फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटयशस्वी जायसवाल ने बजा दिया बैजबॉल की बॉलिंग का बैंड, तीसरे टेस्ट मैच में ठोका तूफानी शतक

यशस्वी जायसवाल ने बजा दिया बैजबॉल की बॉलिंग का बैंड, तीसरे टेस्ट मैच में ठोका तूफानी शतक

बाएं हाथ के ओपनर यशस्वी जायसवाल ने बैजबॉल की बॉलिंग का बैंड बजा दिया। उन्होंने राजकोट में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में तूफानी शतक ठोका। उनका ये टेस्ट करियर का तीसरा शतक है।

यशस्वी जायसवाल ने बजा दिया बैजबॉल की बॉलिंग का बैंड, तीसरे टेस्ट मैच में ठोका तूफानी शतक
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 17 Feb 2024 04:55 PM
ऐप पर पढ़ें

बाएं हाथ के ओपनर यशस्वी जायसवाल ने राजकोट के निरंजन शाह स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में बैजबॉल की बॉलिंग का बैंड बजा दी। उन्होंने पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के तीसरे मुकाबले में तूफानी शतक ठोका। उन्होंने भारतीय टीम को मजबूती दिलाई, क्योंकि एक बैटर इस समय कम है। आर अश्विन इस टेस्ट मैच में आगे हिस्सा नहीं लेंगे। ऐसे में विशाल स्कोर तक पहुंचने के लिए भारत को एक ओपनर से बड़ी पारी की उम्मीद थी। इसी कड़ी में उन्होंने शतक ठोक दिया। पांच मैचों की इस टेस्ट सीरीज का ये उनका दूसरा शतक है।

यशस्वी जायसवाल के टेस्ट करियर का तीसरा शतक है। उन्होंने लगातार दूसरे टेस्ट मैच में शतक ठोका है। इससे पहले सीरीज के दूसरे मैच में उन्होंने विशाखापट्टनम में दोहरा शतक जड़ा था, जो उनके करियर का पहला दोहरा शतक था। यशस्वी ने महज 7वें मैच में ही तीसरा शतक पूरा किया। करियर के पहले टेस्ट मैच में भी जायसवाल ने वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक जड़ा था। जायसवाल ने जेम्स एंडरसन जैसे गेंदबाज के खिलाफ जमकर रन बनाए। एंडरसन को टेस्ट क्रिकेट का इतना अनुभव है, जितनी उम्र इस समय यशस्वी जायसवाल की है।

ऑस्ट्रेलिया ने एकमात्र टेस्ट मैच में साउथ अफ्रीका को बुरी तरह हराया, सदरलैंड ने ठोका दोहरा शतक

जायसवाल ने तीसरे टेस्ट मैच में 122 गेंदों में 9 चौके और 5 छक्कों की मदद से अपना शतक पूरा किया। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 81.97 का था, जो दर्शाता है कि उन्होंने किस गति से बल्लेबाजी की। जायसवाल वनडे और टी20 में भी तेज गति से बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी आक्रामक शैली अपनाई हुई है, जिसके लिए इंग्लैंड की टीम फेमस है। इंग्लैंड को उनकी आक्रामक शैली के लिए बैजबॉल नाम मिला है। हालांकि, गेंदबाजी में इंग्लैंड की टीम उतनी खतरनाक नहीं है। इंग्लैंड के पास इस सीरीज में कोई अनुभवी स्पिनर नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें