फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News चुनाव लोकसभा चुनाव 2024महिलाओं ने फिर पुरुषों को वोटिंग में पछाड़ा, 6वें चरण में किया बंपर मतदान

महिलाओं ने फिर पुरुषों को वोटिंग में पछाड़ा, 6वें चरण में किया बंपर मतदान

Lok Sabha Election: छठे चरण में 61.95 प्रतिशत पात्र पुरुष मतदाताओं और 64.95 प्रतिशत पात्र महिला मतदाताओं ने मतदान किया। बिहार में 51.95 फीसदी पुरुषों के मुकाबले 62.95 फीसदी महिलाओं ने मतदान किया।

महिलाओं ने फिर पुरुषों को वोटिंग में पछाड़ा, 6वें चरण में किया बंपर मतदान
Nisarg Dixitएजेंसी,नई दिल्लीWed, 29 May 2024 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

निर्वाचन आयोग द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों में कहा गया कि लोकसभा चुनाव के छठे चरण में लगातार दूसरी बार महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं से तीन प्रतिशत अधिक रही। पांचवें चरण में भी पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक संख्या में मतदान केंद्रों पर पहुंचीं। पच्चीस मई को छठे चरण के चुनाव में 58 संसदीय क्षेत्रों के लिए मतदान हुआ था। 

निर्वाचन आयोग के अनुसार, छठे चरण में 61.95 प्रतिशत पात्र पुरुष मतदाताओं और 64.95 प्रतिशत पात्र महिला मतदाताओं ने मतदान किया। बिहार में 51.95 फीसदी पुरुषों के मुकाबले 62.95 फीसदी महिलाओं ने मतदान किया। झारखंड में 65.94 फीसदी महिलाओं ने और 64.87 फीसदी पुरुषों ने मतदान किया। उत्तर प्रदेश में 57.12 प्रतिशत महिलाओं और 51.31 प्रतिशत पुरुषों ने मतदान किया। 

पश्चिम बंगाल में महिलाओं का मतदान प्रतिशत 83.83 और पुरुषों का मतदान प्रतिशत 81.62 रहा। ओडिशा में, महिलाओं का मतदान प्रतिशत 74.86 और पुरुषों का मतदान प्रतिशत 74.07 प्रतिशत रहा। पांचवें चरण में 61.48 प्रतिशत पुरुषों की तुलना में 63 प्रतिशत महिला मतदाता मतदान केंद्रों पर पहुंचीं। बिहार, झारखंड, लद्दाख, ओडिशा और उत्तर प्रदेश में महिलाओं की भागीदारी पुरुषों की तुलना में अधिक रही।

63.37 प्रतिशत मतदान हुआ
निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के छठे चरण में आठ राज्यों में 58 सीट पर 63.37 प्रतिशत मतदान हुआ। कुल सात चरणों में हो रहे लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 25 मई को 11.13 करोड़ योग्य मतदाताओं में से 7.05 करोड़ ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। आम चुनाव में अब तक हुए छह चरणों के मतदान में, 87.54 करोड़ निर्वाचकों में से लगभग 57.77 करोड़ ने वोट दिया। 

विश्व में सर्वाधिक संख्या में 96.88 करोड़ निर्वाचक भारत में हैं। निर्वाचक नामावली में शामिल नागरिकों को निर्वाचक माना जाता है जबकि मतदान करने वालों को मतदाता कहा जाता है। मौजूदा लोकसभा चुनाव के अब तक के छह चरणों में, चौथे चरण में सर्वाधिक मतदान हुआ जबकि पांचवें चरण में सबसे कम वोट पड़े। निर्वाचन आयोग द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, छठे चरण में 63.37 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं, पूर्व में आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार चौथे चरण में 69.16 प्रतिशत मतदान हुआ था, जो अब तक हुए छह चरणों के चुनाव में सर्वाधिक है। 

पिछले लोकसभा चुनाव में, छठे चरण में (सात राज्यो में 59 सीट पर) 64.4 प्रतिशत मतदान हुआ था। निर्वाचन आयोग के अनुसार, 20 मई को हुए पांचवें चरण के मतदान में 62.2 प्रतिशत मतदान हुआ था। चौथे चरण में 69.16 प्रतिशत मतदान हुआ था जो 2019 के चुनाव में चौथे चरण में हुए मतदान से 3.65 प्रतिशत अधिक है। तीसरे चरण में 65.68 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि 2019 के चुनाव में तीसरे चरण में 68.4 प्रतिशत मतदान हुआ था। 

मौजूदा चुनाव के दूसरे चरण में 66.71 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि 2019 में दूसरे चरण में 69.71 प्रतिशत मतदान हुआ था। पहले चरण में 66.14 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि 2019 में पहले चरण में 69.43 प्रतिशत मतदान हुआ था। लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में, एक जून को आठ राज्यों में 57 सीट पर मतदान होना है। चुनाव परिणाम चार जून को घोषित किये जाएंगे।