Umesh yadav want to do best performance to stay in the team india vs australia - INDvAUS: टीम में बने रहने के लिए यह काम करना चाहते हैं उमेश और शमी 1 DA Image
14 दिसंबर, 2019|8:14|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

INDvAUS: टीम में बने रहने के लिए यह काम करना चाहते हैं उमेश और शमी

टीम बने रहने के लिए जरूरी है बेहतर प्रदर्शन
टीम बने रहने के लिए जरूरी है बेहतर प्रदर्शन

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला रविवार को नागपुर में खेला जायेगा। इस मैच से पहले टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कहा कि सीनियर खिलाड़ी होने के कारण भविष्य में टीम में बने रहने के लिए उन्हें और मोहम्मद शमी को अंतिम ओवरों में अच्छी गेंदबाजी करनी होगी।

INDvAUS: रोमांचक होगा 5वां वनडे, इस वजह से तैयार की गयी नई पिच
      
उमेश टेस्ट मैचों में पिछले सत्र के मुकाबले इस सत्र में बेहतर गेंदबाजी कर रहे हैं, लेकिन वह और शमी वनडे मैचों में जगह बनाने में कामयाब नहीं रहे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में उनकी जगह तेज गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार टीम के तरजीह दी गयी।

उमेश ने कहा, बेंगलुर की हार का टीम के मनोबल पर कोई असर नहीं पड़ा है। मुझे लगता है हमने 15-20 रन ज्यादा दे दिया था। शमी और मैं लंबे समय के बाद साथ खेले, लेकिन हम टीम के सीनियर खिलाड़ी हैं, हमें टीम की जरूरत के हिसाब से प्रदर्शन करना होगा। खासकर अंतिम के ओवरों में हमें ज्यादा जिम्मेदारी लेनी होगी। 
      
सीरीज का आखिरी मैच नागपुर में होगा और इस शहर में जन्में उमेश को एक और मौका मिल सकता है। हालांकि बेंगलुर में पिछले मैच में वह खासे महंगे साबित हुये थे। उन्होंने 10 ओवर में 71 रन लुटा कर चार विकेट लिये थे।

अगली स्लाइड में पढ़ें : वनडे से ज्यादा टेस्ट फोर्मेट में खेलना चाहते हैं उमेश

वनडे में प्लानिंग के लिए मिलता है कम वक्त
वनडे में प्लानिंग के लिए मिलता है कम वक्त

टेस्ट मैचों में खेलने की उनकी प्राथमिकता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, मैं वनडे के मुकाबले टेस्ट मैचों में खेलना ज्यादा पसंद करता हूं। वहां योजनाओं को मैदान में उतारने के लिये आपके पास ज्यादा समय होता हैं। पांच दिनों के दौरान आपके पास कई तरह की परिस्थितियां होती हैं और मुझे वह चुनौती पसंद है। इससे आप का आत्मविश्वास बढ़ता है और आप ज्यादा सटीक होते है। टेस्ट में खेल कर मैं ज्यादा खुश हूं।  

INDvAUS: विदेशी जमीन पर इस तरह की जीत हासिल करना चाहते हैं कोहली
     
उन्होंने कहा, वनडे में योजनाओं को उतारने के लिये ज्यादा समय नहीं होता। लेकिन करियर के किसी भी पड़ाव पर मैं यह खुद तय नहीं कर सकता कि किस मैच में खेलूंगा। मेरी सोच यह है कि जिस प्रारूप में भी मुझे मौका मिले उसमें खेलूं।    

ऑस्ट्रेलिया का यह खिलाड़ी बना आईसीसी के नए रूल्स का पहला शिकार

उमेश ने कहा कि किस फोर्मेट में खेलना हैं इसका चयन करने का अधिकार तभी होता जब टीम साल में 15 से 20 टेस्ट मैच खेले। उन्होंने कहा, अगर टेस्ट मैच ज्यादा हो तो आप फोर्मेट का चयन कर सकते हैं। लेकिन आप ये नहीं कह सकते की सिर्फ टेस्ट मैचों में खेलेंगे क्योंकि सत्र के दौरान ऐसा समय भी होता है जब आप ज्यादा मैच नहीं खेलते है। आप खाली समय में क्या करेंगे शरीर को अभ्यास चाहिये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Umesh yadav want to do best performance to stay in the team india vs australia