DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वर्ल्ड कप से पहले युजवेंद्र चहल ने इंग्लैंड की पिचों को लेकर कही ये बात

ICC World Cup 2019: युजवेंद्र चहल ने कहा, ''हमारे सभी पेसर 145 किलोमीटर प्रतिघंटा से अधिक की रफ्तार पर गेंदबाजी कर रहे हैं। वे किसी भी परिस्थिति में विकेट लेने में सक्षम हैं।''

yuzvendra chahal  ht

युजवेंद्र चहल को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2019) में बेहतर प्रदर्शन के बाद भी विश्व कप टीम (ICC World Cup 2019) में जगह बनाने के लिए एक लंबा सफर तय करना पड़ा है। वहीं, कुलदीप यादव ने टीम प्रबंधन को यह सोचने पर विवश कर दिया कि 'चाइनामैन' गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा से वह बेहतर साबित होंगे। इंग्लैंड में खेली गई 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी में ये दोनों स्पिनर नहीं थे। हालांकि, भारत इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान से फाइनल मैच में हार गया था। 

युजवेंद्र चहल अबतक 41 वनडे मैचों में 4.89 की इकोनॉमी से 72 विकेट लेकर अपनी उपयोगिता साबित कर चुके हैं। वहीं, कुलदीप यादव ने अबतक 44 वनडे मैचों में 4.93 की इकोनॉमी से 87 विकेट लिए हैं। 
कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल दोनों ही मैच विनिंग खिलाड़ी साबित हुए हैं। युजवेंद्र चहल विश्व कप प्लेइंग इलेवन में शामिल होने के लिए कुलदीप और जडेजा से कड़ा मुकाबला करने को तैयार हैं। आरसीबी के इस गेंदबाज ने विश्व कप की तैयारियों के बारे में हिंदुस्तान टाइम्स से खास बातचीत की। 

सौरव गांगुली ने बताया, ये 4 देश खेलेंगे वर्ल्ड कप 2019 का सेमीफाइनल

युजवेंद्र चहल ने कहा, ''हमारे सभी पेसर 145 किलोमीटर प्रतिघंटा से अधिक की रफ्तार पर गेंदबाजी कर रहे हैं। वे किसी भी परिस्थिति में विकेट लेने में सक्षम हैं। हम लंबे समय से साथ खेल रहे हैं। हम एक-दूसरे की ताकत को जानते हैं। इससे टीम अपने मकसद को हासिल करने के करीब पहुंचती है।''

चहल ने कहा, ''मेरी सबसे बड़ी ताकत यह है कि जब मैं गेंदबाजी करता हूं तो मैं बल्लेबाज का नाम याद नहीं रखता। मैं कप्तान के अनुसार गेंदबाजी करता हूं। मेरी यही मानसिकता पिछले कुछ सालों में बनी है।'' हर खिलाड़ी करियर में खराब दौर से गुजरता है? इस पर चहल ने कहा, ''यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कैसी गेंदबाजी कर रहे हैं। यदि आप अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं और विकेट नहीं मिल रही तो यह बड़ा मुद्दा नहीं है। कई बार मैं इकोनॉमिकल होता हूं, लेकिन मुझे उतनी विकेट नहीं मिलती। लेकिन यदि मैं अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहा हूं तो यह चिंता की बात है। तब मुझे दोबारा बेसिक्स की तरफ देखना होगा और चीजों को दोबारा सही से समझना होगा।''

विश्व कप में वे किस तरह की वैरियेशन का इस्तेमाल करेंगे? इस पर चहल ने कहा, ''मैं टॉप स्पिन और स्लाडर पर काम कर रहा हूं। चहल 2018 में इंग्लैंड का दौरा कर चुके हैं। वहां की पिचों के बारे में वह कहते हैं, ''कई बार वहां की पिचें भारत से भी ज्यादा धीमी होती हैं। मुझे लगता है विश्व कप के दौरान भी ऐसा ही होगा। अगर ऐसा होता है तो हमारे लिए अच्छा होगा, हमारे स्पिनर अपना प्रभाव वहां डाल पाएंगे।''

युजवेंद्र चहल ने आगे कहा, ''विश्व कप में शामिल होना मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है। मेरा यह पहला विश्व कप है जिसका मै बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। तीन साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद मुझमें आत्मविश्वास आ गया है। किसी भी खिलाड़ी के लिए यह उसक सबसे बड़ी ताकत होती है। जब आप टॉप खिलाड़ियों के खिलाफ परफॉर्म करते हैं तो इससे आपका मोरल बढ़ता है।''

वर्ल्ड कप से पहले पाकिस्तानी कप्तान ने टीम इंडिया को लेकर कही ये बात, हो गए ट्रोल

क्या वनडे में चहल की रणनीति टी-20 से अलग होगी? इस पर चहल का कहना है, ''टी-20 में गलतियों की संभावना कम है। यहां आपको केवल चार ओवर फेंकने होते हैं जबकि वनडे में 10 ओवर। वनडे में यदि आपको एक दो ओवरों में मार भी पड़ जाए तो आप वापसी कर सकते हैं।''

इंडियन प्रीमियर लीग के इस सीजन में आरसीबी का पहला चरण खराब रहा, लेकिन इसके बाद टीम में सुधार हुआ? इस पर चहल का कहना है, ''हम लगातार छह मैच हारे, हमें मूमेंटम नहीं मिल रहा था। लेकिन पिछले चार पांच मैचों से हम वाकई बहुत अच्छा खेल रहे हैं। हमने तीन लगातार मैच जीते। अब हम ज्यादा आत्मविश्वास से भरे हैं। यह अच्छा है कि मैं विश्व कप से पहले आईपीएल खेल रहा हूं। मेरे लिए यह अनुभव हासिल करने का समय है। इससे मुझे वैरिएशन सीखने में भी मदद मिलेगी।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:world cup 2019 Yuzvendra Chahal says Like last year in england slow pitches will be great