फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटवीरेंद्र सहवाग ने सुनाया 19 साल पुराना किस्सा- वर्ल्ड कप मैच में शाहिद अफरीदी लगातार सचिन तेंदुलकर को गाली दे रहा था

वीरेंद्र सहवाग ने सुनाया 19 साल पुराना किस्सा- वर्ल्ड कप मैच में शाहिद अफरीदी लगातार सचिन तेंदुलकर को गाली दे रहा था

2003 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान और भारत के बीच मैच का एक किस्सा वीरेंद्र सहवाग ने 19 साल बाद शेयर किया है। सहवाग ने बताया कि जब वह सचिन तेंदुलकर के रनर बनकर आए, तब अफरीदी उन्हें लगातार गाली दे रहे थे।

वीरेंद्र सहवाग ने सुनाया 19 साल पुराना किस्सा- वर्ल्ड कप मैच में शाहिद अफरीदी लगातार सचिन तेंदुलकर को गाली दे रहा था
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 19 Aug 2022 05:40 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

आईसीसी वर्ल्ड कप में टीम इंडिया आजतक कभी पाकिस्तान से हारी नहीं है। टी20 वर्ल्ड कप में हालांकि टीम इंडिया को एक बार हार का सामना करना पड़ा है। इस साल भारत और पाकिस्तान के बीच कम से कम दो मैच तो देखने को मिलेंगे ही। एक एशिया कप के दौरान और दूसरा टी20 वर्ल्ड कप में। इसी महीने की 28 तारीख को भारत और पाकिस्तान के बीच एशिया कप का मैच खेला जाना है। भारत और पाकिस्तान के बीच मैच हमेशा ही हाई वोल्टेज होता है और ऐसे ही एक मैच का किस्सा पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने सुनाया है। सहवाग ने 2003 वर्ल्ड कप के 19 साल बाद इस बात का खुलासा किया कि जब वह सचिन तेंदुलकर का रनर बनकर आए थे, तब शाहिद अफरीदी लगातार उन्हें गाली दे रहे थे।

सचिन ने उस मैच में 98 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेलकर टीम इंडिया को जबर्दस्त जीत दिलाई थी। सचिन ने महज 75 गेंदों पर 12 चौके और एक छक्का लगाया था। सहवाग उस मैच में 14 गेंद पर 21 रन बनाकर आउट हो गए थे, लेकिन सचिन के रनर के तौर पर एक बार फिर क्रीज पर उतरे थे। स्टार स्पोर्ट्स के एक वीडियो में वीरेंद्र सहवाग ने कहा, 'हम जानते थे कि वह बहुत अहम मैच है, लेकिन सचिन तेंदुलकर काफी अनुभवी खिलाड़ी थे और पाकिस्तान के खिलाफ कई मैच खेल चुके थे। उन्हें पता था कि उन्हें इसके लिए तैयार रहना है।'

इसे भी पढ़ेंः धवन को जिम्बाब्वे में मिली 'लव बाइट'! फोटो शेयर कर फैंस से पूछा सवाल

'वह तेंदुलकर की बेस्ट वर्ल्ड कप पारी थी'

सहवाग ने आगे कहा, 'अगर मैं उनकी वर्ल्ड कप पारियों की बात करूं तो यह बेस्ट पारी थी। मुझे मैच के दौरान उनका रनर बनकर मैदान पर उतरना पड़ा था क्योंकि उन्हें क्रैम्प्स हो रखे थे और अफरीदी उन्हें लगातार गाली दे रहा था। वह कुछ ना कुछ कहा ही जा रहा था। लेकिन वह फोकस बनाए रखे थे, उन्हें पता था कि क्रीज पर उनका टिके रहना जरूरी था। वह नॉर्मली रनर नहीं लेते थे, लेकिन उन्हें पता था कि अगर मैं रनर के तौर पर आया, तो उनकी तरह ही दौड़ूंगा। कोई भी कन्फ्यूजन नहीं होगा।'

इसे भी पढ़ेंः शोएब अख्तर का खुलासा- 1999 में गांगुली को जानबूझ कर चोटिल किया गया था

'अख्तर को तेंदुलकर ने दिया था करारा जवाब'

उन्होंने आगे बताया, 'इससे फर्क नहीं पड़ता कि भारत और पाकिस्तान के बीच मैच आईसीसी टूर्नामेंट का हो या फिर द्विपक्षीय सीरीज का, यह हमेशा तनावपूर्ण होता है। और इस दौरान हमें दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच कुछ ना कुछ देखने को मिलता है। उस समय शोएब अख्तर का एक बयान आया था कि मैं टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर को तहस-नहस कर दूंगा, लेकिन ना मैंने और ना सचिन ने वह बयान देखा था। लेकिन सचिन ने पहले ही ओवर में इसका करारा जवाब दिया था। उन्होंने उस ओवर में 18 रन ठोके थे।'

भारत ने ऐसे दर्ज की थी जीत

उस मैच की बात करें तो सईद अनवर की सेंचुरी के दम पर पाकिस्तान ने 50 ओवर में सात विकेट पर 273 रन बनाए थे। भारत ने 53 रनों तक दो विकेट गंवा दिए थे। लेकिन इसके बाद मोहम्मद कैफ, राहुल द्रविड़ और युवराज सिंह ने मिलकर टीम इंडिया को जीत दिला दी। भारत ने 45.4 ओवर में चार विकेट गंवाकर 276 रन बनाकर मैच अपने नाम कर लिया था।

epaper