DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: विजेता को नहीं दी जाती है क्रिकेट विश्व कप की असली ट्रॉफी

कई लोगों के मन में विश्व कप ट्रॉफी को लेकर काफी उत्सुकता रहती है कि आखिर इसे कैसे बनाया जाता है? आइए जानते हैं...

icc world cup trophy jpg

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड की संयुक्त मेजबानी में आगामी 30 मई से 13वें क्रिकेट विश्व कप का आगाज हो रहा है। इस टूर्नामेंट में भारत सहित दुनिया की शीर्ष 10 टीमें हिस्सा लेंगी। सभी 10 देशों ने अपनी विश्व कप टीम घोषित कर दी है और खिलाड़ी अभ्यास में जुट गए हैं। हर टीम की कोशिश होगी कि वह विश्व कप की ट्रॉफी उठाए। विश्व कप का फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को लंदन के ऐतिहासिक लॉडर्स मैदान पर खेला जाएगा। लेकिन विजेता टीम को विश्व कप की असली ट्रॉफी नहीं बल्कि उसका नकल दिया जाता है। ऐसा पहली बार नहीं होगा बल्कि हर बार होता आया है। दरअसल विश्व कप की ओरिजनल ट्रॉफी इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) अपने पास संभालकर रखता है। 

वर्ष 1999 के के बाद से नहीं बदला ट्रॉफी का स्वरूप
क्रिकेट विश्व कप का आयोजन साल 1975 से किया जा रहा है। शुरूआती तीन विश्व कप (1975,1979,1983) में विजेता टीम को एक ही तरह की ट्रॉफी दी गई। दरअसल, इन तीनों ही विश्व कप में टूर्नामेंट का मुख्य स्पॉन्सर प्रूडेंशियल पीएलसी था जिस वजह से ट्रॉफी का डिजाइन नहीं बदला। लेकिन तीन विश्व कप के बाद जब स्पॉन्सर बदले तो ट्रॉफी के डिजाइन में भी बदलाव आता गया। विश्व कप ट्रॉफी को लेकर यह सिलसिला 1999 तक रहा। उसी साल आईसीसी ने निर्णय लिया कि अब विजेता टीम को वह अपनी ट्रॉफी देगी। आईसीसी ने 1999 विश्व कप में पहली बार विजेता टीम को अपनी ट्रॉफी दी और तब से यह चलन जारी है।

READ ALSO: विश्व कप में बन सकते हैं पारी में 500 रन, ईसीबी ने बदला फैंस स्कोरकार्ड

ओरिजनल ट्रॉफी को गैरार्ड एंड कंपनी ने तैयार किया है
इस ट्रॉफी को लंदन में गैरार्ड एंड कंपनी (क्राउन ज्वेलर्स) के कारीगरों की एक टीम द्वारा डिजाइन किया गया था। ट्रॉफी बनाने की पूरी प्रक्रिया 2 महीने की अवधि में पूरी की गई थी। वर्तमान विश्व कप ट्रॉफी सोने और चांदी से बनी है। एक सोने की गेंद तीन चांदी के कॉलम्स के उपर रखी होती है। इस ट्रॉफी का वजन करीब 11 किलो है। ट्रॉफी की उंचाई 60 सेंटीमीटर है। कुछ वक्त पहले आईसीसी ने अपने यूट्यूब चैनल पर ट्रॉफी के बनने की प्रक्रिया का वीडियो अपलोड किया था जो काफी दिलचस्प है। ट्रॉफी बनाने वालों का कहना है कि यह बेहद खास है क्योंकि इस बार ट्रॉफी उनकी ही सरजमीं इंग्लैंड में दी जाएगी। कई लोगों के मन में विश्व कप ट्रॉफी को लेकर काफी उत्सुकता रहती है कि आखिर इसे कैसे बनाया जाता है? 

जानिए कैसे बनाई जाती है विश्व कप ट्रॉफी की नकल
क्रिकेट विश्व कप ट्रॉफी को कई लोगों की एक टीम मिलकर तैयार करती है। ट्रॉफी का हर हिस्सा कारीगर हाथ से बनाते हैं। पहले कारीगर ट्रॉफी का डिजाइन तैयार करते हैं। फिर तैयार डिजाइन को कंप्यूटर से स्कैन कर सॉलिड स्ट्रक्चर इमेज तैयार करते हैं। इसके बाद ट्रॉफी के हर पार्ट को बेहद सलीके से बनाते हैं। अगर किसी पार्ट में स्क्रैच भी आ जाता है तो उसे दोबारा बनाया जाता है। ट्रॉफी के सारे पार्ट्स बनने के बाद किसी अनुभवी नक्काश को नक्काशी का काम सौंपा जाता है। यह नक्काश तकरीबन 200 साल पुराने टूल्स से ट्रॉफी पर हाथ से नक्काशी करता है। ट्रॉफी के बेस पर पूर्व विजेता टीमों के नाम भी उकेरे जाते हैं। ट्रॉफी में सबसे खास बात यह है कि इसमें वो सारे उपकरण उपयोग होते हैं जो क्रिकेट खेलने में इस्तेमाल होता है।

READ ALSO: आईसीसी के "No Ball" ट्वीट पर सचिन तेंदुलकर ने दिया मजेदार जवाब

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustan पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Watch Video how ICC World Cup Trophy been crafted for each time