DA Image
3 जुलाई, 2020|2:47|IST

अगली स्टोरी

कप्तानी खोने पर बोले यूनुस खान, अगर आप सच बोलते हैं तो आपको पागल मान लिया जाता है

अपने कप्तानी करियर की बात करते हुए यूनुस खान का कहना है कि मेरी ईमानदारी की वजह से मेरी कप्तानी गई। उन्होंने खुलासा किया कि कुछ खिलाड़ियों का एक समूह था, जो कप्तान के लिए प्रतिबद्ध नहीं था।

file image of former pakistan captain younis khan  getty images

पाक बल्लेबाज यूनुस खान पाकिस्तान टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 118 टेस्ट मैच खेलते हुए  52.05 की औसत से 10099 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 34 शतक जड़े और उनका अधिकम स्कोर 313 रन रहा। वह पाकिस्तान के बेस्ट खिलाड़ियों में से एक हैं। उनके बारे में बात करते हुए लोग अक्सर भूल जाते हैं कि वह पाकिस्तान क्रिकेट के इतिहास में केवल दो विश्व कप विजेता कप्तानों में से एक हैं। 

यूनुस खान की कप्तानी में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में 2009 में आईसीसी पुरुष टी-20 वर्ल्ड कप जीता था। इससे पहले इमरान खान की कप्तानी में पाकिस्तान ने 1992 में पहला वर्ल्ड कप टाइटल जीता था। 1992 के बाद यूनुस खान  की कप्तानी में पाकिस्तान को एक बार फिर से वर्ल्ड कप जीतने का मौका मिला।

छलका भज्जी का दर्द, बोले- सिलेक्टर्स को लगता है कि मैं बूढ़ा हो गया हूं

2009 की टी-20 वर्ल्ड कप जीत के बाद यूनुस खान को छह महीने के भीतर ही कप्तानी से हटा दिया गया। इसके बाद यूनुस खान को कप्तानी से हटाए जाने के बारे में कई बातें सामने आईं, जिसमें यह भी शामिल था कि ड्रेसिंग रूम में कुछ खिलाड़ियों को उनके कप्तान रहने से दिक्कत थी। 

यूनुस खान को लगता है ईमादारी की वजह से गई कप्तानी
अपने कप्तानी करियर की बात करते हुए यूनुस खान का कहना है कि मेरी ईमानदारी की वजह से मेरी कप्तानी गई। उन्होंने खुलासा किया कि कुछ खिलाड़ियों का एक समूह था, जो कप्तान के लिए प्रतिबद्ध नहीं था। क्योंकि जैसा वे चाहते थे, मैं वैसा कप्तान नहीं था। उन्होंने गल्फ न्यूज से बात करते हुए कहा, ''आप अक्सर जीवन में एक ऐसी स्थिति का सामना करते हैं जहां अगर आप सच बोलते हैं तो आपको पागल समझा जाने लगता है। मेरी गलती बस इतनी थी कि मैं  खिलाड़ियों के उस समूह पर उंगली उठा रहा था, जो देश के लिए मेहनत नहीं कर रहे थे।''

मैं जानता कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है
यूनुस ने यह भी कहा कि बाद में इन खिलाड़ियों के साथ उनकी बात हो गई थी। उन्होंने याद किया कि उनके पिता ने उन्हें हमेशा विनम्र रहने और ईमानदार रहने की शिक्षा दी थी। उन्होंने आगे कहा, ''खिलाड़ियों को हालांकि बाद में पछतावा हुआ और हम उसके बाद लंबे समय तक टीम के साथियों के लिए खेले। मुझे पता था कि मैंने कुछ गलत नहीं किया है, क्योंकि मेरे पास मेरे पिता से सीखे गए सबक थे। और यह सबक थे- हमेशा सच बोलो और हमेशा विनम्र बनो।''

टी-20 की कप्तानी रोहित शर्मा को देकर विराट कोहली का तनाव कम करें: पूर्व भारतीय पेसर

यूनुस खान क्रिकेट करियर
42 साल के यूनुस खान  ने 17 साल पाकिस्तान के लिए खेलने के बाद 2017 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 265 वनडे मैचों में 31.24 की औसत से 7249 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 7 शतक और 34 अर्धशतक जड़े। उन्होंने 25 टी-20 मैचों में 22.10 की औसत से 442 बनाए, जिसमें दो अर्धशतक शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Younis Khan on losing Pakistan captaincy say you are considered as a madman if you speak truth