Kamlesh Tiwari murder case: main accused Ashfaq and Moinuddin arrested ny Gujarat ATS due to their ran out of money - कमलेश तिवारी के हत्यारे चढ़े गुजरात एटीएस के हत्थे, पैसे खत्म होने पर लौट रहे थे सूरत DA Image
17 नबम्बर, 2019|3:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमलेश तिवारी के हत्यारे चढ़े गुजरात एटीएस के हत्थे, पैसे खत्म होने पर लौट रहे थे सूरत

kamlesh tiwari murder case

कमलेश तिवारी की हत्या करने के दोनों मुख्य आरोपी शेख अशफाक और मोइनुद्दीन पठान को मंगलवार देर शाम को गुजरात बॉर्डर के पास राजस्थान से गिरफ्तार कर लिए गए। गुजरात पुलिस ने एक प्रेस नोट जारी कर इस बारे में मीडिया को विस्तृत जारकारी दी। 


गुजरात पुलिस के अनुसार, आरोपी अशफाकहुसैन जाकिरहुसैन शेख 34 साल का है जो कि ग्रीनव्यू अपार्टमेंट, पद्मावती सोसाइटी, लिंबायत सूरत का रहने वाला है। अशफाक पेशे से मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव है। वहीं दूसरे हत्यारोपी का पूरा नाम मुइनुद्दीन खुर्शीद पठान है जिसकी उम्र 27 साल है। मुइनुद्दीन पिछड़ी जाति कालोनी, उमरवाडा सूरत का रहने वाला है और वह पेशे से फूड डिलीवरी ब्वॉय है। 

 

गुजरात पुलिस ने बताया कि 18 अक्टूबर को लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद लगातार दोनों भाग रहे थे। इससे वह घर से जो पैसे लेकर निकले थे वह खत्म हो गए थे। इस बारे में उन्होंने एक अपने घरवालों से संपर्क भी किया था। इधर गुजरात पुलिस एटीएस पहले से ही आरोपी और उनके परिजनों को तकनीकी व भौतिक सर्विलांस पर रखा हुआ था। यही कारण है कि पुलिस ने पीछा करके आरोपी को धर दबोचा।


दोनों हत्यारों की गिरफ्तारी में जो टीम जुटी हुई थी उसमें गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला, सहयोगी अफसर एसीपी बीपी रोजिया, एसीपी बीएच चावडा व अन्य कई अफसर जुटे हुए थे।

 

 


गौरतलब है कि 18 अक्टूबर को दोपहर हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष व हिन्दूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या लखनऊ स्थित खुर्शीदबाद में उनके घर में बने ऑफिस में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने हत्यारों को ऊपर ढाई-ढाई लाख रूपये का ईनाम रखा था। इससे पहले, कमलेश तिवारी हत्याकांड में तीन साजिशकर्ताओं को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। मंगवार को कर्नाटक से भी एक संदिग्ध मददगार गिरफ्तार कर लिया गया।

इससे पहले पुलिस ने लखनऊ के खालसा इन होटल से खून से सने भगवान रंग के कुर्ते, खून लगा हत्या में प्रयुक्त चाकू और कुछ अन्य सामान बरामद किया था। आरोपी लगातार पुलिस को चकमा दे रहे थे और राहगीरों का मोबाइल मांगकर अपने करीबियों से संपर्क कर रहे थे।

आरोपियों की गिरफ्तारी पर कमलेश तिवारी के परजनों ने राहत की सांस ली है। कमलेश तिवारी की मां ने गुजरात एटीएस की कामयाबी पर संतोष जाहिर किया है और मांग की है कि आरोपियों को फांसी की सजा दिलाई जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kamlesh Tiwari murder case: main accused Ashfaq and Moinuddin arrested ny Gujarat ATS due to their ran out of money