Hindi Newsमनोरंजन न्यूज़भोजपुरीKhesari Lal Yadav furious at the school for Use of Bhojpuri language is prohibited in the school premises - Entertainment News India

भोजपुरी भाषा को लेकर स्कूल में लगे सूचना बोर्ड पर भड़के खेसारी लाल यादव, ट्विटर पर उठी प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई की मांग

भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव यूं तो अपनी फिल्मों और गानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इसके अलावा वह अपने सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भी सुर्खियों  छाए रहते हैं। इसी बीच एक्टर ने अपने ट्विटर...

Radha Sharma लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीFri, 10 Dec 2021 11:23 AM
हमें फॉलो करें

भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव यूं तो अपनी फिल्मों और गानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इसके अलावा वह अपने सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भी सुर्खियों  छाए रहते हैं। इसी बीच एक्टर ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने किसी स्कूल में लगे सूचना बोर्ड की फोटो को शेयर किया है। स्कूल परिसर में लगे सूचना बोर्ड पर भोजपुरी भाषा नहीं बोलने की चेतावनी दी गई है, जिसे लेकर एक्टर ने आपत्ति जताई और सवाल पूछा है ऐसा क्यों? खेसारी लाल का ट्वीट वायरल हो चुका है। लोग उनके ट्वीट पोस्ट पर कॉमेंट करते हुए सूचना बोर्ड को हटाए जाने की मांग कर रहे हैं। 

स्कूल के सूचना बोर्ड को देखकर हुए नाराज

खेसारी ने अपने ट्विटर अकाउंट से जो फोटो शेयर किया है, उसमें लिखा है, ''सूचना : विद्यालय परिसर में भोजपुरी भाषा का प्रयोग वर्जित है।  "  इस फोटो तो शेयर करते हुए खेसारी भोजपुरी में सवाल करते हुए लिखा है - काहे हो (क्यों) । इसके साथ उन्होंने एंग्री वाली इमोजी शेयर किया है। खेसारी के ट्वीट से लग रहा है वह काफी नाराज हैं।

— Khesari Lal Yadav (खेसारी) (@khesariLY) December 10, 2021

 यूजर्स कर रहे हैं सूचना बोर्ड हटाने जानें की मांग

कुछ देर पहले किया गया खेसारी का यह ट्वीट पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। खेसारी के साथ यूजर्स भी ये जानना चाह रहे हैं भोजपुरी भाषा के प्रयोग नहीं करने की ये चेतावनी क्यों दी गई है। एक यूजर ने खेसारी के पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है - ये तो बहुत गलत बात है। इसके साथ एक और यूजर ने भोजपुरी में लिखा है- भोजपुरी से कवनो दिकत बा का ओ लोग के (भोजपुरी से किसी को कोई दिक्कत है क्या) । एक तीसरे यूजर ने लिखा है - भोजपुरी हमारी मातृभाषा हैं, इसको बोलने से हमें कोई नहीं रोक सकता। इसके इतर एक यूजर ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखता है कि यह स्कूल इंग्लैंड में तो नहीं है कि यहां भोजपुरी बोलने के लिए चेतावनी दी जा रही है। इसी के साथ यूजर्स स्कूल परिसर से ये बोर्ड हटाने जाने और स्कूल प्रसाशन पर कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। 

ऐप पर पढ़ें