DA Image
24 जनवरी, 2020|8:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Day-Night Test Match: विराट कोहली इस शर्त के साथ ऑस्ट्रेलिया में डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए तैयार

विराट ने इस टेस्ट से पहले कहा कि वो अगले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्होंने इसके लिए एक शर्त भी रखी है।

virat kohli

भारत और बांग्लादेश के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज जारी है। सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर 22 नवंबर से खेला जाना है। इस टेस्ट मैच को लेकर तमाम चर्चा हो रही है, क्योंकि ये पहला मौका है जब इन दोनों टीमों को डे-नाइट टेस्ट मैच खेलना है और भारत पहली बार डे-नाइट टेस्ट की मेजबानी कर रहा है। विराट ने इस टेस्ट से पहले कहा कि वो अगले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्होंने इसके लिए एक शर्त भी रखी है।

भारतीय टीम ने 2017-18 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था। अब यहां शुक्रवार से बांग्लादेश के खिलाफ वो पहला डे-नाइट टेस्ट खेलने जा रहे हैं। ये पूछने पर कि क्या अगले साल के दौरे पर वो ऑस्ट्रेलिया में डे-नाइट टेस्ट खेलेंगे, कोहली ने हां में जवाब दिया लेकिन कहा कि उनकी एक शर्त है। उन्होंने कहा, 'जब भी ये होगा, इससे पहले एक प्रैक्टिस मैच रखना होगा।' उन्होंने कहा कि भारतीय टीम ने 2017-18 में एडीलेड में डे-नाइट टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था क्योंकि टीम को अनुकूलन के लिए प्रैक्टिस मैच नहीं मिला था।

आईपीएल 2020 में आठ नहीं नौ फ्रेंचाइजी टीम ले सकती हैं हिस्सा, जानिए कितने मैच खेले जाएंगे

INDvBAN Day-Night Test: बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बताया क्या कुछ होगा खास

उन्होंने कहा, 'हम पिंक बॉल से क्रिकेट खेलना चाहते थे। अब ऐसा हो रहा है। एक बड़े दौरे पर अचानक ये नहीं हो सकता कि हम पिंक बॉल से खेले बिना ही टेस्ट खेलने को तैयार हो जाएं। हमने पिंक बॉल से कोई फर्स्ट क्लास मैच भी नहीं खेला था।' ये पूछने पर कि उनका इरादा कैसे बदला, उन्होंने कहा कि वो इसलिए तैयार हुए क्योंकि लंबे समय से बातचीत चल रही थी और उन्हें अचानक नहीं बताया गया। कोहली ने कहा, 'आप दो दिन पहले अचानक नहीं कह सकते कि पिंक बॉल से खेलना है। इसके लिए तैयारी चाहिए होती है। एक बार आदत बन जाने पर कोई दिक्कत नहीं है।'

'ओस की भूमिका अहम होगी'

उन्होंने कहा, 'हम अपने देश में पिंक बॉल से टेस्ट खेल रहे हैं। देखना होगा कि ये कैसा रहता है। इसके बाद हम बाहर किसी अहम टेस्ट सीरीज में इससे खेल सकते हैं।' ओस की भूमिका के बारे में उन्होंने कहा, 'देर वाले सेशन में ओस की भूमिका होगी। हम उस समय देखेंगे कि कैसे निपटना है। भारत में और दूसरे देश में डे-नाइट टेस्ट खेलने में यही फर्क है। इसके अलावा कोई फर्क नहीं दिखता। इसमें हमें फैसले अधिक सटीक लेने होंगे और कहीं कोई कोताही की गुंजाइश नहीं होगी।'

'2016 टी20 विश्व कप में दिखा था ऐसा हाइप'

कोलकाता में पिंक बॉल वाले टेस्ट को लेकर बनी हाइप की तुलना उन्होंने टी20 विश्व कप 2016 में भारत पाकिस्तान मैच से की। उन्होंने कहा, 'आखिरी बार इतना उत्साह तभी देखने को मिला था। सभी बड़े सितारे आए थे और उन्हें सम्मानित किया गया था। स्टेडियम खचाखच भरा था। अभी भी ऐसा ही माहौल है।'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Virat kohli ne kaha ki australia mein day-night test khelne se parhej nahi lekin rakhi ek shart