फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेट2023 वनडे वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया को सुधारनी होंगी ये गलतियां, न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में ये पांच चीजें पड़ी भारी

2023 वनडे वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया को सुधारनी होंगी ये गलतियां, न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में ये पांच चीजें पड़ी भारी

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेली गई तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज का आखिरी मैच बुधवार को बारिश में धुलने के बाद न्यूजीलैंड ने सीरीज 1-0 से जीत ली। 2023 वर्ल्ड कप के लिहाज से भारत की खराब शुरुआत हुई है।

2023 वनडे वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया को सुधारनी होंगी ये गलतियां, न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में ये पांच चीजें पड़ी भारी
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 30 Nov 2022 04:56 PM
ऐप पर पढ़ें

बारिश के कारण बुधवार को तीसरा और अंतिम वनडे रद्द हो गया और भारतीय टीम ने अपने लचर प्रदर्शन से न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज 0-1 से गंवा दी। बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद भारतीय टीम बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण 47.3 ओवर में 219 रन पर सिमट गई। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड ने 18 ओवर में एक विकेट गंवाकर 104 रन बना लिए थे कि बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा। वह डकवर्थ लुईस पद्धति के पार स्कोर के हिसाब से 50 रन से आगे थी।

कप्तान केन विलियमसन की टीम को जीत के लिये 32 ओवर में 116 रन की दरकार थी लेकिन उन्हें 'बिना नतीजे' के संतोष करना पड़ा, क्योंकि मैच को डकवर्थ लुईस पद्धति से तकनीकी रूप से पूरा करने के लिये दो ओवर की दरकार थी। न्यूजीलैंड ने ऑकलैंड में पहले वनडे में सात विकेट से जीत दर्ज की थी, जबकि दूसरा वनडे भी दो बार की बाधा के बाद बारिश की भेंट चढ़ गया था। बारिश के कारण बुधवार को सफेद गेंद सीरीज का एक और मैच रद्द हो गया। इस तरह मेजबान टीम ने सीरीज 1-0 से अपने नाम की। 

इस तरह छह मैचों की सफेद गेंद की श्रृंखला के केवल दो मैचों में ही नतीजा निकला और इससे संबंधित अधिकारियों की खराब योजना की कलई भी खुल गयी। यह सीरीज पड़ोसी देश ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप के एक हफ्ते से भी कम समय बाद आयोजित की गई थी। 

वहीं भारत के लिये इस सीरीज ने उनकी त्रुटिपूर्ण चयन नीति का खुलासा किया। कप्तान शिखर धवन की भारतीय टीम को गैर अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण से भी निराशा झेलनी पड़ी जो विकेट चटकाने के लिए जूझते दिखे। बल्लेबाजों ने भी काफी निराश किया, अगले साल वनडे विश्व भारत में आयोजित होने वाला है, उसे देखते हुए भारत ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत भले ही दोयम दर्जे की टीम के साथ उतरा था, लेकिन इसी सीरीज का हिस्सा रहे कई खिलाड़ी वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा जरूर रहेंगे, ऐसे में उनके प्रदर्शन पर भी सबकी नजरें टिकी थी। यहां हम आपको बताने जा रहे है उन पांच चीजों के बारे में, जिन्हें वनडे विश्व कप से पहले भारत को दुरुस्त करना होगा।

शिखर धवन और केएल राहुल में से कौन बनेगा रोहित का पार्टनर
न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम के कप्तान रहे शिखर धवन की फॉर्म चिंता का विषय है। धवन लगातार कई सीरीज में रोहित की गैरमौजूदगी में वनडे टीम की कप्तानी कर चुके हैं, ऐसे में ये तय माना जा रहा है कि आने वाले मैचों में वह रोहित के साथ पारी की शुरुआत करते नजर आएंगे। हालांकि केएल राहुल दिसंबर में बांग्लादेश के खिलाफ शुरू होने जा रहे दौरे पर वनडे सीरीज में बतौर उपकप्तान टीम का हिस्सा हैं, ऐसे में राहुल भी रोहित के साथ नजर आ सकते हैं। हालांकि टीम के लिए अपना परफेक्ट ओपनिंग जोड़ी को तलाशकर फाइनल करने की चुनौती होगी। गिल ने भी बतौर ओपनर अपनी दावेदारी पेश की है, लेकिन उनको अभी इंतजार करना होगा।

ऋषभ पंत की जगह संजू सैमसन को मिलेगा मौका?
पिछले कुछ समय से ऋषभ पंत अपनी क्षमता के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके हैं और ऐसा माना जा रहा है कि टी20 के बाद वनडे टीम में भी उनकी जगह खतरे में हैं। टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भी पंत को ज्यादा मौके नहीं मिले थे और अब न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 और वनडे सीरीज के दौरान उनका बल्ला शांत रहा है। ऐसे में उनकी जगह संजू सैमसन आगामी मैचों में खेलते हुए नजर आ सकते हैं। संजू का फॉर्म पंत से बेहतर रहा है और वह टीम के लिए एक्स फैक्टर भी बन सकते हैं, जो कभी पंत हुआ करते थे। 

चहल और कुलदीप में से किसे मिलेगा मौका
टी20 वर्ल्ड कप 2022 में एक भी मैच नहीं खेलने वाले युजवेंद्र चहल के लिए वनडे की टीम में बने रहने का रास्ता मुश्किल नजर आ रहा है। टी20 में भले ही चहल अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हों, लेकिन वनडे में उनकी जगह भी खतरे में पड़ सकती है। कुलदीप यादव काफी समय से प्लेइंग इलेवन से बाहर रहे हैं, ऐसे में टीम उनको भी आजमाना चाहेगी। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के दूसरे मैच में चहल काफी महंगे साबित हुए थे, उन्होंने 10 ओवर में 67 रन दे दिए थे और कोई विकेट नहीं मिला था। 

पाकिस्तान के लिए बुरी खबर, स्थगित हो सकता है पहला टेस्ट; वायरस के अटैक से इंग्लैंड के 14 सदस्य हुए बीमार

कमजोर गेंदबाजी आक्रमण
भारतीय का गेंदबाज आक्रमण जसप्रीत बुमराह के बिना काफी कमजोर नजर आ रहा है। अर्शदीप, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर और शार्दुल ठाकुर जैसे गेंदबाज ज्यादा छाप नहीं छोड़ सके हैं। हालांकि बुमराह के आने से टीम की गेंदबाजी मजबूत होगी या नहीं ये तो वक्त ही बताएगा। क्योंकि बुमराह भी काफी लंबे समय बाद वापसी करेंगे। इस वजह से टीम को नए विकल्पों की तलाश करनी होगी, जो ज्यादा खतरनाक साबित हो। उमरान मलिक को टीम अभी ज्यादा मैच नहीं देना चाह रही है, लेकिन सिराज और दीपक चाहर पर काफी दबाव आने वाला है। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत का गेंदबाजी आक्रमण बेहद कमजोर नजर आया है। पहले मैच में टीम 47 ओवर में तीन विकेट ले सकी थी, जबकि तीसरे मैच में 18 ओवर में सिर्फ 1 विकेट झटक सकी थी।

मध्य क्रम करना होगा मजबूत
भारत के लिए इस सीरीज में अच्छी खबर ये है कि श्रेयस अय्यर कमजोरी उजागर होने के बाद बावजूद वह क्रीज पर समय बिता रहे हैं। बाउंसर गेंदों का वह डटकर सामना कर रहे हैं, जोकि हाल के समय में उनकी कमजोरी भी रही है। हालांकि आगे की तैयारियों पर नजर डालें तो भारत को धवन, रोहित और कोहली जैसे स्टार खिलाड़ियों के विकल्प ढूढ़ंने होंगे, क्योंकि ये खिलाड़ी आगामी वनडे वर्ल्ड के बाद अगला वर्ल्ड कप नहीं खेलेंगे। वॉशिंगटन ने भी सीरीज में अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया है। वह बतौर गेंदबाजी ऑलराउंडर टीम के लिए काफी योगदान देने वाले हैं। 

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।