फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटमहिला एशिया कप : 6 साल बाद पाकिस्तान से हारा भारत, 2016 के बाद चिर प्रतिद्वंद्वी भारत को एशिया कप में 13 रन हराया

महिला एशिया कप : 6 साल बाद पाकिस्तान से हारा भारत, 2016 के बाद चिर प्रतिद्वंद्वी भारत को एशिया कप में 13 रन हराया

पाकिस्तान ने भारत को 13 रन से हराया। इस मैच से पहले भारत का पाकिस्तान पर जीत का रिकॉर्ड 10-2 था। पाकिस्तान ने इससे पहले भारत पर जीत 2016 में नई दिल्ली में टी20 विश्व कप के दौरान हासिल की थी।

महिला एशिया कप : 6 साल बाद पाकिस्तान से हारा भारत, 2016 के बाद चिर प्रतिद्वंद्वी भारत को एशिया कप में 13 रन हराया
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 07 Oct 2022 05:40 PM
ऐप पर पढ़ें

बल्लेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन से भारत को शुक्रवार को महिला एशिया कप टी20 क्रिकेट मैच में पाकिस्तान से 13 रन से हार का सामना करना पड़ा। इससे पाकिस्तान ने चिर प्रतिद्वंद्वी भारत पर छह वर्षों में पहली जीत हासिल की। एशिया की सबसे मजबूत टीमों में शुमार भारत का बल्लेबाजी प्रदर्शन निराशाजनक रहा जिससे पूरी टीम पाकिस्तान द्वारा बनाये गये छह विकेट पर 137 रन के स्कोर का पीछा करते हुए 19.4 ओवर में महज 124 रन पर सिमट गयी। 

वहीं पाकिस्तान के लिए शानदार वापसी रही जिसे 24 घंटे से भी कम समय पहले थाईलैंड से उलटफेर का सामना करना पड़ा था। भारत की आधी टीम 65 रन के स्कोर पर पवेलियन पहुंच चुकी थी, उसे हर तरह की समस्या का सामना करना पड़ा जिसमें स्टार खिलाड़ी स्मृति मंधाना (19 गेंद में 17 रन) सहित ज्यादातर खिलाड़ियों ने अपना विकेट आसानी से गंवा दिया। 

इस मैच से पहले भारत का पाकिस्तान पर जीत का रिकॉर्ड 10-2 था। पाकिस्तान ने इससे पहले भारत पर जीत 2016 में नयी दिल्ली में टी20 विश्व कप के दौरान हासिल की थी। पूजा वस्त्राकर खराब क्षेत्ररक्षण पर एक रन चुराने के प्रयास में रन आउट हो गयीं, जबकि दयालन हेमलता (22 गेंद में 20 रन) ने अच्छी शुरूआत का फायदा नहीं उठाकर अपनी टीम को निराश किया। 

हरमनप्रीत कौर की फिटनेस पर भी सवाल उठे क्योंकि वह सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरीं और सस्ते में आउट हो गयीं। मैच के बाद निराश हरमनप्रीत ने कहा, ''क्रीज पर हम अन्य बल्लेबाजों को मौका देने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मुझे लगता है कि आज यह महंगा पड़ गया। इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता था। मध्य के ओवरों में हम स्ट्राइक रोटेट नहीं कर सके। ''

भारत को अंतिम छह ओवर में 61 रन की जरूरत थी। ऋचा घोष (13 गेंद में 26 रन) ने स्पिनरों के खिलाफ तीन छक्के जड़कर भारतीय टीम को मैच में वापसी करायी लेकिन वह 19 ओवर में डीप में कैच आउट हुई। उनके आउट होने से भारतीय उम्मीदें भी समाप्त हो गयीं। 

इससे पहले पाकिस्तानी बल्लेबाजों का चिर प्रतिद्वंद्वी भारत के खिलाफ यह बेहतर प्रदर्शन रहा। उसने निदा दार के नाबाद अर्धशतक से छह विकेट पर 137 रन ही बनाए। निदा ने अपने पांवों का अच्छा इस्तेमाल किया, विशेषकर स्पिनरों के खिलाफ। उन्होंने 37 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 56 रन बनाये। उनके अलावा पाकिस्तान की कप्तान बिसमाह मारूफ ने 32 रन का योगदान दिया। इन दोनों ने 58 गेंद में 76 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी भी निभायी।

भारतीय गेंदबाजों में दीप्ति शर्मा सबसे सफल रहीं जिन्होंने चार ओवर में 27 रन देकर तीन विकेट चटकाये। दीप्ति ने पहले पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज मुनीबा अली (17 रन) को स्टंप आउट कराया और फिर दो गेंद बाद ओमेमा सोहिल को शून्य पर पगबाधा आउट किया।

पूर्व कोच रवि शास्त्री का बड़ा दावा- जसप्रीत बुमराह, रविंद्र जडेजा के ना होने से भी टीम वर्ल्ड कप जीत सकती है, नए

बिस्माह भी आठ रन पर भाग्यशाली रहीं जब अंपायर ने राजेश्वरी गायकवाड़ की पगबाधा की अपील को ठुकरा दिया। वह पगबाधा आउट दिख रही थीं। पाकिस्तान ने 10 ओवर में तीन विकेट पर 61 रन बनाये। निदा ने पारी को कुछ लय प्रदान की, उन्होंने डी हेमलता पर एक चौका और एक छक्का जड़ा जिससे इस ओवर में 15 रन बने। दीप्ति के अलावा पूजा वस्त्राकर ने दो और रेणुका सिंह ने एक विकेट लिया। भारतीय क्षेत्ररक्षण भी कई मौकों पर लचर रहा जिसमें स्थानापन्न शेफाली वर्मा ने स्टंपिंग का आसान मौका भी गंवाया।

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।