फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटIPL 2024 Playoffs के लिए क्यों क्वॉलिफाई नहीं कर पाई गुजरात टाइटन्स? शुभमन गिल ने बताई पर्दे के पीछे की सच्चाई

IPL 2024 Playoffs के लिए क्यों क्वॉलिफाई नहीं कर पाई गुजरात टाइटन्स? शुभमन गिल ने बताई पर्दे के पीछे की सच्चाई

IPL 2024 Playoffs के लिए गुजरात टाइटन्स क्वॉलिफाई क्यों नहीं कर पाई? इसके पीछे के तीन अहम कारण कप्तान शुभमन गिल ने बताए हैं। उन्होंने फील्डिंग, खिलाड़ियों का चोटिल होना और मिस करना कारण माना है।

IPL 2024 Playoffs के लिए क्यों क्वॉलिफाई नहीं कर पाई गुजरात टाइटन्स? शुभमन गिल ने बताई पर्दे के पीछे की सच्चाई
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 16 May 2024 02:59 PM
ऐप पर पढ़ें

आईपीएल 2022 की विजेता और आईपीएल 2023 की उपविजेता टीम गुजरात टाइटन्स आईपीएल 2024 के प्लेऑफ की रेस से बाहर हो चुकी है। गुरुवार 16 मई को गुजरात टाइटन्स अपना आखिरी लीग मैच इस सीजन का खेलने वाली है, लेकिन इससे पहले टीम के कप्तान शुभमन गिल ने बताया है कि इस सीजन टीम ने इतना खराब प्रदर्शन क्यों किया। कप्तान गिल का मानना है कि मुख्य खिलाड़ियों को बाहर हो जाना, करीबी मैच हारना और फील्डिंग में खराब प्रदर्शन टीम पर भारी पड़ गया।  

हार्दिक पांड्या ने दो सीजन टीम की कप्तानी की थी और दोनों बार टीम फाइनल में पहुंची थी। वे इस सीजन मुंबई इंडियंस चले गए और मोहम्मद शमी चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गए। युवा विकेटकीपर रोबिन मिंज बाइक एक्सीडेंट से रिकवर नहीं हो सके। राशिद खान भी चोट के बाद आईपीएल 2024 में लौटे और अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। डेविड मिलर और ऋद्धिमान साहा भी चोट के कारण आईपीएल 2024 के कई मैच नहीं खेल सके। इससे टीम का कॉम्बिनेशन बिगड़ा और टीम अच्छा प्रदर्शन इस सीजन नहीं कर सकी।  

RCB vs CSK: 18 मई को आग उगलता है विराट कोहली का बैट, क्या रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की जीत है पक्की?

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ आखिरी लीग मैच से एक दिन पहले शुभमन गिल ने बताया, "इस सीजन में हम थोड़े ऊपर-नीचे रहे हैं। इस तरह के बड़े सीजन में एक टीम और प्रदर्शन करने वाली इकाई के रूप में संतुलित होना महत्वपूर्ण है, जो हम इस सीजन में करने में सक्षम नहीं थे। यह कभी आसान नहीं होता। हमारे कुछ प्रमुख खिलाड़ी सीजन से पहले घायल हो गए थे और सीजन में भी हमें कुछ चोटें लगी थीं। यह कभी भी आसान नहीं होता जब आपको बीच-बीच में चोटें लगी हों और हमारी टीम ऐसी थी कि कुछ खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण हमें बीच-बीच में अपना टीम संयोजन पूरी तरह से बदलना पड़ा और फिर आने वाले कुछ खिलाड़ियों के लिए सीधे प्रदर्शन कर पाना आसान नहीं था।"

उन्होंने आगे कहा, "इसके अलावा मुझे लगता है कि यह सिर्फ एक मैच की बात है... एक मैच इधर-उधर। वह मैच जो हम दिल्ली से एक रन से हार गए थे। इस तरह का मैच किसी भी तरफ जा सकता है, मुझे लगता है कि पहले कुछ वर्षों में हमारे कई ऐसे मैच हमारे पक्ष में गए। आखिरकार, जीत और हार, अंतर इतना करीब है कि किसी क्षण या किसी विशेष क्षेत्र को पहचानना या इंगित करना मुश्किल है, लेकिन मुझे लगता है कि सामूहिक रूप से एक फील्डिंग यूनिट के रूप में हमने कुछ महत्वपूर्ण क्षणों में खुद को निराश किया है।"  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें