When Harbhajan Singh and Mohammad Yousuf were ready to fight with knife and forks in hand during 2003 Cricket World Cup Pakistan vs India Match - ICC CWC 2019; IND vs PAK: जब हाथ में छुरी-कांटा लेकर भिड़ गए थे भज्जी और यूसुफ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ICC CWC 2019; IND vs PAK: जब हाथ में छुरी-कांटा लेकर भिड़ गए थे भज्जी और यूसुफ

हरभजन सिंह ने दक्षिण अफ्रीका में साल 2003 में खेले गए विश्व कप के दौरान पाकिस्तानी बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ के साथ हुई अपनी लड़ाई के बारे में दिलचस्प किस्सा शेयर किया। पढ़ें...

harbhajan singh jpg

हरभजन सिंह ने दक्षिण अफ्रीका में साल 2003 में खेले गए विश्व कप के दौरान पाकिस्तानी बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ के साथ हुई अपनी लड़ाई के बारे में दिलचस्प किस्सा शेयर किया। हरभजन ने उस वाकये को याद करते हुए कहा कि अब इस घटना के बारे में सोचकर उन्हें हंसी आती है, जिसके लिए दोनों टीमों के सीनियर खिलाड़ियों को बीच-बचाव के लिए सामने आना पड़ा था। भारत और पाकिस्तान के बीच मैच हमेशा तनावपूर्ण होते हैं। हरभजन और यूसुफ के बीच की यह घटना भी साल 2003 में भारत और पाकिस्तान बीच खेले गए विश्व कप मैच के दौरान घटी थी।

मोहम्मद यूसुफ ने हरभजन सिंह पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी 
मोहम्मद यूसुफ ने हरभजन सिंह को लेकर कुछ निजी टिप्पणियां की और फिर उनके धर्म के बारे में भी कुछ बातें बोलीं। इसके बाद दोनों अपने हाथों में कांटे लेकर एक दूसरे से भिड़ गए थे। हरभजन ने इस घटना पर हंसते हुए कहा कि ऐसा 16 साल पहले सेंचुरियन में हुआ था। लेकिन साथ ही उन्होंने स्वीकार किया कि उस समय यह लड़ाई इतनी बढ़ गई थी कि बीच-बचाव के लिए वसीम अकरम, राहुल द्रविड़ और जवागल श्रीनाथ को हस्तक्षेप करना पड़ा था। यह मैच हमेशा सचिन तेंदुलकर की 98 रन की पारी और शोएब अख्तर की गेंद पर अपर कट शॉट के जरिए लगाए गए छक्के के लिए याद किया जाता है।

ICC CRICKET WORLD CUP 2019 की सम्पूर्ण कवरेज के लिए इस LINK पर CLICK करें

हाथ में छुरी-कांटें लेकर भिड़ गए थे हरभजन और मोहम्मद यूसुफ    
हरभजन ने पीटीआई से बातचीत में कहा, 'यह सब एक चुटकुले से शुरू हुआ, लेकिन बाद में यह झगड़े में तब्दील हो गया। मुझे उस मैच के लिए अंतिम एकादश में नहीं चुना गया था और अनिल भाई (कुंबले) उसमें खेल रहे थे। क्योंकि टीम प्रबंधन को लगा कि पाकिस्तान के खिलाफ उनके अच्छे रिकॉर्ड को देखते हुए वह बेहतर विकल्प थे। मैं थोड़ा निराश था और जब आप अंतिम एकादश में नहीं होते तो ऐसा हो सकता है। लंच के समय मैं एक टेबल पर बैठा था और यूसफु व शोएब अख्तर दूसरी टेबल पर बैठे थे। हम दोनों पंजाबी में एक दूसरे की खिंचाई कर रहे थे, तब अचानक उसने (यूसुफ ने) निजी टिप्पणी कर दी और फिर मेरे धर्म के बारे में कुछ बोला।'

READ ALSO: ICC WC 2019: भारत के खिलाफ मैच से पहले पाक क्रिकेटरों के साथ जुड़ी उनकी फैमिली, भड़क उठे मोहम्मद यूसुफ

वसीम अकरम और राहुल द्रविड़ को करवानी पड़ी थी दोनों में सुलह    
हरभजन ने हंसते हुए कहा, 'फिर मैंने भी तुरंत ऐसा ही करारा जवाब दिया। इससे पहले कि कोई समझ पाता, हम दोनों के हाथ में छुरी-कांटे थे और हम अपनी कुर्सी से उठकर एक दूसरे पर वार करने के लिए तैयार थे। लेकिन तब यह घटना इतनी हास्यास्पद नहीं लग रही थी। राहुल द्रविड़ और जवागल श्रीनाथ ने मुझे रोका जबकि वसीम भाई और सईद भाई ने यूसुफ को रोका। दोनों टीमों के सीनियर खिलाड़ी नाराज थे और हमें कहा गया कि यह सही व्यवहार नहीं था। इस घटना को अब 16 साल हो गए हैं। अब जब मैं यूसुफ से मिलता हूं तो हम दोनों इस घटना को याद कर हसंते हैं।'

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustan पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:When Harbhajan Singh and Mohammad Yousuf were ready to fight with knife and forks in hand during 2003 Cricket World Cup Pakistan vs India Match