फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्राइमकमलेश तिवारी मर्डर : फुटेज में दिखी हत्यारों संग चल रही महिला कौन ?

कमलेश तिवारी मर्डर : फुटेज में दिखी हत्यारों संग चल रही महिला कौन ?

कमलेश तिवारी हत्याकांड में उत्तर प्रदेश की एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और कई थानों की पुलिस पड़ताल में जुटी तो उसकी तफ्तीश पल-पल में बदलती भी रही। सुबह सबसे पहले आपसी विवाद की बात सामने आयी तो सब छुटभैये...

कमलेश तिवारी मर्डर : फुटेज में दिखी हत्यारों संग चल रही महिला कौन ?
प्रमुख संवादाता,लखनऊSat, 19 Oct 2019 11:23 AM
ऐप पर पढ़ें

कमलेश तिवारी हत्याकांड में उत्तर प्रदेश की एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और कई थानों की पुलिस पड़ताल में जुटी तो उसकी तफ्तीश पल-पल में बदलती भी रही। सुबह सबसे पहले आपसी विवाद की बात सामने आयी तो सब छुटभैये बदमाशों और परिवार के करीबियों का ब्योरा जुटाने लगे। इसी बीच पहली सीसी फुटेज मिली तो उसमें भगवा और लाल रंग के कुर्ते में दो युवक कमलेश के घर की तरफ जाते दिखे।

कमलेश के समर्थकों को उनकी फोटो दिखायी जाने लगी। कोई भी इन हत्यारों को नहीं पहचान सका। इसी दौरान घटना के एक घंटे पहले एक बाइक सवार युवक दो बार कमलेश के घर के सामने से निकलता दिखा। इस युवक की खोज भी शुरू कर दी गई। स्थानीय लोग इस युवक के बारे में कुछ नहीं बता सके। रात में एक और फुटेज सामने आया जिसमें दोनों हत्यारे पैदल आराम से बतियाते आ रहे थे। इसमें लाल रंग का कुर्ता पहने बदमाश के हाथ में मिठाई वाला पैकेट था। इन दोनों के साथ ही पीछे की ओर लाल रंग का कुर्ता और सफेद टुपट्टे में एक महिला चल रही थी। इस महिला से दो बार भगवा कुर्ता पहने युवक ने पीछे मुड़कर बात भी की। अब पुलिस टीमें इस महिला का भी पता लगाने में जुटी है कि आखिर यह कौन थी जो उनके साथ कुछ दूर तक चली।


भगवा रंग आसानी से प्रवेश के लिये
10 घंटे की पड़ताल में पुलिस जब फुटेज में दिखे हत्यारों के बारे में कोई सुराग नहीं लगा सकी तो यह भी अंदेशा जताया जाने लगा कि दोनों बदमाशों ने भगवा व लाल रंग का कुर्ता सिर्फ इसलिये ही पहना था ताकि उन्हें कमलेश के घर में आसानी से प्रवेश मिल जाये।


चाय पी, फिर गोली चलाई
खुर्शेदबाग में दो मंजिला मकान में कमलेश तिवारी अपनी पत्नी किरन, दो बेटे रिषी व मृदुल के साथ रहते हैं जबकि बड़ा बेटा सत्यम पैतृक गांव महमूदाबाद में रहता है। किरन के मुताबिक दो लोग पति को फोन कर घर पर मिलने आए थे। कमलेश ने इन दोनों को ऊपर कमरे में बुला लिया और चाय बनाने को कहा था। बातचीत के दौरान ही कमलेश ने बेटे मृदुल को नौकर के साथ पान मसाला लेने के लिये नीचे भेज दिया था। किरन ने बताया कि जब बेटा लौटा तो देखा कि कमलेश खून से लथपथ नीचे पड़े हैं। फिर ड्राइवर ने उन्हें इस घटना के बारे में बताया। वह कमरे में पहुंची तो सब देखकर बदहवाश हो गई। उनका शोर सुनकर आस पास के लोग वहां पहुंच गए।


कमलेश तिवारी की हत्या के बाद एडीजी, आईजी और एसएसपी समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इस बीच आस पास के कैमरों की फुटेज खंगाली जाने लगी। इस दौरान ही एक कैमरे की फुटेज में दो हत्यारे दिख गए। इन लोगों ने भगवा और लाल रंग का कुर्ता पहन रखा था। इसमें ये लोग मुख्य सड़क की ओर से आते दिख रहे हैं।

धार्मिक टिप्पणी पर लगा था रासुका
एक सम्प्रदाय पर टिप्पणी करने के मामले में वर्ष 2015 में कमलेश को गिरफ्तार किया गया था तब कमलेश के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई हुई थी।