Hindi NewsEntertainment NewsBhojpuriखुशबू तिवारी केटी का 'कलकतिया मिठाई' लोकगीत रिलीज, तोशी द्विवेदी के लटके-झटकों ने लगाई आग

खुशबू तिवारी केटी का 'कलकतिया मिठाई' लोकगीत रिलीज, तोशी द्विवेदी के लटके-झटकों ने लगाई आग

तोशी का पति जैसे ही कलकत्ता जाने के लिए गाड़ी में लगेज रखने जाता है कि तभी एक्ट्रेस गाड़ी की चाबी निकाल कर अपनी उंगलियों में नाचने लगती हैं। जब उसका पति गाड़ी की चाबी लेना चाहता हैं।

खुशबू तिवारी केटी का 'कलकतिया मिठाई' लोकगीत रिलीज, तोशी द्विवेदी के लटके-झटकों ने लगाई आग
Priti Kushwaha लाइव हिंदुस्तान, नई दिल्लीThu, 30 Nov 2023 07:58 PM
हमें फॉलो करें

Kalkatiya Mithai Song: बंगाल की मिठाई और बंगाल के जादू की चर्चा गांव देहात में खूब होती है। देश-विदेश खास तौर पर कलकत्ता में नौकरी करने जाने वाले पति पर पत्नी को हमेशा ही शक रहता था। उन्हें लगता था कि उनके पति बंगाल की लड़कियों के जादू का शिकार न हो जाएं। इसी बात पर ताना बाना बुनकर लोकगीत 'कलकतिया मिठाई' बनाया गया है। यह लोकगीत वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स भोजपुरी के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर रिलीज किया गया है। इस गाने को सिंगर खुशबू तिवारी केटी ने अपने खास अंदाज में गाया है। 

तोशी द्विवेदी के लटके-झटकों ने लगाई आग
सिंगर खुशबू तिवारी केटी का 'कलकतिया मिठाई' को काफी पसंद किया जा रहा है। इस गाने ने रिलीज  होते ही यूट्यूब पर बवाल मचा दिया है। 'कलकतिया मिठाई' गाने में एक्ट्रेस तोशी द्विवेदी ने जमकर ठुमके लगाए हैं, जिसने दर्शकों को एक बार फिर से उनका दीवाना बना दिया है। पीले और हरे रंग की ड्रेस में तोशी काफी गजब लग रही हैं। गाने में दिखाया गया है कि तोशी द्विवेदी का पति कलकत्ता जाने के लिए तैयार है।

कुछ ऐसे हैं गाने के बोल
तोशी का पति जैसे ही कलकत्ता जाने के लिए गाड़ी में लगेज रखने जाता है कि तभी एक्ट्रेस गाड़ी की चाबी निकाल कर अपनी उंगलियों में नाचने लगती हैं। जब उसका पति गाड़ी की चाबी लेना चाहता है और कोलकाता जाने के लिए रवाना होने की बात करता है तब तोशी अपने पति से कहती हैं कि 'जा तारा कमाय ए पिया कलकाता, येही से हमार जियरा डेराता, ठीक से तू तनी रहिहा राजा जी, रहिहा राजा जी... अरे कवनो बंगलिनिया के हाथ से, कलकतिया मिठाई जनि खइहा राजा जी...'। बता दें कि तोशी द्विवेदी की एक्टिंग की खूब तारीफ हो रही है। इसके गीतकार यादव राज हैं। संगीतकार बम्बू बीट हैं।

ऐप पर पढ़ें