DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पन्ना: जज के खिलाफ बलात्कार एवं दहेज मांगने का केस दर्ज

court gavel

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले की अजयगढ़ दीवानी अदालत में पदस्थ न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी (जेएमएफसी) मनोज सोनी के खिलाफ सरकारी नौकरी में पदस्थ एक महिला के साथ शादी का झांसा देकर कथित रूप से बलात्कार करने और दहेज मांगने के सिलसिले में पन्ना में मामला दर्ज किया गया है।

पन्ना पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने आज कहा, ''एक महिला की शिकायत पर जेएमएफसी मनोज सोनी के खिलाफ पन्ना पुलिस ने पन्ना के अजयगढ़ पुलिस थाने में कल भादंवि की धारा 376 (बलात्कार) एवं दहेज निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।


उन्होंने कहा, ''एफआईआर दर्ज कर प्रकरण को विवेचना में लिया गया है। विवेचना में जो भी तथ्य सामने आयेंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जायेगी। पुलिस अधीक्षक ने कहा, ''न्यायिक अधिकारी की गिरफ्तारी के लिए उच्च न्यायालय की अनुमति आवश्यक है। गिरफ्तारी की आवश्यकता होने पर अनुमति के लिए उच्च न्यायालय को पत्र लिखा जायेगा। 


पीड़िता ने आज पन्ना में मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया,'' मनोज ने शादी का झांसा देकर मेरा शारीरिक शोषण किया और दहेज के लालच में शादी करने से अब मुकर गए हैं। मुझे जान का खतरा है। अब किसी दूसरी लड़की से मनोज सोनी ने अपनी शादी 18 जून को तय कर दी है।


गौरतलब है कि पीड़िता ने आरोपी जेएमएफसी के विवाह पर रोक लगाने एवं उनकी गिरफ्तारी की मांग करते हुए जबलपुर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी, जिस पर न्यायमूर्ति एस के सेठ और न्यायमूर्ति वी के शुक्ला की अवकाशकालीन खंडपीठ ने याचिका पर 7 जून को सुनवाई की थी। पीठ ने मामले की सुनवाई 18 जून को निर्धारित की है।


इसी बीच, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल मोहम्मद फहीम अनवर ने कहा, ''जेएमएफसी मनोज सोनी ने पुलिस द्वारा प्रकरण दर्ज किये जाने की जानकारी प्रशासनिक स्तर पर उच्च न्यायालय को दी है। महिला की शिकायत पर प्रशासनिक स्तर पर जेएमएफसी के खिलाफ जांच जारी है। जेएमएससी को नोटिस जारी करते हुए उनसे स्पष्टीकरण मांगा जायेगा। पुलिस ने जेएमएफसी की गिरफ्तारी की अनुमति के लिए उच्च न्यायालय से किसी प्रकार का पत्राचार नहीं किया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fir of rape and dowry filed against a Judicial Magistrate of panna mp