फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटअब विराट कोहली का डीपफेक वीडियो हुआ वायरल, सचिन तेंदुलकर भी हो चुके हैं शिकार

अब विराट कोहली का डीपफेक वीडियो हुआ वायरल, सचिन तेंदुलकर भी हो चुके हैं शिकार

स्टार क्रिकेटर विराट कोहली का डीपफेक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में कोहली को एक सट्टेबाजी ऐप को प्रमोट करते हुए दिखाया गया है। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी डीपफेक का शिकार हो चुके हैं।

अब विराट कोहली का डीपफेक वीडियो हुआ वायरल, सचिन तेंदुलकर भी हो चुके हैं शिकार
Md.akram लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 20 Feb 2024 08:51 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली का इन दिनों एक डीपफेक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में कोहली को एक सट्टेबाजी ऐप का विज्ञापन करते हुए दिखा गया है। साथ ही झूठा दावा किया गया है कि कोहली को ऐप से काफी फायदा मिल रहा है। यह नकली वीडियो एआई टेक्नोलॉजी की मदद से बनाया गया है। अब तक कई नामचीन हस्तियां डीपफेक का शिकार हो चुकी हैं। इस लिस्ट में महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से लेकर एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना तक नाम शामिल है।

कोहली के वीडियो को ओरिजनल दिखाने के लिए एक टीवी एंकर को भी जोड़ा गया है। इससे यह जाहिर करने की कोशिश की गई कि कोहली ने न्यूज प्रोग्राम में सट्टेबाजी ऐप को लेकर बात की है। वीडियो में बताया जाता है कि कोहली ने सिर्फ तीन दिनों के अंदर एक हजार से 81 हजार रुपये कई कमाई की। वहीं, कोहली से हिंदी में बुलवाया जाता है कि आपकी दो हजार परसेंट जीत पक्की है। आप भी निवेश कर सकते हैं। इसमें आप कम पैसे खर्च करके ज्यादा से ज्यादा कमाई कर सकते हैं। कोहली का हिंदी के अलावा इंग्लिश में भी फर्जी वीडियो बना गया है।

बता दें कि डीपफेक एक टेक्नोलॉजी है, जिसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) की सहायता से बनाया गया है। डीपफेक वीडियो बनाने के लिए एआई का गलत इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें चेहरे से लेकर आवाज तक बदली जा सकती है। डीपफेक कई बार असली से इतना मिलता-जुलता होता है कि फर्जी को पहचानना कठिन हो जाता है।

सचिन ने 15 जनवरी 2024 को सोशल मीडिया पर अपने डीपफेक वीडियो को लेकर लोगों को खबरदार किया था। वीडियो में सचिन को कहते हुए दिखाया गया कि उनकी बेटी सारा पैसे कमाने के लिए एक ऐप पर गेम खेलती हैं। सचिन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'एक्स' पर फर्जी के वीडियो में बारे में लिखा, ''ये वीडियो नकली है और आपको धोखा देने के लिए बनाया गया है। टेक्नोलॉजी का इस प्रकार का दुरुपयोग बिल्कुल गलत है। आप सब से विनती है के ऐसे वीडियो या ऐप या विज्ञापन आपको अगर नजर आए तो उन्हें तुरंत रिपोर्ट करें। सोशल मीडिया प्लेटफार्मों को भी सावधान रहना चाहिए और इनके खिलाफ की गई शिकायत पर जल्द से जल्द एक्शन लेना चाहिए। उनकी भूमिका इस बारे में बहुत जरूरी है ताकि गलत सूचना और खबरों को रोका जा सके और डीपफेक का दुरुपयोग खत्म हो।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें