देखी' से नई पहचान मिली। इस फिल्म के लिए संजय मिश्रा को फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड दिया गया। इसके बाद, संजय मिश्रा को साल 2022 में आई फिल्म वध के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड से नवाजा गया। संजय मिश्रा नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पास आउट हैं। 

जब इंडस्ट्री छोड़ ढाबे पर काम करने लगे संजय मिश्रा

संजय मिश्रा ने अपने पिता के निधन के बाद फिल्म इंडस्ट्री छोड़ दी थी। न्यूज 18 को दिए एक पुराने इंटरव्यू में संजय मिश्रा ने बताया था कि मुझे इंडस्ट्री को लेकर कोई शिकायत नहीं थी। मुझे मेरे जीवन को लेकर शिकायत थी। मैं अपनी जिंदगी को खोने लगा था। इसलिए मैं ऋषिकेश चला गया था और गंगा किनारे एक ढाबे पर ऑमलेट बनाने का काम करता था। ढाबे के मालिक ने मुझे कहा था कि मुझे दिन के 50 कप धोने होंगे और इसके बदले मुझे 150 रुपये मिलेंगे। 

इसके बाद फिल्म डायरेक्टर रोहित शेट्टी की बहुत सी फिल्मों में संजय मिश्रा को देखा गया। संजय मिश्रा ने कॉमेड से लेकर सीरियस रोल में लोगों को खूब हंसाया और रुलाया है। संजय मिश्रा आज बॉलीवुड में बहुत बड़ा नाम हैं। हर कोई इनकी एक्टिंग का दीवाना है। 

 

 

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें