DA Image
2 दिसंबर, 2020|9:03|IST

अगली स्टोरी

हरियाणा विधानसभा चुनाव: जानिए भिवानी विधानसभा सीट के बारें में सबकुछ

घनश्याम सराफ हरियाणा की भिवानी विधानसभा सीट से बीजेपी के विधायक हैं। एक सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ता और विभिन्न शैक्षिक संस्थाओं के प्रमुख सराफ विश्व हिंदू परिषद के एक सक्रिय सदस्य थे। 2005 में वह चुनाव हार गए, लेकिन निर्वाचन क्षेत्र के ग्रामीण हिस्सों में भाजपा को मजबूत करते रहे।

शैक्षिक योग्यता: स्नातक

2014 में घोषित कुल संपत्ति: 2.63 करोड़ रुपये
चल: 50 लाख
अचल: 2.13 करोड़

विधानसभा के बारे में: भिवानी 2008 के ओलंपिक में अपने मुक्केबाजों के शानदार प्रदर्शन के लिए सुर्खियों में रहा। भिवानी अपने शैक्षिक संस्थानों के लिए भी जाना जाता है। इस सीट पर ज्यादातर बनिया विधायक चुने गए, हालांकि, पूर्व मुख्यमंत्री बंसी लाल ने भी 2000 में यहां से जीत दर्ज की थी। यह सीट कभी भी इनेलो का गढ़ नहीं रही है।

चुनावी इतिहास

2014: भाजपा के घनश्याम सराफ ने इनेलो के निर्मला सराफ को 29,597 मतों से हराया
2009: घनश्याम सराफ ने कांग्रेस के शिव शंकर भारद्वाज को 2,645 मतों से हराया
2005: शिव शंकर भारद्वाज ने घनश्याम सराफ को 21,801 मतों से हराया

कैसा प्रदर्शन रहा: सराफ ने कई विकास कार्य किए। जबकि 135 एकड़ भूमि में विश्वविद्यालय स्थापित करने का काम चल रहा है, भिवानी के लिए एक मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किया गया है। दादरी-रोहतक बाईपास का चार लेन पूरा होने वाला है और शहर और ग्रामीण इलाकों की लगभग सभी मुख्य सड़कों की मरम्मत की जा चुकी है। 
विधायक बोले: हम फिर से चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं क्योंकि भिवानी के लोगों ने क्षेत्र के लिए जो भी मांग की है, बीजेपी सरकार ने उसे दिया है, चाहे वह विश्वविद्यालय हो, मेडिकल कॉलेज, सड़क या अन्य विकास के कार्य हों। वहीं, सराफ को गायों की देखभाल और उनकी सेवा के लिए भी जाना जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:haryana assembly election 2019 know bhiwani seat