DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्ता संग्राम: मध्य प्रदेश में धरे रह गए भाजपा और कांग्रेस के आंतरिक सर्वे

bjp and congress madhya pradesh assembly election

मध्य प्रदेश की चुनावी जंग में भाजपा और कांग्रेस बड़े नेताओं के दबाब में टिकट बांटने के बाद अब बागियों के खतरों से जूझ रही हैं। दोनों पार्टियों के टिकट से वंचित नेता खुलकर दूसरी पार्टियों के साथ चुनाव मैदान में नजर आ रहे हैं। वे अपनी पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार के खिलाफ बगावत पर उतर आए हैं। कई शहरों में अधिकृत उम्मीदवारों का विरोध शुरू भी हो चुका है। 
इस बीच, सबसे पहले चुनाव में जाने वाले छत्तीसगढ़ के लिए दोनों दलों के शीर्ष नेताओं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष ने चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है।

पांच राज्यों में सबसे कांटे का चुनाव मध्य प्रदेश में हो रहा है। राजस्थान में कांग्रेस खुद को बढ़त पर मान रही है और छत्तीसगढ़ में भाजपा अपनी सरकार का दावा कर रही है। जबकि मध्य प्रदेश में दोनों पार्टियों के अपने-अपने दावे हैं। दोनों ने जबर्दस्त तैयारी भी की है। यहां सामाजिक समीकरण और एसटी-एससी ऐक्ट के खिलाफ सरकारी कर्मचारियों से लेकर सवर्ण वर्ग की नाराजगी सबसे अहम है। चुनाव के मौके पर दोनों पार्टियों में नेताओं का दलबदल भी जमकर हुआ है। 

कुछ इधर, कुछ उधर
भाजपा ने कांग्रेस से आए प्रेमचंद गुड्डू के बेटे और कुछ नेताओं को टिकट दिया है, तो कांग्रेस ने भाजपा से आए सरताज सिंह व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के साले संजय सिंह मसानी को टिकट दिया है। भिंड में कांग्रेस से आए राकेश सिंह को भाजपा का टिकट मिलने पर भाजपा के मौजूदा विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह बगावत पर उतारू हैं। राजनगर में कांग्रेस नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने सपा के टिकट पर लड़ रहे अपने बेटे नितिन चतुर्वेदी के लिए खुलकर प्रचार करने का ऐलान कर दिया है।

सर्वे: मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा आगे, राजस्थान में कांग्रेस को बढ़त

मान-मनौव्वल के साथ सख्ती
नाम वापसी तक दोनों पार्टियों के दो दर्जन से ज्यादा बागियों के मैदान में होने के आसार है। ऐसे में बड़े नेताओं ने तमाम दांव आजमाकर उनको मनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। हालांकि दोनों पार्टियों ने कहा है कि बागियों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। छत्तीसगढ़ में भाजपा अपने एक जनपद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को पार्टी से बाहर का रास्ता भी दिखा चुकी है।

मोदी ने की एक सभा
इस बीच छत्तीसगढ़ से भाजपा व कांग्रेस का मुख्य चुनाव प्रचार अभियान शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ में पहले चरण में 12 नवंबर को बस्तर क्षेत्र की 18 सीटों के लिए मतदान है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस चरण में शनिवार को जगदलपुर में एक रैली की। जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 9-10 नवंबर को आखिरी दो दिनों में इस क्षेत्र में पांच सभाएं और एक रोड शो करेंगे। गौरतलब है कि पिछले चुनाव में इस क्षेत्र में कांग्रेस भाजपा पर भारी पड़ी थी। 

'कांग्रेस ने गरीबी हटाओ का नारा दिया, शिवराज व PM मोदी ने किया पूरा'

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:madhya pradesh assembly election Surviving the BJP and the Congress in Madhya Pradesh