Kamlesh Tiwari murder case: murderers may be hiding in Moradabad and Rampur area police search operation underway - कमलेश तिवारी मर्डर केस: मुरादाबाद-रामपुर इलाके में हो सकते हैं हत्यारे, बेहद करीब पहुंची पुलिस DA Image
21 नवंबर, 2019|10:17|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमलेश तिवारी मर्डर केस: मुरादाबाद-रामपुर इलाके में हो सकते हैं हत्यारे, बेहद करीब पहुंची पुलिस

kamlesh tiwari killer

लखनऊ में लालबाग इलाके के होटल खालसा इन में रुकने वाले हत्यारों ने 18 अक्तूबर को खुर्शेदबाग में कमलेश तिवारी की हत्या की, फिर बरेली और मुरादाबाद में जा पहुंचे। इनकी लोकेशन यहां कई स्थानों पर मिली। शनिवार रात को रामपुर के पास भी एक बार इनकी लोकेशन मिली। इसके बाद से अचानक इनकी लोकेशन मिलना बंद हो गई। इसी आधार पर पुलिस सूत्र यह दावा कर रहे हैं कि हत्यारे यूपी में ही है। यह भी पता किया जा रहा है कि बरेली, रामपुर और मुरादाबाद में किसी स्थान पर किसी ने इन्हें शरण तो नहीं दी थी। 

 

19 अक्तूबर को साजिशकर्ताओं की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को यह भी पता चल गया था कि हत्यारे वारदात के बाद ट्रेन से बरेली पहुंचे, वहां एक अस्पताल में इलाज भी कराया। यहां क्राइम ब्रांच पहुंची लेकिन तब तक वह अस्पताल से निकल गए थे। यहां से रामपुर होते हुए मुरादाबाद तक हत्यारे गए। क्राइम ब्रांच, एसआईटी और एसटीएफ लगातार इन लोकेशन पर पहुंचती रही थी। एक अधिकारी ने बताया कि हत्यारों रात ही में यूपी से बाहर निकल जाने की फिराक में थे। पर, घायल हत्यारे का इलाज कराने के लिये ये बरेली में एक अस्पताल में काफी देर तक रुके थे। इस दौरान उनकी फोटो काफी वायरल हो रही थी, लिहाजा वह रामपुर व मुरादाबाद के बीच में ही कहीं रुक गए। 

 

मुरादाबाद में मदद भी मिली हत्यारों को!
एक पुलिस अधिकारी ने यह भी दावा किया है कि शूटरों को जब लगा कि वह पकड़े जा सकते हैं, तो उन्होंने अपने एक परिचित को सम्पर्क किया था। इस परिचित का एक काल के बाद ही मोबाइल स्विच ऑफ हो गया। इस कॉल का पता लगने के बाद पुलिस अंदेशा जता रही है कि हत्यारों को मुरादाबाद में मदद उपलब्ध करायी गई। 

नया सिम व मोबाइल तो नहीं लिया
पुलिस यह भी मान रही है कि लोकेशन लगातार ट्रेस होने की भनक उन्हें लग चुकी है। इसलिये  कानपुर की तरह रामपुर या मुरादाबाद में उन्होंने नया मोबाइल व सिम कार्ड न ले लिया हो। ताकि उनकी लोकेशन न मिल सके।  
 

सूरत के अखबार का दावा, हरियाणा में मिली आखिरी लोकेशन-

सूरत के स्थानीय अखबार में दावा किय गया है कि कमलेश तिवारी के दोनों हत्यारों की आखिली लोकेशन हरियाणा के अंबाला में मिली है। पुलिस ने बताया कि आरोपी शेख अशफाक और पठान मोइनुद्दीन अहमद ने लखनऊ के होटल खालसा में अपनी आईडी से होटल बुक किया था। आरोपी किसी परिचित या दोस्त के यहां शरण ली हो सकती है। पुलिस ने आरोपियों के बारे में सूचना देने वालो को ढाई लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा है।

कमलेश तिवारी हत्याकांड: साजिश में गिरफ्तार तीन आरोपियों को 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड में भेजा

कमलेश तिवारी हत्याकांड में शूटरों की पहचान को लेकर बड़ा सवाल!

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kamlesh Tiwari murder case: murderers may be hiding in Moradabad and Rampur area police search operation underway