फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट'युजी ने बहुत पैसे मांग लिए', चहल का RCB को लेकर चौंकाने वाला खुलासा, बताया राजस्थान से जुड़कर क्या फायदा हुआ

'युजी ने बहुत पैसे मांग लिए', चहल का RCB को लेकर चौंकाने वाला खुलासा, बताया राजस्थान से जुड़कर क्या फायदा हुआ

युजवेंद्र चहल ने आरसीबी द्वारा रिटेन नहीं करने पर अपने जज्बात का इजहार किया है। चहल 8 साल तक आरसीबी के लिए खेले और फिर राजस्थान टीम से जुड़े। राजस्थान ने चहल को आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्शन में खरीदा था।

'युजी ने बहुत पैसे मांग लिए', चहल का RCB को लेकर चौंकाने वाला खुलासा, बताया राजस्थान से जुड़कर क्या फायदा हुआ
Md.akram लाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 16 Jul 2023 12:04 PM
ऐप पर पढ़ें

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स (आरआर) के लिए खेलते हैं। वह इससे पहले लंबे समय तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) से जुड़े रहे। वह 2014 से 2021 तक आरसीबी का हिस्सा थे। चहल को आरसीबी ने रिलीज कर दिया था, जिसके बाद राजस्थान ने उन्हें आईपीएल 2022 ऑक्शन में 6.50 करोड़ रुपये में खरीदा। चहल ने आरसीबी द्वारा रिटेन ना करने पर अब चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि आरसीबी से कोई फोन कॉल तक नहीं आया था। बता दें कि चहल ने साल 2013 में मुंबई इंडियंस (एमआई) की से आईपीएल डेब्यू किया था।

रणवीर अल्लाहबादिया के शो में चहल से सवाल किया गया कि बहुत से लोगों का अजीब लगा जब आरसीबी ने आपको रिटेन नहीं किया। आपको कैसे लगा था? चहल ने इसके जवाब में कहा, ''डेफिनेटली बहुत बुरा लगा, क्योंकि मेरा मुख्य सफर 2014 से शुरू हुआ था। मैं 8 साल उस टीम से खेला। मुझे काफी कुछ वहां से मिला। उसी दौरान में भारतीय टीम के लिए डेब्यू किया। जब मैं 2014 में आरसीबी में आया थो मुझे परफॉर्म करने के लिए चांस दिया। विराट भाई ने पहले मैच से भरोसा दिखाया। लेकिन थोड़ा सा बुरा लगता है जब आप टीम के लिए आठ साल खेलते हैं, क्योंकि एक फैमिली बन जाती है।''

उन्होंने कहा, ''फिर मैंने देखा कि तरह-तरह की बातें सामने आईं। अरे युजी ने बहुत पैसे मांग लिए होंगे। यह मांग लिया होगा वो मांग लिया होगा। बहुत सारी चीजें आई थीं। मैंने एक इंटरव्यू में क्लियर किया था कि कुछ पैसा नहीं मांगा। मैंने कुछ नहीं बोला कि मुझे इतना पैसा चाहिए। मुझे पता है कि मैं कितना डिजर्व करता हूं। मुझे इस बात का ज्यादा बुरा लगा कि कोई फोन कॉल नहीं आया। ना मुझे बताया गया। कम से कम बात तो करते। मैं उनके (आरसीबी) लिए करीब 114 मैच खेले। मुझे नहीं पता चला कि अचानक क्या हुआ।

चहल ने आगे कहा, ''मैं ऑक्शन में आया तो उन्होंने (आरसीबी) प्रॉमिस किया कि हम आपके लिए ऑल आउट जाएंगे। लेकिन जब मैं उधर गया तो बहुत गस्सा था। मैं आठ साल किसी टीम को दिए। चिन्नास्वामी मेरा फेवरेट ग्राउंड है। मैंने आरसीबी के कोच से बात भी नहीं की थी। जब राजस्थान और आरसीबी का मैच हुआ तो मैंने किसी से बात नहीं की। ऑक्शन ऐसी जीज है, जिसमें कुछ भी हो सकता है। आप कहीं भी जा सकते हैं। मुझे भी एहसाह हुआ कि जो भी होता है अच्छे के लिए होता है। राजस्थान में आकर एक फायदा हुआ है कि मैं डेथ बॉलर बन गया। मेरी यहां आकर क्रिकेट की ग्रोथ 5-10 प्रतिशत बढ़ी।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें