फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट'पाकिस्तान से नहीं हारना', कपिल देव ने भारत बनाम पाकिस्तान मैच के दबाव को लेकर क्या कहा

'पाकिस्तान से नहीं हारना', कपिल देव ने भारत बनाम पाकिस्तान मैच के दबाव को लेकर क्या कहा

कपिल देव से जब पूछा गया कि क्या भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर 'बहुत अधिक दबाव' है, तो उन्होंने खेल के एक अलग पहलू पर प्रकाश डाला और बताया कि ऐसे खेलों में दबाव वास्तव में कहां से आता है।

'पाकिस्तान से नहीं हारना', कपिल देव ने भारत बनाम पाकिस्तान मैच के दबाव को लेकर क्या कहा
Lokesh Kheraलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 31 Jul 2023 05:29 PM
ऐप पर पढ़ें

राजनेतिक मसलों की वजह से भारत और पाकिस्तान के बीच लंबे समय से द्वीपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। ऐसे में जब दोनों टीमें बहुराष्ट्रीय टूर्नामेंट में एक दूसरे से भिड़ती है तो मुकाबला जीतने का दबाव दोनों पर ही होता है। इस साल एशिया कप और वर्ल्ड कप 2023 में भारत और पाकिस्तान के बीच कई मैच खेले जाएंगे, ऐसे में फैंस का मनोरंजन तो होगा ही, मगर मैच जीतने का दबाव दोनों टीमों पर होगा। इस दबाव के मुद्दे पर हाल ही में भारत के वर्ल्ड कप विजेता कप्तान कपिल देव ने अपनी राय रखी है।

आकाश चोपड़ा क्यों नहीं चाहते कि रोहित शर्मा और विराट कोहली करें 3rd ODI में वापसी?

कपिल देव से जब पूछा गया कि क्या भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर 'बहुत अधिक दबाव' है, तो उन्होंने खेल के एक अलग पहलू पर प्रकाश डाला और बताया कि ऐसे खेलों में दबाव वास्तव में कहां से आता है।

द वीक को दिए इंटरव्यू में कपिल देव ने कहा 'दबाव क्या है? जब आप गेंद का सामना कर रहे हों तो दबाव नहीं आता। यह तब बढ़ना शुरू हो जाता है जब आपका वेटर आपको कॉफ़ी देता है और कहता है, 'पाकिस्तान से नहीं हारना'। तो ऐसे दबाव बनता है।'

भारत बनाम पाकिस्तान वर्ल्ड कप मैच की बदली तारीख? जानें किस दिन होगा मैच

इसके अलावा जब उनसे यह पूछा गया कि उनकी पीढ़ी के किसी पाकिस्तानी क्रिकेटर के साथ उनकी अभी भी दोस्त है तो उन्होंने कहा कि आजकल किसी के पास समय नहीं है।

1983 वर्ल्ड कप विजेता कप्तान ने कहा 'मैं अपनी टीम के सदस्यों से नहीं मिलता क्योंकि मैं अपना काम कर रहा हूं। मैं आपसे एक समान प्रश्न पूछूंगा - क्या आप अपने सभी स्कूल दोस्तों के संपर्क में हैं? क्योंकि हम दूर हो गए हैं या हमारी अपनी जिंदगी है। कैसे कर सकते हैं मैं इमरान खान से मिलता हूं? वह प्रधानमंत्री थे।'

उन्होंने साथ ही कहा 'वह (इमरान खान) एक अलग दौर में चले गए हैं। मैं उनसे मिलना चाहूंगा, लेकिन क्या उनके पास इतना खाली समय है? इतने सारे लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पढ़ाई की है या उनके साथ समय बिताया है। क्या उनके पास सभी के लिए समय है? नहीं।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें