DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांसद लिखी फॉर्च्यूनर कार ने बाइक सवार जीजा-साले को कुचला, दोनों की मौत

two killed in accident  representative image

बड़ा बाईपास स्थित लालपुर के नजदीक सांसद लिखी तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर कार ने बाइक से सड़क पार कर रहे जीजा-साले को कुचल दिया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद फॉर्च्यूनर सवार लोग पीछे चल रही दूसरी गाड़ी से भाग गए। बताया जा रहा है कि यह फॉर्च्यूनर कार पूर्व सांसद मुनकाद अली की है।


क्योलड़िया के अंबरपुर गांव निवासी पुष्पेंद्र सेन का बेटा नन्हें लाल बुधवार सुबह करीब दस बजे अपने फुफेरे साले भुता निवासी चन्द्र पाल के साथ बाइक से बरेली आ रहे थे। जब वे लोग बड़ा बाईपास स्थित लालपुर के पास पहुंचे तो लखनऊ की ओर से आ रही तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इससे बाइक चला रहे नन्हें लाल की मौके पर ही मौत हो गई। यह देखकर कार सवार लोग अपनी गाड़ी के पीछे चल रही दूसरी कार में बैठकर वहां से भाग गए। यह देखकर मौके पर लोगों की भीड़ जुटने लगी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब तक वहां एम्बुलेंस बुलाई, तब तक चन्द्र पाल की भी मौत हो गई। 

 

कार मेरी नहीं, मुनकाद अली के पास है: प्रशांत चौधरी
गाड़ी वुडहिल इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी के नाम खरीदी गई थी। दो साल पहले बसपा के तत्कालीन राज्यसभा सांसद मुनकाद अली को बेच दी थी। तभी से गाड़ी उनके पास है। बुधवार सुबह दुर्घटना के वक्त भी उन्हीं के आदमी गाड़ी चला रहे होंगे। 
प्रशांत चौधरी, पूर्व एमएलसी और वुडहिल इंफ्रास्ट्रक्चर के मालिक


पूर्व एमएलसी की कंपनी के नाम रजिस्टर्ड है सांसद की कार 

बरेली। बड़ा बाईपास स्थित लालपुर के नजदीक सांसद लिखी जिस तेज रफ्तार फॉर्च्यूनर ने बाइक सवार को कुचल दिया, वह पूर्व सांसद मुनकाद अली को पूर्व एमएलसी ने बेच दी थी। पुलिस की जांच में पता चला कि वह कार गाजियाबाद के पूर्व एमएलसी प्रशांत चौधरी की कंपनी के नाम पर रजिस्टर्ड है।


पुलिस के मुताबिक फॉर्च्यूनर कार गाजियाबाद में राजनगर के रियल स्टेट कंपनी वुडहिल इन्फ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर रजिस्टर्ड है। कंपनी गाजियाबाद के पूर्व एमएलसी प्रशांत चौधरी की है। गाड़ी के पीछे सांसद लिखा हुआ है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जब प्रशांत चौधरी बसपा में थे, तब उन्होंने यह फॉर्च्यूनर पूर्व सांसद मुनकाद अली को बेच दी थी। पूर्व सांसद ने फिलहाल उस कार को अपने नाम पर ट्रासंफर नहीं कराया। पुलिस ने अज्ञात चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

प्रशांत की पत्नी भी हैं पूर्व विधायक
प्रशांत चौधरी वुडहिल इंफ्रास्ट्रेक्चर कंपनी के मालिक हैं। ये यूपी में बसपा सरकार के दौरान एमएलसी रहे थे। साल 2012 से 17 तक प्रशांत की पत्नी हेमलता बागपत सीट से बसपा की विधायक रही हैं। फिलहाल दोनों अब भाजपा में हैं।

इज्जतनगर थाने में अज्ञात चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच शुरू हो गई है। कार किसकी है और किसको दी गई थी। जल्द ही इसका पता चल जाएगा। - प्रीतम पाल, सीओ थर्ड  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:MP written Fortuner car crashed two bike riders in bareilly