DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Rajasthan Election 2018: BJP के लिए टफ है इस सीट को बचाना, आनंदपाल के एनकाउंटर से नाराज हैं वोटर्स

मौजूदा वसुंधरा राजे सरकार के मंत्री वासुदेव देवनानी के लिए इस बार सीट को बचाना मुश्किल लग रहा है।

राजस्थान चुनाव के लिए BJP की 5वीं लिस्ट जारी,पायलट के सामने युनुस खान

Rajasthan Election 2018: राजस्थान में अजमेर जिले की अजमेर उत्तर सीट भारतीय जनता पार्टी की पारंपरिक सीट रही है लेकिन पिछले 15 साल से रहे विधायक और मौजूदा वसुंधरा राजे सरकार के मंत्री वासुदेव देवनानी के लिए इस बार सीट को बचाना मुश्किल लग रहा है। इस विधानसभा में 28 वार्ड हैं जिनमें 23 पर बीजेपी का कब्जा है और तीन कांग्रेस के पास है और एक सीट पर निर्दलीय के पास है। कांग्रेस ने एक राजपूत नेता महेंद्र सिंह रलावता को उम्मीदवार बनाया है क्योंकि यहां 34 हजार राजपूत मतदाता है।  

ये भी पढ़ें: Rajasthan Election 2018: बीजेपी की 24 उम्मीदवारों की चौथी सूची जारी, यहां पढ़ें किसे कहां से मिला टिकट

देवनानी सिंधी समुदाय से आते हैं जिनके 19 हजार वोट हैं। वर्ष 2003 से इस सीट पर लागातार बीजेपी का कब्जा है। देवनानी अपनी लोकप्रियता के साथ साफ सुथरी छवि के रूप में जाने जाते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि देवनानी की छवि तो अच्छी है परन्तु सत्ता विरोधी लहर उनके साथ है। एक ऑटो चालक ने कहा कि देवनानी का जीतना तय है लेकिन कुछ अन्य लोगों का मानना है कि इस बार उनके लिए सीट बचाना आसान नहीं होगा। न्यूज एजेंसी वार्ता के अनुसार, राजपूत मतदाताओं के अलावा छह हजार रावणा राजपूत है जो आनंदपाल के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने से खासे नाराज है। 

वार्ता के अनुसार, इस सीट पर 17 हजार वोट मुसलमानों के हैं और 30 हजार अनुसूचित जाति के हैं। कांग्रेस दोनों समुदायों को अपने पाले में करने की कोशिश में है। वहीं, बीजेपी सिंधी, माली, महाजन तथा जाट वोटरों को अपने पाले में करने की फिराक में है। चूंकि सिंधी और माली बीजेपी के पारंपरिक मतदाता हैं। अजमेर उत्तर विधानसभा में कुल मतदाता करीब दो लाख आठ हजार हैं। जिनमें से 19 हजार सिंधी, 18 हजार महाजन, 11 हजार माली और तीन हजार जाट वोटर हैं। इसके साथ ही 13 हजार ब्राह्मण वोटर हैं जिस पर दोनों दलों की नजर है।

ये भी पढ़ें: राजस्थान विधानसभा चुनाव: सीएम उम्मीदवारी पर ये बोले अशोक गहलोत

कांग्रेस के अजमेर शहर अध्यक्ष विजय जैन ने कहा कि इस देवनानी के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर के साथ साथ लोग  सरकार के काम से खुश नहीं हैं इसलिए यहां की जनता ने कांग्रेस के पक्ष में मूड बना लिया है। बीजेपी के एक जिला पदाधिकारी ने कहा कि देवनानी ने अपने क्षेत्र में बहुत अच्छा काम किया है इसलिए उनका जीतना तय है। वह हर समय जनता से जुड़े कामों के लिए उपलब्ध रहते हैं।

गौरतलब है कि देवनानी ने 2003 में 24 हजार से जीत दर्ज की थी और 2008 के विधानसभा चुनाव में देवनानी ने कांग्रेस के डॉ गोपाल बहेती को हराया था लेकिन जीत का अंतर मात्र 700 वोट था। देवनानी 2013 में 21 हजार वोटों से जीते थे। राज्य में मतदान सात दिसंबर को है और मतगणना 11 दिसंबर को है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:rajasthan election 2018 bjp having tough fight in ajmer north seat