DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घोर लापरवाही! डॉक्टरों ने बांए पैर का इलाज कराने आई महिला का दायां पैर चीरा

odisha woman

हैदराबाद की में महिला के पेट का ऑपरेशन करने के दौरान डॉक्टरों द्वारा पेट में औजार छोड़ने की लापरवाही के ठीक एक दिन ओडिशा के एक अस्पताल में डॉक्टरों घोर लापरवाही सामने आई है। राज्य के पिछड़े जिले से आने वाली एक दलित महिला ने अस्पताल जाकर बाएं पैर में प्रॉब्लेम होने की शिकायत की। इस डॉक्टरों ने उसे ऑपरेशन के लिए भर्ती कर लिया। लेकिन महिला उक्त हैरान रह गई जब डॉक्टरों ने बताया कि उसके दाएं पैर का ऑपरेशन कर दिया गया।

मामला भुवनेश्वर के उत्तर में करीब 220 किमी दूर स्थिति क्योंझार जिले के खाबिल गांव की महिला मीतारानी जेना पास के कस्बे आनंदपुर के अस्पताल में गई और वहां बताया कि उसके बाएं पैर में घाव है और वह इसकी दवा कराने आई हैं। आरोप है कि डॉक्टरों ने महिला के पांव को देखकर अस्पताल के कर्मचारियों को कहा कि उसके पैर में पट्टी कर दी जाए। लेकिन कर्मचारियों में बाएं पैर के घाव में पट्टी करने की बजाए दाहिने पैर का ऑपरशेन कर डाला।

महिला ने बताया कि अस्पताल के डॉक्टरों ने पहले उसके बेहोशी (एनेस्थीसिया) का इंजेक्शन लगाया और जब उसे होश आया तो उसने पाया कि उसके बांए पैर का इलाज करने की बजाए के उसके दाहिने पैर का ऑपरेशन कर पट्टी कर दी गई। महिला की उम्र 40 के करीब है। इसके महिला और उसके पति ने अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर से शिकायत की।

महिला का कहना है मेडिकल कर्मचारियों की घोर लापरवाही की वजह से अब चल नहीं पा रही है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। मामले में अस्पताल के सीनियर अधिकारियों ने कहा है कि मामले की जांच की जाएगी और इसमें दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:odisha woman complains about wound in left leg doctors operate her right leg