DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवराज सिंह को मैदान पर विदाई मिलनी चाहिए : कपिल देव

भारत के महान कप्तानों में शुमार कपिल ने कहा, ''मैं युवराज को आगे की जिंदगी के लिए शुभकामनाएं देते हूं और उम्मीद करूंगा कि उन्होंने क्रिकेट में जो किया अपनी आने वाली जिंदगी में इससे बेहतर करें।''

kapil dev  biplov bhuyan ht photo

भारतीय क्रिकेट टीम को पहला विश्व कप (ICC World Cup) दिलाने वाले कप्तान कपिल देव का कहना है कि वह दिग्गज ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को भारत की अपनी ऑलटाइम 11 वनडे टीम में जगह देंगे और उन्हें मैदान पर विदाई मिलनी चाहिए। सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारत के बेहतरीन ऑलराउंडर खिलाड़ियों में शुमार युवराज ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास की घोषणा की थी जिसके बाद दुनियाभर के खलड़ियों ने उन्हें शुभकामनाएं दी। 

कपिल ने 'अपने 11 फैंटसी लीग' के लॉन्च के मौके पर कहा, “मैं कहना चाहता हूं कि युवराज बहुत बेहतरीन क्रिकेटर हैं। अगर मैं भारत की अपनी ऑलटाइम 11 वनडे टीम बनाऊंगा तो युवराज को उसमें जरूर शामिल करूंगा क्योंकि वह एक शानदार खिलाड़ी रहे हैं।”

'अगर उस वक्त चोट न लगी होती तो युवराज सिंह सारे रिकॉर्ड तोड़ देते'

कपिल ने कहा, “युवराज जैसे खिलाड़ी को मैदान पर विदाई मिलनी चाहिए। मैं यह देखना चाहूंगा क्योंकि उन्होंने शानदार क्रिकेट खेली है। उन्होंने अपने खेल से युवाओं को दीवाना बनाया। हमारे देश को ऐसे नायकों की जरूरत है जो आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित कर सके। उन्हें पता चल सके कि युवराज ने अपनी जिंदगी में क्या झेला है। हमें देश में युवराज जैसे लीडर चाहिए क्योंकि आने वाली पीढ़ी उन्हें अपना आदर्श मानती है।''

भारत के महान कप्तानों में शुमार कपिल ने कहा, ''मैं युवराज को आगे की जिंदगी के लिए शुभकामनाएं देते हूं और उम्मीद करूंगा कि उन्होंने क्रिकेट में जो किया अपनी आने वाली जिंदगी में इससे बेहतर करें।''

युवराज ने अपना अंतिम टेस्ट साल 2012 में खेला था। सीमित ओवरों के क्रिकेट में वह अंतिम बार 2017 में दिखे थे। युवराज ने साल 2000 में पहला वनडे, 2003 में पहला टेस्ट और 2007 में पहला टी-20 मैच खेला था।

टीम को जब जरूरत थी, तब युवराज चैम्पियन बनकर सामने आए: सचिन तेंदुलकर

चंडीगढ़ में साल 1981 में जन्में युवराज ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी-20 मैच खेले। टेस्ट में युवराज ने तीन शतकों और 11 अर्धशतकों की मदद से कुल 1900 रन बनाए जबकि वनडे में उन्होंने 14 शतकों और 52 अर्धशतकों की मदद से 8701 रन जुटाए। 

इसी तरह टी-20 मैचों में युवराज ने कुल 1177 रन बनाए। इसमें आठ अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में 9, वनडे में 111 और टी-20 मैचो में 28 विकेट भी लिए हैं।  युवराज ने 2008 के बाद कुल 231 टी-20 मैच खेले हैं और 4857 रन बनाए हैं। उन्होंने टी-20 मैचों में 80 विकेट भी लिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Yuvraj Singh deserves a proper farewell says Kapil Dev