फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटपाकिस्तान क्रिकेट के 'सिस्टम' पर बरसे वसीम अकरम, बोले- बाबर आजम को बलि का बकरा... 

पाकिस्तान क्रिकेट के 'सिस्टम' पर बरसे वसीम अकरम, बोले- बाबर आजम को बलि का बकरा... 

पाकिस्तान क्रिकेट के 'सिस्टम' पर वसीम अकरम बरस पड़़े। वर्ल्ड कप 2023 में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद उन्होंने कहा है कि बाबर आजम को बलि का बकरा नहीं बना सके। बाबर ही इसके लिए दोषी नहीं हैं।  

पाकिस्तान क्रिकेट के 'सिस्टम' पर बरसे वसीम अकरम, बोले- बाबर आजम को बलि का बकरा... 
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 12 Nov 2023 10:29 AM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के लिए कुदरत का निजाम नहीं चल सका। पाकिस्तान की टीम को इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप 2023 के अपने आखिरी लीग मैच में करिश्माई जीत चाहिए थी, लेकिन टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा। इसी के साथ 12 साल के बाद फिर से पाकिस्तान की टीम सेमीफाइनल के लिए क्वॉलिफाई नहीं कर पाई। इससे कप्तान बाबर आजम की आलोचना हो रही है, क्योंकि उनका बल्ला नहीं चला और कप्तानी भी अच्छी नहीं थी। इस पर पूर्व पेसर वसीम अकरम ने कहा कि सिर्फ कप्तान का दोष नहीं है, पूरी टीम ही टूर्नामेंट में अच्छा नहीं खेल सकी।  

जैसे ही पाकिस्तान को वर्ल्ड कप 2023 में पांचवीं हार मिली तो हर कोई कप्तान समेत टीम की आलोचना करने लगा। यहां तक कि पाकिस्तान के कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने तो बाबर आजम से कप्तानी छीनने की बात कही है। बाबर आजम की दोहरी आलोचना इसलिए हो रही है, क्योंकि उन्होंने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन नहीं किया और कप्तानी में कई गलतियां कीं। हालांकि, महान खिलाड़ी वसीम अकरम ने ए स्पोर्ट्स पर अपनी बातचीत के दौरान बाबर के आलोचकों को आड़े हाथों लिया और भारत में विश्व कप के निराशाजनक प्रदर्शन के लिए पाकिस्तान क्रिकेट सिस्टम को जिम्मेदार ठहराया।
 
उन्होंने कहा, "अकेले कप्तान मैच नहीं खेल रहा है। हां, उन्होंने इस विश्व कप और एशिया कप में भी कप्तानी में गलतियां कीं, लेकिन वह अकेले दोषी नहीं हैं। यह पिछले एक साल या उससे अधिक समय से पूरे सिस्टम की गलती है, जहां खिलाड़ियों को नहीं पता कि कोच कौन है। आप उसे यहां बलि का बकरा नहीं बना सकते।" हालांकि, अकरम ने स्वीकार किया कि कप्तानी के दबाव ने बाबर की बल्लेबाजी को प्रभावित किया है और इस विश्व कप संस्करण में उनका औसत केवल 40 का रहा, जहां उन्होंने वनडे में अपनी विश्व की नंबर 1 आईसीसी बल्लेबाजी रैंकिंग भी खो दी।

वसीम बोले, "बाबर आजम एक स्टार खिलाड़ी है और जब वह रन बनाता है तो पूरा देश खुश और गौरवान्वित हो जाता है, लेकिन कप्तानी ने बाबर के प्रदर्शन पर दबाव बना दिया है। विश्व कप और एशिया कप दोनों में वह वास्तव में स्ट्रेस में दिख रहे थे। इसलिए उसे यह सीखने की जरूरत है कि दबाव को कैसे संभालना है और केवल एक बल्लेबाज के रूप में सोचना है और जब वह क्रीज पर है तो रन कैसे बनाना है। यह कहना आसान है, लेकिन करना आसान नहीं है।" पूर्व कप्तान और कोच मिस्बाह उल हक ने कहा कि बाबर आजम भारत की परिस्थितियों में फेल रहे। 

गोल्डन बैट की रेस में विराट कोहली के पास नंबर-1 बनने का मौका, सचिन का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी निशाने पर

उन्होंने कहा, "बाबर के फैन के रूप में, हमें उम्मीद थी कि वह शीर्ष तीन रन बनाने वालों में से एक होंगे, लेकिन भारतीय परिस्थितियों में वह असफल रहे। संसाधनों (प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों) के मामले में भी वह अच्छे नहीं दिखे।  अगर तेज गेंदबाज और स्पिनर प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं तो इसके लिए केवल बाबर दोषी नहीं हैं, लेकिन जब नेतृत्व की बात आती है, तो हर किसी को दोष लेना पड़ता है, चाहे वह टीम प्रबंधन, चयनकर्ता, कोच और बाबर हों। ऐसा इसलिए है क्योंकि ये संसाधन उनके द्वारा चुने गए थे और आपने इन खराब फॉर्म वाले खिलाड़ियों का समर्थन किया था।"